संपादकीय प्रदेस महासचिव युवा काँग्रेस सह अध्यक्ष युवा लायंस फोर्स 13 प्रधान मंत्री आवास योजना (शहरी) विशेष राज्यों के लिए केंद्र सरकार योजना का 85% अनुदान देगी, जबकि राज्यों को अपने पास से केवल 5% धन लगाना होगा और शेष 10% बैंकों से कर्ज़ लेना होगा। life1 day ago मांडू विधायक अजमेर जिला परिषद में आयोजित हुई स्वच्छता पर कार्यशाला नौवां सवाल –  इस योजना को पूरे देश में कैसे लागू किया जाएगा? पहली बार परफॉरमेंस के आधार पर सस्ती बिजली: बिजली कंपनियों के परफॉरमेंस के आधार पर रेग्युलेटरी सरचार्ज में कटौती कर बिजली सस्ती देने वाला उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य बन गया है। नियामक आयोग के चेयरमैन देशदीपक वर्मा ने कहा कि जो कंपनियां लाइन लॉस कम करने में पिछड़ गई उन्हें खामियाजा भुगतना पड़ा। आगे भी यह प्रतिस्पर्धा जारी रहेगी। VIDEO : प्राकृतिक आपदा से जूझता केरल, आसमान से दिखा बाढ़ का भयावह नजारा Math question 1 + 12 = Chinese (Simplified) 简 Catch up instantly on the best stories happening as they unfold. नई दिल्ली, 28 जुलाई 2017, अपडेटेड 20:21 IST योजना की पात्रता शर्तों इस प्रकार हैं – उस उद्यम को राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर अधिसूचित प्रतिबंधित सूची में न रखा गया हो। इसके अलावा, सब्सिडी जारी करने के समय उद्यम नियमित उत्पादन कर रहा हो और यह सब्सिडी बंद इकाइयों को जारी नहीं की जाएगी। योजना रिपोर्ट जुलाई से 200 रुपए महीने में बिल Jara Hatke अक्टूबर 26, 2017 अरुण कुमार सोनी   1 2 3 4 5 प्रखंड विकास पदाधिकारी पूर्वी टुण्डी बाजार में उछाल, सेंसेक्स 100 और निफ्टी में 30 अंक.. गौरतलब है कि ऊर्जा मंत्रालय इस पर तैयार किए गए मसौदे पर विशेषज्ञों से अंतिम चर्चा कर रहा है। माना जा रहा है कि जल्द वह इस पर आगे कदम बढ़ाएगा। VIDEO : ओवैसी के पार्षद ने वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने का किया विरोध, भाजपा पार् सिंह ने कहा कि जलाशयों में सौर परियोजनाएं लगाने के लिये अधिकारियों की एक टीम भाखड़ा नांगल गयी ताकि यह पता लगाया जा सके कि वहां कितनी क्षमता की परियोजनाएं लगायी जा सकती है. अपतटीय क्षेत्र में सर्वे का काम जारी है. ‘‘ इन सब उपायों से हम 2022 तक अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में लक्ष्य से अधिक 2,00,000 मेगावाट क्षमता सृजित करने की उम्मीद कर रहे हैं.’’ उल्लेखनीय है कि सरकार ने 2022 तक अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में 1,75,000 मेगावाट बिजली उत्पादन का लक्ष्य रखा है. August 18,2018 10:26:48 AM हम बिजली सस्ती भी देंगे और पूरी भी जरूर पढ़ें Your email address will not be published. Required fields are marked * बढ़ रही है घरेलू स्वास्थ्य सेवाओं की भूमिका Related News फीफा विश्व कप पी.सी.एस. परीक्षा मॉडल पेपर मनोरंजन   ⁄  Dehradun बिजली बिल भरने पर ये कंपनी दे रही इनाम, 31 दिसंबर तक है समय नया हरियाणा : 10 अगस्त 2018 अंबानी के ब्रॉडबैंड प्लान से मार्केट में हलचल योजना के घटक मुख्य लिंक अपनी राय दें भाजपा ने डाली कांग्रेस नेताओं की रेस्त्रां की फोटो Share Facebook Twitter Circulars BIRTHDAY SPECIAL: 84 साल के हुए हदय सम्राट गुलजार साहब, देखिए उनके कुछ बेहतरीन गानेंसच ही तो है। जिदंगी SAVE SAL'S PLACE, PROVINCETOWN करौली हरियाणा की कुल स्थापित और अनुबंधित बिजली उत्पादन क्षमता 11,342.42 मेगावाट है। इसमें 8,322.84 मेगावाट बिजली कोयले से बनती है। 1,953.13 मेगावाट बिजली का उत्पादन हाइड्रो प्लांट, 673.12 मेगावाट बिजली गैस, 100.93 मेगावाट परमाणु और 292.4 मेगावाट नवीकरणीय ऊर्जा से बनती है। यानी 24.67 फीसद बिजली राज्य की खुद की है। संयुक्त क्षेत्रीय प्रोजेक्ट बीबीएमबी से 7.47 फीसद बिजली हरियाणा के पास आती है। केंद्रीय ऊर्जा क्षेत्रीय उपक्रम (सीपीएसयू) इकाइयों से 26.64 फीसद और बाहरी आइपीपी (स्वतंत्र निजी निर्माताओं) से 41.20 फीसद बिजली मिलती है। देवघर : बाबा नगरी से भी जुड़ी हैं अटल बिहारी... COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS All content on this website is published कानपुर में बस की टक्कर से पलटा लोडर, होमगार्ड समेत 3 की मौत इस पोस्ट को शेयर करें X अनाथालयों और वृद्धाश्रम को मिलेगी सस्ती बिजली जैतापुर प्रोजेक्‍ट को दुनिया का सबसे बड़ा न्‍यूक्लियर कॉन्‍ट्रैक्‍ट माना जा रहा है और यह दुनिया की सबसे बड़ी न्‍यूक्लियर साइट भी है। 10,000 मेगावाट्स के इस प्रोजेक्‍ट में छह रिएक्‍टर्स होंगे, जिनमें प्रत्‍येक की क्षमता 1650 मेगावाट होगी। भारत सरकार ने 2017 तक 17,400 मेगावाट न्‍यूक्लिर पावर जनरेशन का लक्ष्‍य रखा था, जिसमें से वह केवल 30 फीसदी लक्ष्‍य ही हासिल कर पाई है। दक्षिण अफ्रीका187/9(21.0) अब पाइए अपने शहर ( Shahdol News in Hindi) सबसे पहले पत्रिका वेबसाइट पर | Hindi News अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Patrika Hindi News App, Hindi Samachar की ताज़ा खबरें हिदी में अपडेट पाने के लिए लाइक करें Patrika फेसबुक पेज बड़ा सवाल : क्या यही है वाजपेयी के सपनों का झारखंड ? जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन! सुभाष चन्द्र परमानिक www.livehindustan.com 13 आगस्त 2017, 09:31 PM संपादकीय विवरणिका खास बात यह है कि नवंबर में यूपीसीएल ने नए टैरिफ का जो प्रस्ताव भेजा था, उसके अनुसार बिजली दरें 15 फीसदी तक बढ़ाई जानी थी. करीब तीन महीने तक प्रदेश में जनसुनवाई के बाद आयोग ने बिजली की नई दरों को मंज़ूरी दे दी है. सस्ता ऊर्जा - ऊर्जा कंपनियों की तुलना करें सस्ता ऊर्जा - ऊर्जा स्विच करें सस्ता ऊर्जा - बिजनेस बिजली
Legal | Sitemap