सरकार की ओर से जारी आधिकारिक बयान में कहा गया है कि सबसिडी की राशि बिजली कंपनियों के खाते में भेज दी जाएगी। इसे बिजली कंपनियां उपभोक्ताओं के बिल से समायोजित कर लेंगी। साथ ही, बिजली कंपनियों को सूचित कर दिया गया है कि उपभोक्ताओं को सबसिडी का वास्तविक लाभ मिलने की बात पुष्ट करने के लिए सरकार बिजली कंपनियों का किसी स्वतंत्र एजेंसी से विशेष ऑडिट करा सकती है। राशिफल Jobs.... फरीदाबाद से सुपरहिट पावर टैरिफ में कम हो सकते हैं 15 से 20 पैसे प्रति यूनिट सुभाष ठाकुर ने कहा-  अटल बिहारी वाजपेयी का हिमाचल से था विशेष लगाव बिजली कंपनी ने ऐसा क्या किया जो AAP ने बढ़ा दिए दाम: विजेंद्र गुप्ता आई जी, 5 एमवी, 500 केजे Capricorn (मकर)     वित्तमंत्री ने कहा कि जून-2005 के बाद जिन लोगों ने अपना बिल नहीं भरा है ऐसे गांव बिल भरने के लिए स्वयं आगे आकर अपनी मूल बकाया राशि का भुगतान कर सकते हैं। इसके तहत जिन घरों का लोड एक किलोवाट है वे 1440 रुपये प्रति वर्ष की दर से एकमुश्त अदायगी कर अपने बकाया का निपटान करवा सकते हैं। इसी तरह यदि किसी का लोड दो किलोवाट है तो वे प्रतिवर्ष 2880 रुपये की दर से अपना बकाया निपटा सकते हैं। इसके लिए वे मूल राशि को भी किस्तों में जमा करवा सकते हैं। वित्त मंत्री ने कहा कि गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार बिजली कनेक्शन कटने उपरांत यदि छह माह के भीतर दोबारा कनेक्शन करवाना चाहते हैं तो उनसे कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा। Gateway विद्युत प्रणाली विंग पुनःसंरचित एपीडीआरपी सौभाग्य योजना – सहज बिजली हर घर योजना उत्तर प्रदेश मुफ्त बिजली कनेक्शन » WELFARE End of conversation केरल अटल जी द्वारा कही गयी 10 बातें जिनके आगे दुनिया नतमस्तक हो गयी Name * फाइनेंशियल प्लानिंगनिवेशटैक्सरिटायरमेंटबीमा RC रेडियो जब पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने मंच पर छू ल‍िए थे इस मह‍िला के पैर प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में भारी गड़बड़ी करने वाले सात अधिशासी अभियंताओं को चार्जशीट Add this video to your website by copying the code below. Learn more तन-मन दिवाली के मौके पर जियो का धन धना धन ऑफर, जानें क्या है प्लान Hindi हिन्दी प्रयोक्ता इंटरफ़ेस देश के दोनों ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में फ्री बिजली कनेक्शन प्रदान किया जाएगा। Subscribe Now! ऊर्जा राज्य मंत्री पुष्पेंद्र सिंह ने दावा किया कि 2019 तक प्रदेश के हर घर को बिजली कनेक्शन दे दिया जाएगा। जंगल या अन्य कारणों से कुछ आबादी क्षेत्र हैं और जहां बिजली नहीं दी जा सकती, उन्हें सौर ऊर्जा से बिजली से जोड़ा जाएगा। ऐसी बसावटों को चिन्हित कर लिया गया है। ऊर्जा राज्य मंत्री ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में 93 लाख घरेलू आवास हैं, उनमें से 67 लाख कनेक्शन दिए जा चुके हैं। 100 से कम आबादी की ढाणियों में दीनदयाल उपापध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत दो साल के भीतर 20 लाख घरेलू बिजली कनेक्शन दिए जाएंगे। वाजपेयी से मेरा आत्मिक रिश्ता, खान से है 35 वर्ष पुरानी दोस्ती :... केरल: बाढ़-बारिश से 9 दिन में 324 लोगों की मौत, 2 लाख से ज्यादा राहत शिविरों में; मोदी करेंगे हवाई सर्वे 12 mins Required fields are marked * ब्रिटेन को आईना दिखाता सैनेटरी पैड का विज्ञापन मुख्य परीक्षा 2018 | प्रारंभिक परीक्षा 2018 | सामान्य अध्ययन | सीसैट वोडाफोन मेयर व डिप्टी मेयर पद के कांग्रेस प्रत्याशियों के लिए दम-खम लगा रहीं महिला समर्थक मनी वाजपेयी के प्रयासों से उनके गांव बटेश्वर को मिली ट्रेन की सुविधा Advertise with Us VIDEO : स्वामी अग्निवेश पर फिर हुआ हमला, जानें कब और कहां इब्ने सफी: खटक रहा था जिसके दिल में एक गुलाब का जख्म फोटो मज़ा मनोरंजन स्पोर्ट्स लाइफस्टाइल ट्रैवल बिज़नस एजुकेशन देश और अख्तर हाशमी जवाब –  देश में अनुमानित लगभग 4 करोड़ बिना बिजली वाले परिवार हैं, जिनमें ग्रामीण क्षेत्रों में लगभग 1 करोड़ बीपीएल परिवार पहले से ही DDUJJY के तहत स्वीकृत परियोजनाओं में शामिल हैं। इस प्रकार, कुल 300 लाख घरों में ग्रामीण इलाकों में 250 लाख घर और शहरी क्षेत्रों में 50 लाख परिवारों को इस योजना के तहत कवर करने की उम्मीद है। 1/6 Subscribe www.bhaskar.com Include media CARSFACTOR saubhagya yojna मंत्री ने कहा कि अब भी कई बिजली वितरण कंपनियों की वित्तीय स्थिति ठीक नहीं है और इसके लिये सरकार स्मार्ट मीटर और प्रीपेड मीटर की व्यवस्था लागू करेगी ताकि बिलों का भुगतान सही तरीके से हो. उन्होंने यह भी कहा कि अक्षय ऊर्जा खरीद समझौता (आरपीओ) और बिजली खरीद समझौते को अनिवार्य किया जाएगा. सब्सिडी का जिक्र करते हुए सिंह ने कहा कि यह प्रत्यक्ष लाभ अंतरण के जरिये दिया जाना चाहिए और एक ग्राहक की कीमत पर दसूरे ग्राहक से अधिक बिजली शुल्क लेने की व्यवस्था क्रास सब्सिडी अधिक नहीं होनी चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि क्षेत्र में तीन-चार कंपनियां होनी चाहिए और ग्राहकों को कंपनी चुनने का विकल्प मिलना चाहिए. नेगी ने बताया कि आयोग ने वितरण टैरिफ में वृद्धि नहीं की है पर टैरिफ संरचना एवं टर्म्स एवं कंडीशंस में कुछ बदलाव किए हैं, जो कि आगामी एक अप्रैल से लागू होंगे। इन बदलाव के तथा होर्डिंंग, ग्लो साईन, एडवरटाईजिंग एवं हाई टेंशन 220 किलो वोल्ट के लिए नई श्रेणी लाई गई हैं। इनके लिए एनडीएस 4 उपभोक्ता श्रेणी का सृजन किया गया है। पी एस एवं एल एफ हेल्पलाइन जवाब – उजाले के लिए मिट्टी के तेल के उपयोग के स्थान पर बिजली का उपयोग होने पर वार्षिक सब्सिडी कम हो जाएगी और पेट्रोलियम उत्पादों के आयात को कम करने में भी मदद मिलेगी। प्रत्येक घर में बिजली, रेडियो, टेलीविजन, इंटरनेट, मोबाइल जैसे सभी तरह के संचारों का बेहतर उपयोग होगा, जिसके माध्यम से हर कोई इन संचार माध्यमों के माध्यम से उपलब्ध सभी तरह की महत्वपूर्ण जानकारी पा सकेंगे,किसान नई और बेहतर कृषि तकनीक, कृषि-मशीनरी, गुणवत्ता वाले बीज आदि का उपयोग करेंगे परिणामस्वरूप कृषि उत्पादन में उल्लेखनीय वृद्धि होगी और जिसके परिणामस्वरूप आय में वृद्धि होगी। किसान और युवक कृषि आधारित छोटे उद्योगों की स्थापना की संभावनाओं का भी पता लगा सकते हैं। रंग-बिरंगी लाइटों और फूलों से सजा प्रियंका का बंगला वैकल्पिक विषय - हिंदी साहित्य क) कक्षा 1 सटीकता के साथ 80A की अधिकतम वर्तमान पावर टैरिफ सब्सिडी योजना के बारे में संक्षिप्त जानकारी – Power Tariff Subsidy Yojna Forgot Password ? जिले का गजेटियर मीटर ऊंचे टॉवर से यह तस्वीर बड़ोग पंचायत के 2 गांवों में फोरलेन निर्माण का मलबा बना लोगों के लिए... नई दिल्ली: बिजली मंत्री आर के सिंह ने सोमवार (25 सितंबर) को कहा कि भारत अगले साल दिसंबर तक सभी घरों को बिजली पहुंचाने का लक्ष्य हासिल कर लेगा. साथ ही सभी गांवों का विद्युतीकरण समय से पहले इस साल दिसंबर तक हो जाएगा. सरकार ने बिजली से वंचित सभी गांवों में एक मई 2018 तक विद्युत पहुंचाने का लक्ष्य रखा है. इसी प्रकार सरकार का मार्च 2019 तक सातों दिन 24 घंटे बिजली पहुंचाने का लक्ष्य है. सभी घरों को बिजली पहुंचाने की ‘सौभाग्य’ योजना शुरू किये जाने के जाने के मौके पर सिंह ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने दिसंबर 2018 का लक्ष्य दिया है. हम इसे करेंगे. यह एक कड़ा लक्ष्य है, लेकिन हम इसे हासिल करेंगे. सभी परिवारों को दिसंबर 2018 तक बिजली मिलेगी.’’ SECTIONS 1 फरवरी 2018 हालांकि औद्योगिक उपभोक्ताओं के लिए यह दर 8.5 से 11.88 प्रतिशत तक बढ़ा कर (सभी सरचार्ज मिलाकर 6.23 रुपए से 7.50 रुपए प्रति यूनिट) कर दी गई है जो हरियाणा में 7.46 रुपए प्रति यूनिट है। परंतु कै. अमरेंद्र सिंह ने कहा है कि ‘‘औद्योगिक उपभोक्ताओं को बिजली मात्र 5 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से दी जाएगी और बाकी अंतर राज्य सरकार उठाएगी।’’ वॉट्सऐप, फेसबुक ग्रुप में पोस्ट हुआ भड़काऊ पोस्ट, तो ऐडमिन के खिलाफ होगी कार्रवा.. Jammu & Kashmir search - पानी की बचत, असमतल भूमि पर भी खेती सिंचाई क्ष्त्रो का विस्तार, फव्वारे द्वारा सिंचाई के साथ ही फसलों पर कीटनाशक दवा का छिड़काव भी संभव- अनुदान योग्य केसेज में अनुदान सुविधा ऋण 10 से 15 वर्ष 11 माह की अनुग्रह अवधि की अवधि । 0 पेंशन और ग्रेच्युटी देनदारियों के कारण लागत कवरेज में गिरावट। Read More: Lakhisarai Bihar Hindi News Jagran Newsविद्युत योजनासात हजारग्रामीण उपभोक्ता आप भी लिखें अजमेर कलेक्ट्रेट पर आशा कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन ईडीएफ यह प्रोजेक्‍ट अरेवा से टेक ओवर करेगी। अरेवा ने यह कॉन्‍ट्रैक्‍ट 2009 में हासिल किया था। ईडीएफ, इसमें 84 फीसदी हिस्‍सेदारी फ्रांस सरकार की है, ने जुलाई 2015 में अरेवा में नियंत्रण हिस्‍सेदारी हासिल करने के बाद इस प्रोजेक्‍ट को अपने हाथ में लिया है। अरेवा, इसमें भी फ्रांस सरकार की बड़ी हिस्‍सेदारी है, इस प्रोजेक्‍ट को शुरू नहीं कर पाई, क्‍योंकि एनपीसीआईएल के साथ प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट को लेकर कुछ विवाद था और स्‍थानीय लोगों भी इस प्रोजेक्‍ट का विरोध कर रहे हैं। जैतापुर भूकंप की दृष्टि से सक्रिय क्षेत्र में स्थित है, इसलिए पर्यावरणविद इससे भारी नुकसान की आंशका जता रहे हैं। फिल्‍मी खबरेंट्रेलरगॉसिपफिल्म समीक्षाइंटरव्यूछोटा पर्दा स्टार टॉक वायरल वीडियो बर्थडे स्पेशल परदेसी सिनेमा नई सेटिंग से छूटेंगे एसी उपभोक्ताओं के पसीने 25.06.2018 वित्त वर्ष में वेतन से ज्यादा होगा पेंशन का भुगतान, जाने ख़ास वज़ह ARCHIVES दक्षिण अफ्रीका98/10(16.4) पंचतत्व में विलीन हुए अटल बिहारी वाजपेयी, बेटी ने दी मुखाग्नि गैस और इलेक्ट्रिक बिल - गैस आपूर्तिकर्ता गैस और इलेक्ट्रिक बिल - सस्ता इलेक्ट्रिक कंपनी गैस और इलेक्ट्रिक बिल - टेक्सास में सस्ता बिजली कंपनियों
Legal | Sitemap