पुलिसवाले देखते रहे, कांवड़िए कार तोड़ते रहे पावर घोटाला : "2.42 में खरीदी, "7.90 में बेची ट्रेंडिंग टॉपिक्स वृश्चिक Read More: Rajasthan Barmer Balotra Siwanaग्रामपंचायतदीनदयाल विद्युतयोजनाकरोड़ खर्च Solve this simple math problem and enter the result. E.g. for 1+3, enter 4. under a CC BY-NC-SA 2.5 IN license. © Copyright NDTV Convergence Limited 2018. All rights reserved. न्यूजलेटर @AamAadmiParty @DrKumarVishwas लुटलो देश की गरीब जनता को मोदी है न आपके साथ। अडानी अम्बानी के हाथों देश बेच देगा मोदी। Terms of Use उन्होंने कहा कि मंथली मिनिमम चार्जेज डीएस 3, एनडीएस 2 एवं एनडीएस 3 उपभोक्ता से मासिक न्यूनतम चार्जेज हटा लिए गए हैं। नेगी ने कहा कि एनडीएस 2 श्रेणी में .5 किलो वाट (आधा किलोवाट) के लिए नए स्लैब का सृजन किया गया है। टमाटर (Tomato) दिल्ली कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन के मुताबिक, बिजली कंपनियों को बिना किसी बहीखाते के सब्सिडी की 1412 करोड़ की रकम केजरीवाल सरकार दे रही है. कांग्रेस ने अपनी मासिक बैठक में तय किया है कि वे जनता के बीच केजरीवाल सरकार की असलियत लेकर जाएगी. पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने भी बिजली की कीमतों पर केजरीवाल सरकार पर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाया है. Sat, 18th August 2018, 10:56 IST दिल्ली को अब विंड एनर्जी से रोशन किया जाएगा। NewsLetter वीडियो गैलरी लघु पथन प्रयोगशाला (एससीडी) सीएचसी चंदनकियारी 2018 ALL RIGHT RESERVED - Pagocha Marketing Private Limited फिर भी, दोनों पक्षों से आपूर्ति काटना बंद हो रहा है, क्योंकि प्रांत ने 'कोई नई बिजली संयंत्र' नीति दोनों घोषित नहीं की है, साथ ही साथ सभी विद्यमान विद्युत संयंत्रों को प्राप्त कर लिया है। लेख के अनुसार: चैस MPROFIT SOFTWARE PRIVATE LIMITED Cookies Policy Offer period 11th - 18th August, 2018 सर्वाधिक खोजे गए जैतापुर प्रोजेक्‍ट को दुनिया का सबसे बड़ा न्‍यूक्लियर कॉन्‍ट्रैक्‍ट माना जा रहा है और यह दुनिया की सबसे बड़ी न्‍यूक्लियर साइट भी है। 10,000 मेगावाट्स के इस प्रोजेक्‍ट में छह रिएक्‍टर्स होंगे, जिनमें प्रत्‍येक की क्षमता 1650 मेगावाट होगी। भारत सरकार ने 2017 तक 17,400 मेगावाट न्‍यूक्लिर पावर जनरेशन का लक्ष्‍य रखा था, जिसमें से वह केवल 30 फीसदी लक्ष्‍य ही हासिल कर पाई है। 'असम समेत 14 राज्यों पर बिजली उत्पादक कंपनियों का करोड़ों बकाया' दुर्गा प्रसाद दे Justice For Noura | Don't execute Noura for self defense against the man who raped her! सीतामढ़ी टेक्नॉलॉजी एक ओर सरकार राज्य में बिजली सस्ती होने का ढिंढोरा पीट रही है तथा दूसरी ओर राज्य बिजली नियामक आयोग ने महंगाई के इस दौर में बिजली की दरों में 9.33 प्रतिशत वृद्धि करके जनता पर अतिरिक्त बोझ डाल दिया है।  गौरीगंज आदेश पर्यावरण मंत्रालय चुप क्यों है ? अपशिष्ट जल नवभारत टाइम्स की ऐप के साथ © 2017-18 Amar Ujala Publications Ltd. कैलेंडर 2018 loancheapinterest ratelowलोनबिलऋणब्याजदरकम उपकेन्द्र स्वचालन प्रणाली प्रयोगशाला 120 Name * Read Also भारतीय संसद सैमसंग गैलेक्सी जे 8 2018 32जीबी (ब्लैक, 4 जीबी रैम) जॉन अब्राहम की बॉडी बनवाई इस शख्स ने 6 पैक्स एब्स के बारे में ये सीक्रेट्स किए शेयर 6 mins हमार॓ साथ काम करें शनि देव की पूजा के ये 4 आसान उपाय खोल देते हैं किस्मत का दरवाजा 43 mins ज्योतिष धर्म 15 अगस्त से जियो गीगा फाइबर का रजिस्ट्रेशन शुरू, ऐसे करें बुकिंग Begusarai Jammu नितिन गडकरी बोले- नौकरी ही नहीं हैं तो आरक्षण का क्या फायदा #रायपुर निविदाएं फोटो क्लिक कर देखें वीडियो।कोटा। शहर में निजी बिजली कंपनी केईडीएल के खिलाफ चल रहा विरोध रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है। इस मामले में बुधवार को भी बड़ी संख्या में महिलाओं ने केईडीएल के खिलाफ प्रदर्शन किया। इसमें महिलाओं ने बिजली कंपनी के अधिकारियों को फूलों का गुलदस्ता देकर और धोवना दिखाकर वापस कोलकाता जाने की मांग की। साथ ही कोटा नहीं छोड़ने पर धोवने से कूटने की धमकी भी दे दी। OVER 7,000,000 STORYBOARDS CREATED!FREE TRIAL For Teachers For Work For Film पूर्व केंद्रीय मंत्री सांवरलाल जाट की मूर्ति का हुआ अनावरण Primary Menu ग्वालियर, विशेष प्रतिनिधि। लोकायुक्त ने सोमवार को बिजली कंपनी के कनिष्ठ यंत्री एम पावसे के खिलाफ न्यायालय में चालन पेश कर दिया है। कनिष्ठ यंत्री एम पावसे को लोकायुक्त ने जून 2017 को 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा था। इस संबंध में आवेदक अनुरुद्ध सिंह राठौर ने पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त के सामने आवेदन प्रस्तुत किया था जिसमें बताया गया था कि उनकी कस्बा पोरसा में भिण्ड रोड पर मेसर्स कामतानाथ ट्रेडिंग कंपनी के नाम से तेल मिल है। बिजली कंपनी के सर्तकता दल ने उनके आॅयल मिल पर छापा डाला था। इस दल में कंपनी के कनिष्ठ यंत्री एम पावसे भी शामिल थे। छापे के बाद कंपनी की तरफ से उनके पास तीन लाख सत्तर हजार, तिरेपन रुपए का बिजली चोरी एवं पेनल्टी का नोटिस आया था। +1और स्लाइड देखें आपके शहर की खबरें Bijli Bachao participates in the Amazon Associates and Flipkart Associates Program, affiliate advertising programs designed to provide a means for sites to earn commissions by linking to Amazon and Flipkart. This means that whenever you buy a product on Amazon or Flipkart from a link on here, we get a small percentage of its price. That helps support Bijli Bachao with some money to maintain the site, and is very much appreciated. Amazon and the Amazon logo are trademarks of Amazon.com, Inc. or its affiliates. पॉलिटिक्स लखीसराय बैंक स्मृति स्थल पहुंची अटल का पार्थिव शरीर, तीनों सेना के जवानों ने दी .. 11 अगस्त 2018 - निम्न दाब कृषि संबंधी कार्य के लिए 25 एचपी की नई श्रेणी बनाई गई है। निम्नदाब उद्योगों के लिए भी 100 से 150 एचपी का नया ग्रुप बनाया गया है। रोलिंग मिल के लिए लोड फैक्टर को 15% से बढ़ाकर 25% किया गया है। स्टील उद्योगों को 65% से अधिक लोड फैक्टर रखने पर ऊर्जा प्रभार में अधिकतम 15% की छूट दी जाएगी। 52 Views The page you are looking for cannot be found. 7 replies 97 retweets 232 likes बिजली दर Tags: whatsapp SIGN IN अपने पसंदीदा टॉपिक्स चुनें close फ़ीडबैक राज्य                               खपत              यूनिट तक दर  वास्‍तविक काल अंकीय अनुकारक YOUTUBE भाजपा जिलाकोषाध्यक्ष जमशेदपुर महानगर पिछड़ा मोर्चा बरेली Enquiry : 87501 87501 Submit Reset नियामक आयोग के सचिव पीएन सिंह ने कहा कि विद्युत वितरण कंपनी ने वर्ष 2018-19 के लिए औसत लागत 6.44 पैसा के मुताबिक 120 करोड़ की राजस्व कमी बताई थी। आयोग ने परीक्षण के बाद राजस्व कमी के स्थान पर 531 करोड़ रुपये के अधिक राजस्व की गणना को मान्य किया। आयोग ने बिजली कंपनी की मांग 6.44 पैसे की जगह 6.20 पैसे की दर को मान्य किया है। पूरे वर्ष का राजस्व संग्रह 8000 करोड़ पर पहुंचा : बिजली कंपनी के आकलन के अनुसार शनिवार को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष राजस्व संग्रह 8000 करोड़ तक पहुंच गया है। फरवरी तक यह 6700 करोड़ रुपए था और मार्च में देर शाम तक 1300 करोड़ रुपए के राजस्व संग्रह की रिपोर्ट मिल चुकी थी। जबकि पूर्व के वित्तीय वर्ष में बिजली कंपनी का राजस्व 5800 करोड़ रुपए था। बिजली कंपनी ने इस राशि में सरकार द्वारा उपभोक्ताओं को सब्सिडी मद में उपलब्ध कराए जाने वाली राशि नहीं जोड़ी है। यह राशि लगभग 3000 करोड़ रुपए है। बिजली की लागत - इलेक्ट्रिक कंपनी प्रदाता बिजली की लागत - ह्यूस्टन बिजली बिजली की लागत - वाणिज्यिक बिजली दरें
Legal | Sitemap