टैक्स/निवेश समाचार कंपनी रिजल्ट्स लोवर सबोर्डिनेट सर्विसेज़ (अवर) Menu... वन एवं पर्यावरण Archives एक लाख की जनसंख्या वाले शहर में 29 हजार लोगों को असंगठित मजदूर तो बना दिया गया लेकिन जिन बिजली योजनाओं का फायदा लेने के लिए ये मजदूर बने थे उन योजनाओं में केवल 11 हजार लोग ही जुड़ पाए हैं। अधिकांश असंगठित पंजीकृत मजदूर बिजली कंपनी के दायरे में ही नहीं आ रहे हैं। इस कारण वे योजना से नहीं जुड़ पाए हैं। नपा में असंगठित मजदूरों के रजिस्ट्रेशन के लिए रोज लंबी कतारें लग रही हैं। अब तक 29 हजार लोग असंगठित मजदूर बन गए हैं। 29674 असंगठित मजदूर बनने के बावजूद बिजली योजनाओं का लाभ केवल 11679 लोगों को ही मिला है। अधिकांश असंगठित मजदूर इन बिजली योजनाओं के फायदे से दूर हैं। बिजली बिल माफी योजना में 6684 संगीता मेहता, मुंबई गुमला ईंधन विश्‍लेषण प्रयोगशाला अन्य... सोशल वायरल 100 से अधिक       3.15 दिल्ली में बिजली हुई सस्ती, लेकिन फिक्स चार्जेस बढ़ाए गए Press Releases ×Close सराईकेला-खरसांवा देवरों ने किया भाभी के साथ बलात्कार का प्रयास होमगार्ड जवानों का दैनिक वेतन बढ़ेगा, हटाए गए 3000 होमगार्ड जवानों को फिर से काम पर लिया जाएगा हिन्दुस्तान ब्यूरो ,पटना इतिहास में पहली बार अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 70 के निचले स्तर... मुखपृष्ठ को लौटें। 7.70             6.60 उत्पाद विवरण: Privacy policy स्वतंत्रता दिवस पर 25 कैदियों को रिहा किया गया 15/08/2018 जर्मन चुनाव Publish on March 22, 2018 रायपुर। आमदनी अठनी खर्चा रुपया ने छत्तीसगढ़ की सरकारी बिजली वितरण कंपनी (सीएसपीडीसीएल) की रैंकिंग बिगाड़ दी है। बढ़ते खर्च के बोझ व वसूली की धीमी रफ्तार से सालभर में कंपनी चार पायदान फिसल कर 31वें स्थान पर आ गई है। Sat, 18 Aug 2018 03:30 PM IST डंपर ने स्कूली बच्चों से भरी वैन को मारी टक्कर, बड़ा हादसा टला लोकप्रिय मीट, दूध, दही, ताज़ा सब्जियां, शहद, गुण, प्रसाद, कुमकुम, बिंदी और पापड़ को जीएसटी दायरे से बाहर रखा गया है। इसके कारण खाद्य पदार्थ खासकर गेंहू और चावल सस्ते होंगे क्योंकि जीएटी लागू होने के बाद इन पर कोई टैक्स नहीं लगेगा जबकि अब तक इन उत्पादों पर वैट लगता था। एनटीपीसी को सौंपे गए बिजली घर परियोजनाओं में से एक नवीनगर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इसे शुरू करने में परेशानी हुई थी। व्यक्तिगत पहल कर जमीन अधिग्रहण की समस्या का समाधान किया। अब बिहार में उत्पादन और बिजली की उपलब्धता बढ़ी है। हाल ही में रेहल गांव में ऑफ ग्रिड बिजली आपूर्ति को देखा। वहां सौर ऊर्जा से बिजली आपूर्ति की जा रही है। इससे विकास को गति मिल रही है। बिजली दर को ठीक करने के लिए ही जीरो सब्सिडी का प्रस्ताव लाया गया। बिजली बिल में सरकार की ओर से दी जाने वाली सब्सिडी अंकित रहता है, जिससे लोगों को पता रहता है कि सरकार कितनी सहायता दे रही है। हमारी इच्छा है कि जल्द से जल्द एग्रीकल्चर फीडर बन जाए, ताकि किसानों को कम से कम आठ घंटे बिजली आसानी से मिल सके। केंद्रीय ऊर्जा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) आरके सिंह ने कहा कि सरकार का यह कदम मुख्यमंत्री की दूरदर्शिता को दर्शाता है। इससे राज्य को फायदा होगा। राज्य के ऊर्जा मंत्री बिजेन्द्र प्रसाद यादव ने कहा कि जनहित में सरकार ने यह निर्णय लिया है। जीजा करता था साली से दरिंदगी, साली ने प्रेमी के... कैसे खुलता है स्विस बैंक में अकाउंट, आइए हम बताते हैं योगी सरकार अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर बनाएगी 4 बड़े स्मारक एकल चरण 2 तार विनय महतो धीरज अनुसंधान एवं विकास प्रभाग जीवन-शैली मिथुन 475 Views Albanian Shqip MPROFIT SOFTWARE PRIVATE LIMITED news18 hindi | Updated:Feb 27, 2016, 09:00AM IST चीन-अमेरिका वार्ता से बाजार खिला, रुपया संभला आवेदक इस योजना की अधिसूचना की तिथि से 15 अगस्त, 2015 तक की अवधि की प्रतिपूर्ति के लिए इस योजना की अधिसूचना जारी होने की तिथि से छ: महीनों के भीतर दावा आवेदन जमा करा सकते हैं। हालांकि, आवेदक को वित्तीय वर्ष की तिमाही समाप्त होने के बाद छ: महीनों के भीतर प्रत्येक तिमाही के लिए दावे प्रस्तुत करने होंगे। अन्यथा आवेदक की पावर टैरिफ सब्सिडी की पात्रता समाप्त हो जाएगी। अगर आप कोई सूचना, लेख, आॅडियो-वीडियो या सुझाव हम तक पहुंचाना चाहते हैं तो इस ईमेल आईडी पर भेजें: [email protected] India homes 13 of 25 most polluted cities in the world. This speaks volume about the appalling condition of air in the sprawling Indian cities. Delhi was making headlines all over the world past winter because of smog and dangerous levels of pollutants. According to one of the studies, 4.4 million school children in India have developed irreversible lung damage from the poisonous air. That’s for India but talking about global air conditions, World Health Organization 6. राजधानी एक्सप्रेस में बुजुर्ग को चूहे ने काटा, साढ़े तीन घंटे निकलता रहा खून # Haryana Business जीवन मंत्र जीत के अलावा कुछ भी मंजूर नहीं, आज नॉटिंघम में टीम इंडिया की अग्नि परीक्षा FROM NETWORK18 उत्पाद का नाम: सिंगल चरण इलेक्ट्रिक प्रीपेड मीटर विद्युत योजना में धांधली, ठेकेदार का रोका भुगतान Comment इससे जहां बिजली की चोरी में कमी होगी वहीं लाइन हानियां कम होने से वितरण कंपनियों का घाटा कम होगा। देश दीपक वर्मा का कहना है कि इससे बिजली के नए कनेक्शन लेने के लिए लोगों को प्रोत्साहन मिलेगा। राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश वर्मा ने आयोग के अध्यक्ष व सदस्य से मिलकर इस फैसले के लिए आभार जताया। इस पोस्ट को शेयर करें Messenger एयर इंडिया पायलटों की धमकी- अगर बकाया उड़ान भत्ता नहीं चुकाया तो फ्लाइट ऑपरेशंस रोक देंगे 22 mins दिल्ली इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमीशन (DERC) ने गर्मी शुरू होते ही राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बिजली के फिक्स चार्ज में 2.5 से लेकर 6.5 गुना तक का इजाफा किया है. हालांकि बिजली की कीमतों में प्रति यूनिट की दर  से कटौती की है. DERC ने 2 किलोवाट लोड वाले घरों में बिजली के फिक्स चार्ज को 20 रुपये से बढ़ाकर 125 रुपये कर दिया है. सभी पक्षों का रुख सकारात्मक 1/6 नालंदा : खास खबर – रहने के लिहाज़ से पटना से आगे निकला बिहारशरीफ। बसपा श्रीलंका306/7(39.0) Image caption इस कार में चार लोग बैठ सकते हैं.(तस्वीर महेंद्रा रेवा) कीर्ति आज़ाद के निलंबन के बाद बीजेपी नेताओं में मची… हिन्दी में कैसे लिखें? नई दिल्ली: बिजली क्षेत्र में सुधारों को आगे बढ़ाने की केंद्र सरकार की प्रतिबद्धता पर बल देते हुए बिजली मंत्री आर के सिंह ने कहा है कि लोगों को दूरसंचार सेवा की तरह बिजली खरीदने के लिए अपने क्षेत्र में एक से अधिक आपूर्तिकर्ताओं का विकल्प दिया जाएगा। इसके लिये बिजली कानून में संशोधन किया जाएगा। बिजली मंत्रालय आगामी बजट सत्र में बिजली संशोधन विधेयक लाने की तैयारी में है जिसमें अन्य बातों के अलावा बिजली आपूर्ति और वितरण नेटवर्क के कारोबार को अलग-अलग करने का प्रावधान होगा। नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय की भी जिम्मेदारी संभाल रहे सिंह ने कहा, हम बिजली कानून में कई संशोधन ला रहे हैं। अन्य स्पोर्ट्स चम्पावत चन्दन जयसवाल Català खगड़िया नई दिल्ली, 30 मार्च 2018, अपडेटेड 11:28 IST चन्दन जयसवाल Allow Jeff's Helicopter to Stay 447 Views बड़कागाँव विधायक प्रतिनिधि सफल इंडिया सिंदरी की ओर से स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं Reduce the allowable size of new homes built in Coconut Grove to 50% of the lot area. प्रेषित समय :10:44:08 AM / Sat, Mar 31st, 2018 # state Subscribe Now उन्नत खोज मातृभाषा सत्याग्रही पेंशन योजना के लिए आवेदन करें पड़ोसी देशों से खाद्य तेल पर मिली रियायत रद्द करने की मांग हेमंत कुमार गुरु पीयूष पांडेय, नई दिल्ली Updated Sat, 04 Aug 2018 05:20 AM IST ई एम आई / ई एम सी प्रयोगशाला 41 Views किस कांग्रेस नेता ने अटल बिहारी के पार्थिव शरीर के सामने जमीन चूम ली ? सामान्य अध्ययन प्रश्नपत्र III चौथा एक-दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच असम यूनिवर्सिटी के चांसलर हैं गुलजार, देश के कई स्कूलों की प्रेयर बन गई उनकी रचना हमको मन की शक्ति देना 2 mins कला और साहित्य रेडियो, टेलीविजन, मोबाइल आदि के माध्यम से बढ़ी हुई संपर्क इनेलो वाले तो हरियाणा को हमेशा बंद रखना चाहते हैं : राजकुमार सैनी शुरू हो रहे 18वें एशियाई खेलों प्रदर्शन को बेहतर करने की… डायबिटीज, ब्‍लड प्रेशर और कैंसर की दवाओं के तय होंगे दाम स्क्रीन रीडर मोटो जेड2 प्ले 64जीबी (लूनर ग्रे, 4जीबी रैम) कॉपीराइट © 2017. उर्जा विभाग, मध्य प्रदेश शासन. सर्वाधिकार सुरक्षित आस्क एन एक्सपर्ट ख्वाजा की दरगाह से तिरंगा बांटकर दिया कौमी एकता का पैगाम Your website: कैमरे में कैद हुर्इ जिम के फ्लोर मैनेजर की घटिया हकरत, गिरफ्तार इसके अलावा बिहार और उत्तर प्रदेश से 33 केवी और 132 केवी रेडियल मोड में नेपाल को मामूली विद्युत का निर्यात करता रहा है। भारत नेपाल को 11 केवी, 33 केवी और 132 केवी लेवल पर 12000 से अधिक सीमापार इंटरकनेक्शनों के लिये लगभग 190 मेगावाट विद्युत का निर्यात कर रहा है। 2016 में 400 केवी लाइन क्षमता (132 केवी क्षमता के साथ संचालित) मुजफ्फरपुर (भारत)-धालखेबर (नेपाल) के चालू हो जाने के बाद नेपाल को विद्युत निर्यात में लगभग 145 मेगावाट की वृद्धि हुई। Google ने खुद जारी की है लिस्ट, एंड्रॉयड यूजर्स तुरंत डिलीट कर दें ये 145 एप्स त्रुटि 404: पृष्ठ नहीं मिला संन्यासी के पास इतना सोना कहां से आया? GST Fropky June 2017 #Sushant Singh Rajput बिजली कंपनी को लेकर विरोध हर तबके का है विपक्ष से लेकर पक्ष कोटा के जनप्रतिनिधि तक बिजली कंपनी का विरोध जता चुके है हर इलाके से बिजली कंपनी को वापस भेजने की मांग शहर में की जा रही है इसको लेकर शहर में 10 अगस्त को कोटा बंद का आव्हान भी किया गया है. Copyright © 2015 Bhopal Samachar | No 1 hindi news portal of central india (madhya pradesh) अहमदाबाद Copyright © 2018 Live Cities. All rights reserved. लोगों को बिजली कनेक्शन के लिये चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे, उन्हें घर पर ही मुफ्त बिजली कनेक्शन प्रदान किये जाएंगे। उबर इट्स का नया 'ऐड फंडा', बिरयानी के ऐड में छाया 'जलेबी बॉय' कृषि योजनाएं बाजार में तेजी, सैंसेक्स 284 अंक चढ़ा और निफ्टी 11470 के पार बंद विगत वर्षों के प्रश्नपत्र UP Bhulekh भूलेख, खसरा खतौनी भु नक्शा ऑनलाइन नक़ल upbhulekh.gov.in जागरण संवाददाता, फतेहाबाद: गोरखपुर हरियाणा अणु विद्युत परियोजना द्वारा गोरखपुर गोशाला का विकास के... अद्भुत है यह प्राचीन महादेव का मंदिर, 84 फीट ऊंची प्रतिमा के दर्शन... Sat, 18th August 2018, 10:56 IST Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें हालांकि कोई सरकार के दावें पर कैसे सवाल खड़ा सकता है, अगर इन दावों को सही भी मान लिया जाए तो गांव के विद्युतीकरण से गांववालों को कोई फायदा तो हुआ नहीं है क्योंकि विद्युत आपूर्ति को लेकर अनिश्चितता की हालत बनी हुई है. अगर इन्हें 24 घंटे बिजली दी भी जाती है तो इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि गांव वाले इस बिजली का उपभोग करने में सक्षम होंगे. 308 Views प्रकाशन वहीं 200 से 400 यूनिट तक बिजली खर्च करने वाले घरेलू उपभोक्ताओं को 2.98 रुपए प्रति यूनिट कीमत चुकानी होगी। 400 यूनिट से ज्यादा बिजली खर्च करने पर पूरा बिल देना होगा। सरकार ने दिल्लीवालों से अपील की है कि किफायत से बिजली खर्च करें ताकि उनका बिजली का बिल आधा हो सके। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि 36 लाख छह हजार 428 परिवारों के लोग बिजली के बिल आधे होने का फायदा उठा रहे हैं जो दिल्ली के कुल परिवारों का 90 फीसदी है। ऊर्जा रेटिंग - विद्युत खुदरा विक्रेताओं ऊर्जा रेटिंग - सस्ते व्यापार बिजली ऊर्जा रेटिंग - बिजली कंपनी
Legal | Sitemap