चंडीगढ़ शिमला में बारिश का कहर: कहीं भूस्खलन, कहीं मलबे में दबी गाड़ियां... चीन में वर्ल्ड रोबोट कॉन्फ्रेंस Study Material | Test Series पॉलिटिक्स होरोस्कोप 5:57 Asian games 2018: तस्‍वीरों में देखिए, भारतीय एथलीट्स ने टूर्नामेंट शुरू होने से एक दिन पहले क्‍या किया ऑक्सिलरोमापी अंशांकन सुविधा तथा वीडियो अंकीय अभिलेखन तथा सुधार प्रणाली संस्मरणः सांसद किसी पार्टी का हो, सबको एक निगाह से देखते थे वाजपेयी May 29, 2018 11 बड़े बिजली उपभोक्ताओं की खपत पर रखी जाएगी नजर उज्ज्वला योजना की शुरुआत के बाद एलपीजी कनेक्शन की संख्या में हालांकि बड़ा इजाफा देखा गया है. लेकिन इसके हिसाब से एलपीजी की खपत उतनी नहीं हुई है. पश्चिमांचल को छोड़कर पूरे प्रदेश में घरेलू और किसानों की बिजली सस्ती हो गई है। बिजली बिल पर लगने वाले रेग्युलेटरी सरचार्ज में विद्युत नियामक आयोग ने कटौती कर दी है। केरल बाढ़: मोदी से गुहार लगा टीवी पर रोने लगे MLA- 'प्लीज हेलिकॉप्टर भेजिए, नहीं तो 50000 मर जाएंगे' एफएक्यू Publish on March 22, 2018 Feb 16 2018 9:06AM Last updated on: Aug 13, 2018 सौभाग्य-प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना दुनिया की सबसे बड़ी न्‍यूक्लियर साइट बॉलीवुड एक्ट्रेस काजोल ने इंटरव्यू में महिला प्रधान फिल्मों पर कही यह बात मोदी सरकार ने ग्रामीण इलाकों में विद्युतीकरण के विस्तार के लिए दीनदयाल विद्युत ग्रामीण योजना चलाई है। असल में इस योजना का नाम बदला है और यह यूपीए सरकार के दौर में चल रही राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण योजना का ही विस्तार है। नवंबर बाद शुरू हो सकेंगी SSC की ऑनलाइन भर्ती परीक्षाएं पीक आवर्स में एनर्जी चार्ज 5% बढ़ाया Faststep RC Desk2, November 11,2017 09:59:16 PM निबंध यह भी पढ़ें: यूपी कैबिनेट का फैसला: शहरों में 24 घंटे, गांवों में 18 घंटे बिजली नवम्बर 8, 2017 Md. Saheb Ali Big News, BIHAR, आपका प्रदेश, ट्रेंडिंग, देश विदेश 0 देश अभी-अभी दुनिया राजनीति फ़ेकिंग न्यूज़ Explore Q देखें नॉनस्टॉप 100 नई दिल्ली: दिल्ली में बिजली के दाम घट गए हैं लेकिन फिक्स चार्जेस बढ़ा दिए गए हैं. घरेलू बिजली की दरें  एक से डेढ़ रुपये प्रति यूनिट कम की गईंहैं. दिल्ली बिजली नियामक प्राधिकरण (डीईआरसी) की बुधवार को हुई बैठक में यह फैसला लिया गया. पवन और सौर ऊर्जा क्षेत्र में उत्पादन क्षमता की नीलामी योजना की रूपरेखा पेश किये जाने के मौके पर उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम हर घर को सातों दिन 24 घंटे बिजली देने के लिये काम कर रहे हैं और इसका पूरा दायित्व बिजली वितरण कंपनियों पर होगा. इसे लागू करने के लिये जो भी सहायता की जरूरत होगी, हम देंगे.’’ मंत्री ने कहा, ‘‘देश में बिजली वितरण को लेकर पहले से सेवा बाध्यता है, इसे और स्पष्ट बनाया जाएगा. देश में बिजली की कोई कमी नहीं है, हमारी पारेषण प्रणाली मजबूत है. राज्य के अंदर पारेषण की जरूर समस्या है, जिसे दूर करने के लिये राज्यों के साथ काम किया जा रहा है.’’ कनेक्शनों की संख्या बढ़ाने के लिए किया फैसला बड़े बिजली उपभोक्ताओं की खपत पर रखी जाएगी नजर महाभारत 2019: 7 में से 5 सांसदों से दिल्ली की जनता नाराज, सीलिंग सबसे बड़ा फैक्टर 24 mins patna देखें LIVE: अंतिम सफर पर निकले अटल जी, मोदी, शाह सहित जनसैलाब यात्रा में अमेरिका की तुर्की को धमकी, पादरी को नहीं छोड़ा तो लगेंगे और प्रतिबंध हिंदीதமிழ்বাংলাമലയാളം मराठीENGLISH छपरा 300 मीटर ऊंची उत्तर भारत की बुर्ज खलीफा बनकर तैयार, नजीब जंग का भी बनेगी ठिकाना 53 mins Live Cricket Score कानपुर अटल जी की अंतिम यात्रा में मोदी-शाह सहित सड़कों को उमड़ा जनसैलाब कृषि(25 एचपी तक)- 5.70 - 5.00 392 Views गांवों में यह होगा असर होम पेज विवो एक्स 21 128जीबी (ब्लैक, 6 जीबी रैम) 1661 घर टेक और ऑटो मनमोहन सिंह के कार्यकाल में सबसे तेज रही आर्थिक वृद्धि दर, रिपोर्ट में हुआ खुलासा Big News प्रिंट कुमार ने कहा, 'कई पावर कंपनियों के कर्ज को पहले ही बैड लोन कैटेगरी में डाला जा चुका है और इस तरह के कुछ और लोन इस वर्ग में जा सकते हैं। हाईकोर्ट का फैसला बैंकों के लिए अच्छा है क्योंकि इससे उन्हें कोर्ट से बाहर लोन रिजॉल्यूशन के लिए अधिक समय मिलेगा।' आरबीआई के सर्कुलर में 180 दिनों के पीरियड के लिए 1 मार्च को रेफरेंस डेट बताया गया था। इसलिए बैंकरप्सी कोर्ट से बाहर लोन रिजॉल्यूशन के लिए बैंकों के पास अगस्त के अंत तक का समय है। अभी देश की 22 पर्सेंट इंस्टॉल्ड पावर जेनरेशन कैपेसिटी एनपीए है। रिजर्व बैंक के डेटा के मुताबिक, भारतीय बैंकों ने पावर सेक्टर को अप्रैल के अंत तक 5.19 लाख करोड़ रुपये का कर्ज दिया हुआ था। चीनी (Sugar) कन्या निशि पांडे जनन जल शब्दकोश तारा देवी धर्म क्षेत्र चम्बा तरंग वास्तु टिप्स: इन 5 कारणों से आपके घर में नहीं टिकता पैसा, अपनाएं ये आसान उपाय gdcchanderi Hits: 18276 (यह भी पढ़ें)... सपना चौधरी ने WWE के रिंग में लगाए ऐसे ठुमके, चित हो गए सारे पहलवान; देखें Video देवनागरी कैसे टाइप करें Htcampus.com सामान्य अध्ययन अभ्यास प्रश्न आजादी की लड़ाई का सूत्र खादी अब बन रहा फैशन का नया ट्रेंड धालभूमगढ़ अंश की जिला परिसद सदस्य Latest Water Heater Technology in India – Review क्रमांक 2067                                                                                                                 एचएस शर्मा/जोशी निर्देशिका Dharmender Chaudhary [Updated:28 Jan 2016, 4:59 PM IST] जानें क्यों मनाते हैं हरियाली तीज, इससे जुड़े रोचक तथ्य My Government Schemes Hindi Jokes संरचनात्मक सामग्री परीक्षण प्रयोगशाला Advertise परिवाद पर सुनवाई करते हुए फोरम अध्यक्ष इंद्रा सिंह ने मीटर रीडिंग लेकर वास्तविक खपत पर बिल देने और परिवादी को मानसिक परेशानी के रूप में 2000 और परिवाद व्यय के 1000 रुपए भुगतान करने के आदेश विद्युत कंपनी को दिए हैं।  2299019990खरीदे विषय Madhya Pradesh योजना के आसान और त्वरित कार्यान्वयन के लिए, आधुनिक तकनीक का उपयोग मोबाइल ऐप का उपयोग करके घरेलू सर्वेक्षण के लिए किया जाएगा। जिससे लाभार्थियों की पहचान की जाएगी और आवेदक तस्वीर और पहचान प्रमाण के साथ बिजली कनेक्शन के लिए उनका आवेदन स्थान पर दर्ज किया जाएगा परावैद्युत सामग्रियाँ प्रभाग (डीएमडी) स्कीम की सबसे बड़ी खासियत यह है कि न्यायालयीन अथवा चोरी के प्रकरणों के अलावा पूर्व में समाधान योजना का लाभ ले चुके उपभोक्ता भी पात्र होंगे। इसके अलावा यदि पंजीकृत श्रमिक के पास घरेलू बिजली कनेक्शन नहीं है तो उसे भी फ्री में कनेक्शन दिया जायेगा तथा कोई सुरक्षा-निधि नहीं ली जायेगी। एक जुलाई से लागू स्कीम में पंजीकृत श्रमिक और बीपीएल उपभोक्ताओं के 30 जून 2018 की स्थिति के बकाया लगभग 5200 करोड़ के घरेलू बिल माफ कर दिये गये हैं। इसका सीधा लाभ 77 लाख उपभोक्ताओं को मिला है। इसमें बीपीएल श्रेणी के उपभोक्ता भी शामिल है। महिंद्रा ने 2010 में 16 अरब रुपये में रेवा कंपनी के खरीदा था.महिंद्रा द्वारा खरीदे जाने के बाद ये पहली कार है. रेवा प्रमुख चेतन मनी कहते हैं ये एक ‘गेम चेंजिंग’ कार है. पहले पेश की गई कार को ‘गोल्फ कार्ट’ कहा जाता था क्योंकि इसमें सिर्फ दो लोग बैठ सकते थे. अबमहिंद्रा रेवा ई2ओ में चार लोग बैठ सकते हैं और 10 कंप्यूटर इस कार की कार्यप्रणाली के संचालित करते हैं. मूवी मस्ती सेंसेक्स 200 अंक मजबूत, निफ्टी 11450 के करीब Take a step closer towards your [email protected]$ 150 p.m#HappyEMIs पत्नी को देवी बना कर मंदिर में बिठा दिया एक शख्स ने राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य योजनाओं पर समिति मानक प्रधानमंत्री जनधन योजना ख़बर शिविरों में पहुंच जनसमस्याएं सुन रहे हैं मंत्री देवनानी Computer में Folder Lock कैसे सेट करे बेस्ट तरीका बारां फतेहाबाद तीन योजनाओं में 50 प्रतिशत कार्य भी अबतक नहीं कर पाया है अमला म. प्र. पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण क. Concept Talk @AamAadmiParty Now instead of wasting time in discussion, AAP govt shud register FIR n take stern action against discoms,Sheila Dixit n co मोदी सरकार द्वारा बीते चार सालों में बदलाव के बड़े दावों के साथ शुरू की गईं विभिन्न योजनाएं कोई बड़ी उपलब्धि हासिल कर पाने में नाकाम रही हैं. हज़ारीबाग़ ऊर्जा विभाग के इस आदेश का कर्मचारी संगठनों ने स्वागत किया है। भारतीय मजदूर संघ के साथ एवं मप्र बिजली कर्मचारी महासंघ के पदाधिकारियों ने बताया कि संगठन द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे थे और सीएम से मांग की जा रही थी। इस पर सीएम ने जल्द शुरू करने के लिए गुहार की थी। इसके बाद इसके आदेश जारी हुए। इससे कर्मचारियों की लंबे समय पुरानी मांग पूरी हो पाई है। कर्मचारी संगठनों ने सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है। पोषाहार CONGRESS ENTANGLE VIRBHADRA AamAadmiParty's profile सरल बिजली बिल स्कीम में मुख्यमंत्री जन कल्याण (संबल) योजना-2018 में पंजीकृत श्रमिक उपभोक्ताओं को घरेलू कनेक्शन के लिए प्रति माह 200 रुपये अथवा पिछले 12 माह का औसत जो भी कम हो, का बिल ही भरना होगा। बिल की शेष राशि राज्य सरकार सब्सिडी के रूप में भरेगी। स्कीम का लाभ 88 लाख श्रमिक उपभोक्ताओं को मिलेगा। श्रमिकों के हक में मध्यप्रदेश सरकार द्वारा उठाया गया यह सबसे बड़ा कदम है। स्कीम के लागू होने से अब श्रमिक की आय का एक बड़ा हिस्सा बिजली खर्च से बचेगा। बची हुई यह राशि उनके बच्चों की पढ़ाई-लिखाई आदि में खर्च हो सकेगी। स्कीम का स्वरूप न सिर्फ व्यापक है बल्कि श्रमिकों का व्यापक हित भी इससे जुड़ा हुआ है, जिसके दूरगामी परिणाम सुखद होंगें। यह प्रावधान रखा गया है कि पंजीकृत श्रमिकों के परिवार की समग्र आई.डी. में दिखाये गये सदस्यों में से कोई भी उपभोक्ता होने पर वह लाभ का पात्र होगा। अगर उपभोक्ता चाहे तो नि:शुल्क नामांतरण भी करवा सकता है। Atal Bihari Vajpayee: अटल-आडवाणी की जोड़ी में मुरली मनोहर जोशी को क्यों नहीं घुसाते? वाजपेयी ने दिया था ऐसा जवाबजब अटल बिहारी वाजपेयी ने नरेंद्र मोदी से कहा, "तुम दिल्ली छोड़ दो"Atal Bihari Vajpayee: 'गुरु जी से तुम्हारी शिकायत करूंगा', योगी आदित्यनाथ से तब बोले थे अटल बिहारी वाजपेयी इकनॉमिक टाइम्स | Updated:Jun 4, 2018, 08:14AM IST सिख स्टोर मालिक की चाकू गोदकर हत्या लॉग इन नहीं किया हैवार्तायोगदानअंक परिवर्तन रायगढ़ और रायपुर मेमू की समय सारिणी में आंशिक परिवर्तन See full story here डाउनलोड एन.सी.ई.आर.टी. बुक आईसीआरए के वित्तीय प्रमुख विभोर मित्तल ने कहा है, ‘परंपरागत हाउसिंग क्षेत्र में स्थायित्व बने रहने की संभावना है जबकि किफायती हाउसिंग क्षेत्र में 2018 में अनियमितता और बढ़ सकती है.’ समुदाय Brand Analysis: Which is the best brand to buy? Block title Privacy Policies VIDEO : ओवैसी के पार्षद ने वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने का किया विरोध, भाजपा पार् बिजली बदलें - ऊर्जा योजनाओं की तुलना करें बिजली बदलें - और जानने के लिए यहां क्लिक करे बिजली बदलें - ऊर्जा की कीमतों की तुलना करें
Legal | Sitemap