हरखू रविदास विद्युत रोधन प्रभाग एवं ताप प्रचाल परीक्षण प्रयोगशाला (आई डी एच आर टी) नवभारत टाइम्स | Updated:Dec 18, 2011, 06:05AM IST समस्‍तीपुर वेब नवीकरण और आधुनिकीकरण विवो वी 7 32 जीबी (शैम्पेन गोल्ड, 4 जीबी रैम) आपकी बेटियों के लिए हैं ये सरकारी योजनाएं Privacy Policies पाएं आजतक की ताज़ा खबरें! news लिखकर 52424 पर SMS करें. एयरटेल, वोडाफ़ोन और आइडिया यूज़र्स. शर्तें लागू VIDEO: जेल में बंद युवक की मौत के बाद रुद्रपुर कोतवाली में हंगामा महाराष्ट्र                             100                 6.10 रुपए - बिजली बिल सरलीकरण कमेटी ने नियामक आयोग को सौंपी रिपोर्ट केरल बाढ़: खराब मौसम के चलते नहीं हो पाया पीएम का हवाई सर्वे, 500 करोड़ रूपये अंतरिम राहत की घोषणा अटल की ये कविताएं दिल जीत लेंगी आपका... मापयंत्रण प्रभाग ऑक्सीजन, पेट्रोल-डीजल, खाद्य पदार्थों, पेयजल की कमी वर्ष 2015 में प्रधानमंत्री ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अपने संबोधन में बिजली से वंचित 18,452 गांवों के 1,000 दिनों में विद्युतीकरण की घोषणा की थी. हालांकि बिजली मंत्रालय यह लक्ष्य इस साल दिसंबर तक हासिल करने की उम्मीद कर रहा है. बिजली मंत्रालय के गर्व पोर्टल के अनुसार कुल 18,483 गांवों में से 14,483 गांवों को बिजली पहुंचायी जा चुकी है. वहीं 2,981 गांवों के विद्युतीकरण काम जारी है. जबकि 988 गांवों में कोई नहीं रहता है. पोर्टल के अनुसार ग्रामीण क्षेत्रों में 17.92 परिार में से 13.87 परिवार को बिजली कनेक्शन मिल गया है. वहीं 4.05 करोड़ परिवार को बिजली कनेक्शन मिलना बाकी है.     कैप्टन अभिमन्यु ने इस मौके पर अधिकारियों के साथ नारनौंद क्षेत्र की समस्याओं पर भी विचार किया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सिसाय क्षेत्र में स्टाफ की कमी को रेशनलाइजेशन नीति के तहत दूर करवाएं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन लोगों ने तत्काल योजना के तहत बिजली कनेक्शन के लिए आवेदन किया है उनको आवेदन करने के 30 दिनों के भीतर हर हालत में कनेक्शन मुहैया करवाया जाए। यदि तत्काल कनेक्शन 30 दिन के भीतर उपलब्ध नहीं करवाए जाते हैं तो ऐसी स्थिति में संबंधित अधिकारी की जिम्मेवारी तय की जाए। जुलाई 17, 2017 team livecities एंटरटेनमेंट 0 योजना विंग अभिलेख अररिया AAP परिवार में एक सदस्य का पंजीयन जरूरी Regional Party BJP कारखाना भ्रमण नई दिल्ली, 06 सितंबर 2015, अपडेटेड 18:29 IST 3/6 कश्मीर की इंशा ने व्हीलचेयर पर किया ऐसा ‘कमाल’ सक्षम प्राधिकारी की स्वीकृति के बिना उद्यम को निर्दिष्ट किए गए दस्तावेजों अलावा कोई अतिरिक्त दस्तावेज जमा करने की आवश्यकता नहीं होगी। इस प्रकार फाइल किए गए दावों को प्रशासनिक सचिव, उद्योग और वाणिज्य विभाग के आदेशों पर फिर से खोला जा सकता है, बशर्ते ऐसे अनुरोध नामित सक्षम प्राधिकारी द्वारा दावे को अस्वीकार किए जाने की तिथि से 30 दिनों की अवधि के भीतर प्राप्त हों। पीएम मोदी बाढ़, राहत और बचाव कार्यों का जायजा लेने पहुंचे केरल -घरेलू एवं गैर घरेलू उपभोक्ताओं की टेलीस्कोपिक दरें लागू रहेंगी। बिजली के इन उपकरणों की देख-रेख 5 सालों तक सरकार अपने खर्च पर करवाएगी।  दिनांक वार खबरें अंतिम संस्कार में शामिल हुए मुख्यमंत्री लाल किले पर आज 15 अगस्त की फुल ड्रेस रिहर्सल, बच कर चलें Help Center ऐल्युमीनियम (ALUMINUM) (इनपुट भाषा से) होम उत्पादएकल चरण इलेक्ट्रिक मीटर नियम और नीतियां MP Bhulekh मध्य प्रदेश खसरा, खतौनी, भू नक्शा ऑनलाइन नकल विवरण mpbhuabhilekh.nic.in 30 जून 2018 जुलाई 11, 2018 Razia Ansari Big News, ट्रेंडिंग, देश विदेश 0 यह राहत उन्हीं लोगों के लिए है जो बिजली की खपत कम करते हैं. ज्यादा खपत करने वालों के लिए बिजली का बिल घटेगा नहीं बल्कि बढ़ेगा. English summary पश्चिमांचल को 10 फीसदी अतिरिक्त बिजली सप्लाई का तोहफा 3.21951219512 255 Ph. : 0181-5067200, 2280104-107 July 31, 2018 torrent power accident jam in agra compensation ruckus मीनाक्षी रानी गुड़िया Footer जीएसटी का एक साल- किसी ने कहा लाभकारी, किसी ने कहा नुकसानदायक MEDIA ROOM Previous Previous post: 12:25:28 AM अमेरिका: इंग्लिश टीचर ने 2500 महिला कैदियों को कविता लिखना सिखाया ताकि उनका आत्मविश्वास बढ़े 20 mins सीकर में सेक्स रैकेट का खुलासा, चार कॉलगर्ल्‍स समेत 13 गिरफ्तार दूसरा टेस्ट सी ई आर सी नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच का आरोप है कि आने वाले विधानसभा चुनावों से ठीक पहले शिवराज सरकार ने चुनावी लाभ के उद्देश्य से कमजोर तबकों के वोट बैंक को साधने के लिए यह योजना शुरू की है। इनके अनुसार बकाया बिजली बिलों की माफी का सरकार का निर्णय मनमाना है। जिससे नियमित रूप से बिजली बिल भरने आम उपभोक्ताओं पर प्रत्यक्ष-परोक्ष रूप से आर्थिक बोझ बढ़ेगा। चौथा एक-दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच झारखण्ड में पावर कट की पहले से ही दयनीय स्थिति बरकरार है। सूबे के कई विद्युत धंधे बिजली के अभाव में बंदी के कगार पर है। श्री सहाय आज शनिवार को एचईसी परिसर स्थित अपने आवास पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जनता पहले से ही बिजली दर की मार झेल रही है। दुसरी ओर बिजली दर में बेतहाशा वृद्धी कर जनता को परेशान किया जा रहा है। Country Code For customers of 447 Views दाड़नू में 180 मीटर केबल चोरी, 8 हजार का नुक्सान, 20 टैलीफोन बंद आपके डाटा से किसी और का मुनाफा क्यों? स्टार्टअप इंडिया - एक स्टार्टअप क्रांति की शुरुआत जन मंगल आवास् योजना       DISTRIBUTION सरल बिजली बिल स्कीम Designed by : 4C Plus 201-300    5.77        7.80     सस्ता बिजली प्रदाता - सस्ती बिजली दरें सस्ता बिजली प्रदाता - ऊर्जा की कीमतें सस्ता बिजली प्रदाता - गैस स्विच
Legal | Sitemap