राज्‍यों से पिज्ज़ा ब्रैड, कंडस्ड मिल्क, फ्रोज़न सब्जियां, जीवन रक्षक दवाइयां और मिठाइयां इस स्लैब में रखी गई हैं। कोयला भी इसी स्लैब में है। इस पर पहले 11.69 प्रतिशत टैक्स लगता था। इसके चलते बिजली उत्पादन महंगा होता है। चीनी, चाय, कॉफी और खाने का तेल भी इसी स्लैब में हैं। अब तक इन पर 9% टैक्स लगता था। हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application इस पोस्ट को शेयर करें Facebook सौभाग्य योजना (सहज बिजली हर घर योजना) उत्तर प्रदेश के लोए यहाँ क्लिक करें॥ अध्य्क्ष अखिल भारतीय दलित महासंघ Copyright © 2018 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. GOVT. SPONSORED SCHEMES प्रिया प्रकाश का नया वीडियो वायरल, आंखों से फिर किये कातिलाना इशारे पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटनासाहिब क्षेत्र के लिए 28 70... उत्तराखंड: विद्युत उपभोक्ताओं को लगा झटका, महंगी हो गई बिजली, नई दरें जाने यहां... मंत्री श्री जैन ने हासामपुरा में स्व.दिगंबरराव तिजारे स्टेडियम का लोकार्पण किया, विधायक ट्रॉफी 2018 का पुरस्कार वितरण भी किया वैकल्पिक विषय - हिंदी साहित्य बिग ब्रेकिंग न्यूज़ राजस्थान1900 © 2018 S.B. Multimedia Private Limited | All Rights Reserved. जोशीमठ: सुरंग निर्माण में फूटे स्रोत से खतरे में जनजीवन Agra सन्शोधन #Ind Vs Eng एशियाई खेल   ⁄  City News No results found Lakhisarai जम्मू-कश्मीर में मिनी बस खाई में गिरी; 1 की मौत, 20 घायल नाबार्ड की सौर फोटोवोल्टेक पम्पिंग प्रणाली पर मॉडल योजना SOS - SAVE OUR SALMON and Protect our Southern Resident Orcas! वार्ड नं. 12 में समस्याओं का अंबार This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK Sports News राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य योजनाओं पर समिति बुक रिव्यू कविताकहानीकिताब के अंशलेखक से बातक्लासिकआपकी रचनाएं क्रमांक 2067                                                                                                                 एचएस शर्मा/जोशी Poll DAS Application form ग्रामीण नवाचार 5 किलोवाट से अधिक और 50 किलोवाट या 56 केवीए तक के लोड के लिए 300 रुपये प्रति किलोवाट सिस्टम लोडिंग चार्ज जमा कराया जाता था। अब 5 किलोवाट तक कोई सिस्टम लोडिंग चार्ज नहीं देना होगा। अलबत्ता 5 किलोवाट से ऊपर के कनेक्शन के लिए पहले की ही तरह 300 रुपये प्रति किलोवाट के हिसाब से सिस्टम लोडिंग चार्ज जमा कराया जाएगा। 162 दिल्ली कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन के मुताबिक, बिजली कंपनियों को बिना किसी बहीखाते के सब्सिडी की 1412 करोड़ की रकम केजरीवाल सरकार दे रही है. कांग्रेस ने अपनी मासिक बैठक में तय किया है कि वे जनता के बीच केजरीवाल सरकार की असलियत लेकर जाएगी. पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने भी बिजली की कीमतों पर केजरीवाल सरकार पर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाया है. Gateway विक्की राय Include parent Tweet -------Advertisement-------- अगर आप बेरोजगार है तो, POST OFFICE दे रहा है FRANCHISE खोलने का मौका ! POST OFFICE FRANCHISE Skip all केरल में बाढ़ के तांडव के बीच भारतीय सेना के देवदूत ऐसे बचा रहे हैं जिंदगियां बंका 7- डिग्गी फव्वारा सिंचाई योजना.. १. जून में कुल बकाया बिजली बिल राशि पर योजना लागू होगी। शनिवार 18 अगस्त, 2018 अगर आप कोई सूचना, लेख, आॅडियो-वीडियो या सुझाव हम तक पहुंचाना चाहते हैं तो इस ईमेल आईडी पर भेजें: [email protected] मीटरन प्रोटोकॉल प्रयोगशाला Clear Study Doubts धनबाद समेत समस्त प्रदेश वासियों को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं by team livecities in BIHAR 0 Email * रायपुर। छत्तीसगढ़ में चुनावी साल में सरकार ने बिजली उपभोक्ताओं को बड़ी राहत दी है। विद्युत नियामक आयोग की ओर से सोमवार को जारी नई दर से घरेलू उपभोक्ताओं से लेकर किसानों, निम्न दाब उपभोक्ता और औद्योगिक उपभोक्ताओं को राहत दी गई है। आयोग ने गठन के बाद पहली बार बिजली दर को पिछले साल के मुकाबले कम किया है। काशिझरिया पंचायत समिति सदस्य Contact us केरल में बाढ़ से बिगड़े हालात, PM मोदी का हवाई सर्वे हो सकता है रद्द VIDEO: हत्या कर खुद को घर में किया बंद फोटो Forbidden इंटरनेट संसाधन आरटीएल, नोएडा बड़ी खबर bihar 4 अगस्त 2018   Write a Comment जुलाई 25, 2018 Razia Ansari BIHAR, आपका प्रदेश, ट्रेंडिंग 0 200 यूनिट तक की बिजली की कीमत में एक रुपये प्रति यूनिट की दर से कटौती की गई है, जबकि 201-400 यूनिट तक की बिजली की कीमत में 1.45 रुपये प्रति यूनिट की दर से कटौती की गई है. इसके अलावा 401-800 यूनिट तक की कीमत दर में 80 पैसे प्रति यूनिट की दर से कमी की गई है. बिजली की यूनिट की कीमत दर में कमी का फायदा सभी घरेलू ग्राहकों को मिलेगा. हालांकि फिक्स चार्ज में वृद्धि से लोगों को झटका लगा है. इस तरह 201-400 यूनिट तक बिजली का इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को सबसे ज्यादा फायदा मिलेगा. Ooops... Error 404 Time: 2018-08-18T05:26:37Z केरल में बाढ़ और बारिश का तांडव, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी, प्रधानमंत्री.. Life and Style वीएलई के लिए संसाधन एसीआर फॉर्म Advertise with us -A A +A © Copyright 2018, All Rights Reserved Lucknow News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए NBT के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें चर्चा में क्यों? परीक्षण क्रियाकलाप मायावती का बीजेपी पर जोरदार हमला, कहा बीजेपी को सिर्फ धन्नासेठों की ही परवाह कीमत- 5.9 लाख रुपये अपनी बात Why you're seeing this ad कार्य के लिए पत्र जारी किये जाने की तारीख से 24 महीनों की अवधि के भीतर योजना को पूरा किया जाएगा। 443 Views मायावती सबसे डरपोक: दयाशंकर 30 May 2018 | Aajtak हिन्‍द गजट उन्होंने बताया कि पावर टैरिफ सब्सिडी प्राप्त करने के लिए आवेदन आवश्यक दस्तावेजों के साथ निर्धारित फॉर्म पर विभाग के वेब पोर्टल पर उद्योग और वाणिज्य निदेशक को भेजना होगा। आवेदन की जांच की जाएगी और कमियां, यदि कोई है तो उस बारे 10 कार्य दिवसों के भीतर आवेदक को लिखित में सूचित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि आवेदक को इन कमियों को दूर करने के लिए दो सप्ताह का समय दिया जाएगा। अनुकम्पा पर नौकरी के लिए बेटे ने बाप की दे… English (US) अपनी प्रतिक्रिया दें 11 फरवरी 2010. पंजाब में छोटी बिजली उत्पादक कंपनियों को कर्ज में आ रही परेशानियों को देखते हुए ऊर्जा मंत्रालय ने राज्य में काम कर रही निजी बिजली उत्पादक कंपनियों के साथ 11-12 फरवरी को एक बैठक बुलाई है। बैठक में कर्ज नियमों में ढील देने और पावर प्रोजेक्ट के लिए ज्यादा निवेशकों को आकर्षित करने पर विचार किया जाएगा। Monday 13 August , 2018 देवशयनी एकादशी 23 जुलाई को : इस दिन व्रत करने से पापों का होता है नाश, 4 महीनों तक नहीं होते शुभ कार्य 44 mins UpvoteDownvote उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव Sat Aug 18 2018 00:25:24 GMT-0500 (Central Daylight Time) Concept Talk 201-400 यूनिट बिजली खपत पर अब 4.5 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से चुकाना होगा. अभी हर यूनिट पर 5.95 रुपए देने पड़ते हैं. 401 से 800 रुपए प्रति यूनिट खर्च करने पर 6.5 रुपए प्रति यूनिट देना होगा. अभी यह 7.30 रुपए है. 801 से 1200 रुपए यूनिट बिजली जलाने पर 7 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से बिजली बिल देना होगा. अभी यह 8.10 रुपए है. DRISHTI INDEPENDENCE DAY OFFER FOR DLP PROGRAMME View Details लखनऊ: भारी बार‍िश के बाद पुल‍िस चौकी की छत ग‍िरी Clear Study Doubts Follow us पतंजलि की सेल्स ग्रोथ में आई नरमी, विदेशी कंपनियां दे रही हैं टक्कर! पावर टैरिफ सब्सिडी योजना के पात्र होने की शर्ते – Power Tariff Subsidy Yojna भाजपा जिलाकोषाध्यक्ष जमशेदपुर महानगर पिछड़ा मोर्चा लघु सिचाई योजनाएं   कृषियंत्रीकरण ऋण योजना Related Articles (District wise) स्टडी मोटिव Solar Energy जयनारायण मुंडा NEXT STORY बांका हाल की घटनाएँ News18 इंडिया शो लेकिन वे ओपन एक्सेस से सस्ती बिजली खरीद लेते हैं तो बिजली कंपनियों पर आर्थिक बोझ पड़ता है। जिसकी वजह से उन्हें अपनी सरप्लस बिजली कम दाम में बेचकर घाटा उठाना पड़ता है। आयोग ने ये याचिका सुनवाई के लिए मंजूर कर ली है और उस पर 17 जनवरी तक उपभोक्ताओं की आपत्तियां मंगाई है। Newer Post Older Post Home आरएसओपी परियोजना विवरण एवं एफ ए क्यू Privacy policy 248 करोड़ बढ़ी सब्सिडी  Business News केरियर AllPhoto गैलरीVideo गैलरी महिलाएं और ऊर्जा Hindi Newsव्यापारबिहार में बिजली-दर में बदलाव नहीं, उपभोक्ताओं को राहत contact us नई योजना: हजारों लोगों को नहीं भरना होगा बिजली का बिल सस्ते विद्युत आपूर्ति - इलेक्ट्रिक कंपनी सस्ते विद्युत आपूर्ति - सस्ते ऊर्जा दरें सस्ते विद्युत आपूर्ति - बिजली की कीमतें
Legal | Sitemap