Tags:    GST जीएसटी वस्तु एवं सेवा कर NEW TAX RATE GST PRICE GST RATES GST TAX SLAB जीएसटी की नई टैक्स रेट जीएसटी रेट जीएसटी लागू जीएसटी क्या सस्ता क्या महंगा जीएसटी दर नया टैक्स टैक्स सुधार जीएसटी काउंसिल वैट से जीएसटी  योजना के आसान और त्वरित कार्यान्वयन के लिए, आधुनिक तकनीक का उपयोग मोबाइल ऐप का उपयोग करके घरेलू सर्वेक्षण के लिए किया जाएगा। जिससे लाभार्थियों की पहचान की जाएगी और आवेदक तस्वीर और पहचान प्रमाण के साथ बिजली कनेक्शन के लिए उनका आवेदन स्थान पर दर्ज किया जाएगा August 10, 2018 Akrati Shrivastava Central Govt Schemes, Indian Govt Scheme Jarnail Singh उपभोक्ताओं की संख्या 1.12 करोड़ तक पहुंची : बिजली कंपनी के राजस्व में अप्रत्याशित तौर पर राजस्व संग्रह में बड़े उछाल की वजह उपभोक्ताओं की बढ़ी संख्या को भी माना जा रहा है। प्रदीपन प्रयोगशाला महासचिव, जिला कांग्रेस कमिटी Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen. अजमेर में सेक्स रैकेट का खुलासा, ग्राहक और 3 युवतियां गिरफ्तार Taurus (वृषभ) भजन गाए जा रहै है कीर्तन भी हो रहा है पानी में दर्जनों लोग मौजूद हैं. शहर में विरोध बिजली कंपनी के खिलाफ हो रहा है. शहर में बिजली व्यवस्था की कमान जब से निजी कम्पनी केईडीएल को सौंपी गई थी. एक ही पत्थर की चट्टान से बने इस मंदिर का पांडवों ने करवाया था... संपर्क-निर्देशिका प्रबंधन राजनीति एक ही पत्थर की चट्टान से बने इस मंदिर का पांडवों ने करवाया था... विक्की स्टोर, दु - 62 मार्केट कॉम्प्लेक्स Jharkhand Scheme इस फैसले के अनुसार शिवराज सरकार को वर्तमान में बिजली कंपनियों को 5179 करोड़ रूपए जमा करने के बाद ही इस योजना को लागू करना चाहिए। लेकिन हाईकोर्ट ने पिछले दिनों इस संबंध में दायर उनकी याचिका खारिज कर दी। राज्य सरकार के इस फैसले के पीछे चुनावी लाभ लेने की मंशा स्पष्ट है। लिहाजा, हाईकोर्ट को सरकार से इस योजना लागू करने के लिए अग्रिम राशि जमा करानी चाहिए थी। हाईकोर्ट द्वारा याचिका को खारिज करने के बाद नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच की उम्मीदें सुप्रीम कोर्ट पर टिकीं हैं। इन्हें भरोसा है कि उनकी याचिका दी गई दलीलों से सहमत होते हुए देश की सर्वोच्च अदालत उक्त आदेश को पलटेगी। Required fields are marked * Add your thoughts about any Tweet with a Reply. Find a topic you’re passionate about, and jump right in. Saturday 18 August 2018 By Prabhat Khabar | Updated Date: Apr 28 2018 7:15AM म. प्र. पावर मेनेजमेन्ट क. लि. 2. भारतीय सेना ने 28 सैनिकों की शहादत पर 138 पाकिस्तानी सैनिक मारे आजादी से पहले छह साल की उम्र में अंग्रेजों ने लिया था अटल जी का बयान बहन प्रियंका की सगाई अटेंड करने शूटिंग बीच में छोड़ मुंबई लौंटी परिणीत For Students कल्याण कोष प्रशासन योजना दिल्लीवालों को राहत देते हुए दिल्ली इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमीशन (डीईआरसी) ने बिजली के बिल में राहत दे दी है. बिजली बोर्ड ने बिजली बिल में रीस्ट्रक्चरिंग की है. इसका फायदा सभी कैटेगरी के ग्राहकों को होगा. इस संशोधन में बिजली बिल का फिक्स्ड चार्ज कम बढ़ा दिया गया है और प्रति यूनिट बिजली का बिल घटा दिया गया है. इसका फायदा उन लोगों को मिलेगा जो हर महीने 400 यूनिट से कम इस्तेमाल करते हैं. 3 परीक्षण रिपोर्ट का सत्यापन BIHAR Teacher Resources नई दर से घरेलू उपभोक्ताओं को चार से आठ फीसदी तक राहत दी गई है। चुनावी साल में किसान महंगी बिजली का मुद्दा उठा रहे थे, जिसे देखते हुए आयोग ने किसानों को विशेष रियासत देते हुए 12 फीसदी तक बिजली के दाम कम किए हैं। उपभोक्ताओं को 531 करोड़ रुपये तक की छूट दी गई है। बिजली की नई दर एक अप्रैल से लागू होगी। Bhagalpur Team ABP-C VOTER Survey Review: मध्यप्रदेश में गोवा रिटर्न सरकार | MP ELECTION NEWS परिवादी गंगोत्री पत्नी रामवीर सिंह तोमर निवासी शिवपुरम कॉलोनी ने म.प्र. पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी आनंद नगर के खिलाफ परिवाद पेश किया था। परिवादी ने कंपनी द्वारा अनुमानित रीडिंग का बिल देने और खपत से ज्यादा बिल आने पर कंपनी कार्यालय में शिकायत की। साथ ही मीटर बदलने के लिए आवेदन किया। 18 फरवरी, 2016 को राशि जमा करके नया कनैक्शन लिया लेकिन कम्प्यूटर में जानकारी अपलोड नहीं होने से मार्च तक के बिल जारी नहीं किए। नवम्बर व दिसम्बर 2016 में एवरेज यूनिट खपत के बिल जारी किए। कंपनी ने अनुमानित रीडिंग 5508 यूनिट खपत का बिल दिया जबकि इतनी खपत नहीं है। कंपनी से परेशान होकर उपभोक्ता ने फोरम में परिवाद लगाया। संगठन माधव लाल सिंह विभाग सोलहवां सवाल –  किस तरह से, यह योजना आर्थिक विकास और रोजगार सृजन की सुविधा प्रदान करेगी? करना चाहेंगे इसकी सवारी? ब्‍यूटी पार्लर खोलने के ल‍िए जिसने द‍िए 4 लाख रुपये, मह‍िला ने कर दी उसी की हत्‍.. दिल्ली में जो उपभोक्ता हर महीने 400 यूनिट से कम इस्तेमाल करते हैं उन्हें बिजली के बिल पर 50 फीसदी कम खर्च करना होगा. पतंजलि की सेल्स ग्रोथ में आई नरमी, विदेशी कंपनियां दे रही हैं टक्कर! गोड‍्डा Social icon     वित्तमंत्री ने कहा कि जून-2005 के बाद जिन लोगों ने अपना बिल नहीं भरा है ऐसे गांव बिल भरने के लिए स्वयं आगे आकर अपनी मूल बकाया राशि का भुगतान कर सकते हैं। इसके तहत जिन घरों का लोड एक किलोवाट है वे 1440 रुपये प्रति वर्ष की दर से एकमुश्त अदायगी कर अपने बकाया का निपटान करवा सकते हैं। इसी तरह यदि किसी का लोड दो किलोवाट है तो वे प्रतिवर्ष 2880 रुपये की दर से अपना बकाया निपटा सकते हैं। इसके लिए वे मूल राशि को भी किस्तों में जमा करवा सकते हैं। वित्त मंत्री ने कहा कि गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार बिजली कनेक्शन कटने उपरांत यदि छह माह के भीतर दोबारा कनेक्शन करवाना चाहते हैं तो उनसे कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा। सेहत के लिए किसी टॉनिक से कम नहीं है करेला, जानिए इसके 6 बड़े फायदे App Download सिंहभूम (प) 0:55 पुलिस पर कॉलेज कैंपस में उत्पात मचाने का आरोप,... विभाग के बारे में 404 नहीं मिला, असुविधा के लिए क्षमा करें डायबिटीज, ब्‍लड प्रेशर और कैंसर की दवाओं के तय होंगे दाम Drop the Immigration Charges Against Marco Senghor, Community Leader and Bay Area Icon 2560023990खरीदे यदि किसी भी स्तर पर यह पाया जाता है कि आवेदक ने किसी भी झूठी सूचना के आधार पर पावर टैरिफ सब्सिडी का दावा किया है तो आवेदक को 12 प्रतिशत वार्षिक की दर से ब्याज की चक्र दर के साथ सब्सिडी राशि वापस करने के अलावा कानूनी कार्रवाई का सामना करना होगा और उसे राज्य सरकार से किसी भी प्रकार का प्रोत्साहन या सहायता प्राप्त करने से वंचित कर दिया जाएगा। नि वि औद्योगिक सेवा 2 8.62 0.28 8.34 8.39 7.86 Jio Phone 2 की पहली फ्लैश सेल आज 12 बजे... सब्सक्राइब करें न्यूज़कोड का डेली न्यूज़लेटर 9ट्रेंडिंग बोलीदाता सूचना प्रबंधन प्रणाली, भूमि राशि तथा लोक वित्त प्रबंधन प्रणालीAug 09, 2018 बाइक सुनील ग्रोवर मकर Top Posts & Pages बिहार : मोतिहारी में प्रोफेसर की पिटाई, जिंदा जलाने की कोशिश, अटल को बताया था संघी BIHAR Rohtas पावर टैरिफ सब्सिडी योजना के पात्र होने की शर्ते – Power Tariff Subsidy Yojna निजीकरण को बढ़ावा मिलेगा? जिले की अब तक कि सबसे बड़ी विद्युत प्रसारण योजना का काम अब अपने अंतिम पड़ाव पर है। 400 केवी डबल सर्किल बाड़मेर से भीनमाल तक की 144 किलोमीटर लंबी लाइन में 399 हाई टेंशन टॉवर लगने के कार्य हो रहे हैं। 139.02 करोड़ रुपए की इस परियोजना में अब तक 377 टॉवर लग चुके हैं। राजस्थान राज्य विद्युत प्रसारण निगम बाड़मेर के निर्माण कार्य विभाग के सहायक अभियंता सवाई सिंह खत्री के अनुसार बाड़मेर के गेहूं गांव में जिले इकलौते 400 केवी सब स्टेशन से भीनमाल तक की इस 400 केवी डबल सर्किल बाड़मेर से भीनमाल लाइन का काम जुलाई 2016 में शुरू हुआ था। यह काम अगस्त में पूरा हो जाएगा। डिस्कॉम की कनिष्ठ अभियंता स्नेहा राजपुरोहित के मुताबिक इस काम की नियमित मॉनिटरिंग की जा रही है। इस काम के पूरे हो जाने के बाद बाड़मेर भीनमाल-सिरोही, उदयपुर से देबारी विद्युत चक्र से जुड़ जाएगा। यहां की उत्पादित विद्युत के त्वरित प्रसारण के साथ निर्बाध बिजली सप्लाई होगी। ASK EXPERTS यूएस एक्सचेंज CoinMKT एपीआई लॉन्च करता है, USD / Dogecoin ट्रेडिंग जोड़ता है 07-Apr-16 09:40 सौभाग्य योजना के लिए केंद्र सरकार से 60% अनुदान राज्यों को मिलेगा, जबकि राज्य अपने कोष से 10% धन खर्च करेंगे और शेष 30% राशि बैंकों से बतौर ऋण लेनी होगी।  Privacy Policy | About Us | Contact Us देश अभी-अभी दुनिया राजनीति फ़ेकिंग न्यूज़ बाजार राजधानी में चुकनगुनिया और डेंगू ने तो स्वास्थ्य विभाग के साथ-साथ नगर निगम की पोल खोल दी है। ऐसी ही स्थिति शिक्षा को लेकर है जहां सरकारी प्राथमिक विद्यालयों को मर्ज करने को लेकर सियासी बवाल मचा हुआ है। साथ ही बच्चों को पढ़ाने के लिए बहाल किए गए पारा टीचरों की स्थिति सबके सामने हैं, जो वर्षों से अपने मूल कार्य को करने के लिए आंदोलित है। पेयजल प्रबंधन परिदर्शक सं. 4612 || पिछला अद्यतनीकरण : 16-Aug-2018 आप यहाँ हैं: बिज़नेस CONNECT WITH US श्रीलंका ने दक्षिण अफ्रीका को 3 रनों से हराया (डी/एल मेथड) VIDEO: बीजेपी पर बरसीं महबूबा मुफ्ती, लगाया ये बड़ा आरोप सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2022 तक पांच करोड़ नए घर बनाने का लक्ष्य रखा है जिनमें से तीन करोड़ ग्रामीण और शहर के बाहरी इलाकों में बनाए जाएंगे. उदय: राज्य विद्युत् विभाग की भागीदारी का ज्ञा. 13th जनवरी 2016 OMG हज़ारीब़ाग Previous पूरक परीक्षण सुविधा Ad Choices Viral Stories इस वेबसाइट की अंतर्वस्‍तु केन्‍द्रीय विद्युत अनुसंधान संस्‍थान, विद्युत मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा प्रकाशित एवं व्‍यवस्थित है। बिजली स्विच करें - और जानने के लिए यहां क्लिक करे बिजली स्विच करें - ऊर्जा की कीमतों की तुलना करें बिजली स्विच करें - सस्ता ऊर्जा
Legal | Sitemap