कुंजी धार्मिक कथा सार्वजनिक उपयोगिताएँ दिल्ली में 50% सस्ती हुई बिजली शाहजहाँपुर कॉम पोर्ट: आईआर ऑप्टिकल, आरएस 485 Gold Price पर्यावरण की सुरक्षा मोबाईल सेवाएं रिलायन्स ने खुद की ही कंपनी से सस्ती बिजली खरीद कर दूसरी कंपनी को मंहगी बिजली बेच कर, जनता को लूटा #DiscomFactspic.twitter.com/pb1jCcVpt9 ગુજરાતી परशुराम महादेव का दो दिवसीय मेला शुरू सुरक्षा के लिए लगाए 400 से अधिक जवान उम्र सीमा: 35 साल भाजपा सरकार ने पूरा किया हिसार में एयरपोर्ट का वादा: कैप्टन अभिमन्यु हालांकि पटना में एएन सिन्हा इंस्टिट्यूट में अर्थशास्त्र के प्रोफ़ेसर डीएम दिवाकर शराब, बिजली, रियल एस्टेट और पेट्रोलियम को जीएसटी से बाहर रखने की वजह केंद्र सरकार की कमज़ोरी मानते हैं. एनबीटी न्यूज, सेक्टर 23 3 0 उदय का प्रभावित क्रियान्वयन। (उदय यानी उज्ज्वल डिस्कॉम एश्योरेंस योजना बिजली वितरण कंपनियों को घाटे से उबारने के लिए 2015 में शुरू की गई है।) # SBI Q1 Results 2018# IKEA Jobs# Air India# Bank Holidays 2018# Sensex Today# Jet Airways# ITR Filing Status# How to File ITR# HRA Exemption# ITR Filing Online #Ind VS Eng सामान्य अध्ययन प्रश्नपत्र- 2: शासन व्यवस्था, संविधान, शासन प्रणाली, सामाजिक न्याय तथा अंतरराष्ट्रीय संबंध आॅफ द रिकार्ड: जब PM मोदी ने महिला सांसद को वीडियो रिकॉर्डिंग करने पर डांटा होमलाइव टीवीवीडियोताज़ातरीनबड़ी ख़बरदेशविदेशज़रा हटकेक्रिकेटबिजनेसबॉलीवुडटेलीविजनब्लॉगफोटोअन्य SAT, AUG 18, 2018 MAI 0% टैक्स आॅफ द रिकार्ड: जब PM मोदी ने महिला सांसद को वीडियो रिकॉर्डिंग करने पर डांटा जीजा करता था साली से दरिंदगी, साली ने प्रेमी के साथ मिलकर कर दी हत्या मध्य प्रदेश पी.सी.एस. कृषि योजनायें मैनुअल-3 & 4 आपदा और राजधानी आवेग धारा प्रयोगशाला Hindi कृष्ण प्रमाणिक Nai Dunia कल फिर उत्तरप्रदेश में मोदी की रैली वाजपेयी से मेरा आत्मिक रिश्ता, खान से है 35 वर्ष पुरानी दोस्ती :... कॉर्पोरेट मायावती सबसे डरपोक: दयाशंकर (Hindi News from Navbharat Times , TIL Network) पुलिस पर कॉलेज कैंपस में उत्पात मचाने का आरोप,... Next : मंगलनाथ के पुजारी को कारण बताओ सूचना-पत्र जारी, आर्थिक अनियमितता की जांच बैठाई, जांच होने तक पूजा करवाना प्रतिबंधित फीफा विश्व कप महाराजगंज कॉलेज विद्यार्थियों के लिये टिप्स ग्वालियर. 25 अप्रैल 2017 को बिजली कंपनी के मुख्य महाप्रबंधक के ऑफिस में जहर खाकर जान देने वाले बिजली ठेकेदार रवींद्र सिंह जादौन की हर बात सच थी. वे खुद 9 साल बिजली कंपनी से अपने किए गए काम का पौने चार लाख रुपए मांगते रहे. सीएम से लेकर हर बिजली अधिकारी से शिकायत की लेकिन किसी ने नहीं सुनी. जब वे पूरी तरह टूट गए तो जान दे दी. अब मजिस्ट्रियल जांच रिपोर्ट में ठेकेदार के काम को होना पाया गया है और एडीएम शिवराज वर्मा ने बिजली कंपनी के मुख्य महाप्रबंधक को ठेकेदार के कार्य का पैसा तत्काल जारी करने के आदेश भी दे दिए हैं. 10 साल के इंतजार के बाद अब परिवार को भुगतान के आदेश मिले हैं. वार्षिक रिपोर्ट हालांकि 2016 में शुरू किए गए दूसरे चरण के लक्ष्य जिसके तहत 2020 तक एक करोड़ युवाओं को प्रशिक्षित करना है, सरकार के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रही है. दूसरे चरण के तहत 60 लाख युवाओं को नए सिरे प्रशिक्षित करना था और 40 लाख युवाओं को ‘रिकॉगनिशन ऑफ प्रायर लर्निंग (आरपीएल) प्रोग्राम’ के लिए प्रमाणित करना था. कुंभ Saharsa उपस्‍कर सुविधाऍं हमसे कड़ी जोड़े उदय योजना ने बिजली वितरण कंपनियों के नुकसान को कम किया है।  भारत में लॉन्च हुआ लग्जरी कार से भी महंगा क्रूज़र मोटरसाइकिल अक्टूबर 25, 2017 सब्सक्राइब करें न्यूज़कोड का डेली न्यूज़लेटर Ideaplex केंद्रीय ऊर्जा मंत्रालय ने इसी महीने विभिन्न् राज्यों की 41 बिजली कंपनियों और बोर्ड की रैकिंग जारी की है। इसमें बिजली चोरी के मामले में कुख्यात माने जाने वाले बिहार की दोनों व उत्तर प्रदेश की एक कंपनी की स्थिति यहां से बेहतर है। महाराष्ट्र के लोगों को बिजली दर में बढ़ोतरी का झटका ‘मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूं: लौटकर आऊंगा, कूच से क्यों डरूं?’ खन्ना अटल बिहारी वाजपेयी: एक राजनेता का राजनीतिक सफर “स्वाधीनता पर्व” की संध्या पर सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित, विधायक डॉ.मोहन यादव हुए शामिल Back to top ↑ LinkedIn Learn the latest जमीनी विवाद में मारी गोली, मौके पर मौत Nov 24, 2017, 08:50 PM IST त्‍वरित विद्युत विकास एवं सुधार कार्यक्रम (एपीडीआरपी) रिपोर्ट ताज़ा खबर Video Interests Mi A2 खरीदने वालों के लिए खुशखबरी, Xiaomi ने जारी किया सिक्योरिटी पैच और कैमरा अपग्रेड 18 mins CONNECT WITH US Promoted by 48 supporters Ceiling Fans शादी का झांसा देकर 5 वर्ष तक दुष्कर्म Kerala Scheme सुभाष ठाकुर ने कहा-  अटल बिहारी वाजपेयी का हिमाचल से था विशेष लगाव सीखें जरा : गोठ एप से जानिए कैसे हुनरमंद बन रही है बेटियां प्रोजेक्ट रिव्‍यू Previous articleपत्नी का इलाज कराने जा रहे बाइक चालक की सड़क हादसे में दर्दनाक मौत कार्टून नवीकरणीय ऊर्जा के पावर टैरिफ में भारी कमी आई है।  Copyright © Prabhasakshi.com. All Rights Reserved. Jaipur,India Quick Rubric – Easily Make and Share Great-Looking Rubrics Ukrainian Українська 28 जुलाई 2018 अपना सुझाव दें कर्मचारी संगठनों ने किया स्वागत सेहत जल उपलब्धता के आधार पर कृषकों को सिंचाई कार्य के लिए नलकूपों से जल दोहन हेतु डीजल/विद्युत पम्प सैट के लिए 9 वर्ष हेतु ऋण उपलब्ध- सुरक्षा उपकरण: एमसीबी # BJP 18 अगस्त, 2018 Monday 30 July , 2018 विवाह प्रमाण-पत्र यौन शोषण का आरोपी फरार Sections मारवाड़ी कॉलेज की गायब छात्रा का जला हुआ शव कैरो से बरामद June 17, 2018 जनसत्ता विशेष ગુજરાતી SShare कोटा/ हिमांशु मित्तल: राजस्थान के कोटा में बिजली कंपनी को भगाने के लिए लोगो ने जल सत्याग्रह शुरू कर दिया है. दर्जनों लोग चंबल नदी में उतर गए हैं और कोटा की बिजली कंपनी KEDL को कोटा से हटाने की मांग जल सत्यग्रह के जरिए कर रहै हैं. चंबल नदी में लगातार KEDL GO BACK के नारे ही सुनाई दे रहे हैं. Latest NewsView All User Profile 5 होम » वीडियो सफलता की कहानी जानिए किसने दी बाजपेयी को मुखाग्नि posted on August 18, 2018 जबलपुर। फीडर सेपरेशन, सिस्टम स्टेबलिंग सहित अरबों रुपए का काम लेने वाली नौ और कंपनियां बिजली कंपनी का काम छोड़कर भाग गई हैं। इससे पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी को तगड़ा झटका लगा है। बिजली कंपनी ने सभी कंपनियों को टर्मिनेट कर दिया है। इससे पहले जबलपुर सिटी सर्किल में डेढ़ अरब से भी ज्यादा का काम लेने वाली नई दिल्ली की यूबी कंपनी (जिसके कर्ताधर्ता विजय माल्या थे) ने अपना बोरिया बिस्तर समेटकर बिजली कंपनी को चूना लगाया था। बिजली कंपनी के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक प्रत्यय अमृत व एनटीपीसी के सीएमडी गुरदीप सिंह ने संयुक्त प्रेस वार्ता में कहा कि 17 अप्रैल को कैबिनेट ने इन बिजली घरों को एनटीपीसी को देने पर सहमति दी थी। एमओयू पर हस्ताक्षर एनटीपीसी के डायरेक्टर कॉमर्शियल एके गुप्ता व कंपनी के प्रबंध निदेशक आर लक्ष्मणन ने किया। करार होने के बाद बरौनी से 684 करोड़ , कांटी से 54.69 करोड़ और नवीनगर से 136 करोड़ कुल 865 करोड़ सालाना बचत होगी। करार के समय मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, सीएम के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव अतीश चंद्रा व मनीष कुमार वर्मा, विशेष सचिव अनुपम कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। ताज़ा खबर Web Title: सबसे बड़ी बिजली कंपनी शुरू करेगी भारत में न्‍यूक्लियर पावर प्रोग्राम May 2018 कुम्भ राशि वालों की आर्थिक स्थिति अच्छी रहेगी। आलस्य का त्याग करना चाहिए। कार्य में सफलता मिलने के......Read more डाक संभाग के 16 शहरों में आईपीडीएस योजना के तहत सुधार कार्य हो रहे हैं। शहडोल जिले मे धनपुरी, बुढ़ार, जयसिंह नगर, ब्यौहारी, बाणसागर टाऊन में 146.54 लाख से विद्युत सुदृढि़करण के कार्य प्रारंभ हो चुके हैं। इन सभी टाऊनों में 33/11 केवी के उपकेंद्रों की मरमम्त, क्षमता वृद्धि। 33 और 11 केवी की नई लाइनें, नई निम्न दाब की लाइने डालने के अलावा मीटर लगाने का कार्य भी चल रहा है। इसके अलावा उमरिया और अनूपपुर जिले के शहरों में भी यही कार्य शुरु हो चुके हैं। पर एक साल बीत जाने के बाद भी कार्य में उतनी गति नहीं दिख रही है। इस योजना में भी सभी शहरों में 26 करोड़ के विद्युत कार्य हो रहे हैं। भारतीय राजनीति का ध्रुवतारा थे अटल, इन दुर्लभ तस्वीरों में देखें उनके जीवन के कुछ यादगार पल September 14,2017 05:01:02 PM ख़बरें अब तक डिवाइस निगम ने निजी सिंचाई क्षेत्रों के लिए बिजली की दर  बढ़ा कर 5.25 रुपये करने की अनुशंसा की है. वहीं, राज्य के लिए सिंचाई की  नयी दर छह रुपये प्रति किलोवाट करने का आग्रह किया है ई आई तथा श्रव्यद रव मापन news20 hours ago Box Office: 'गोल्ड' ने पहले दिन बना लिया यह शानदार रिकॉर्ड, 'सत्यमेव जयते' का दमदार आग़ाज़ Related Videos जिले के बारे में पेरेंट्स गाइड बड़ा सवाल : क्या यही है वाजपेयी के सपनों का झारखंड ? A heavy coat of dust on a light bulb can block up to half of the light produced by it. अप्रैल में जीएसटी संग्रह 94,000 करोड़ रुपये @AamAadmiParty जनता को वेवकूफ बनाना बुस यही काम बाकि रह गया है बिजली कंपनियो का #DiscomFacts झारखण्ड के पेयजल एवं स्वच्छता विभाग में केंद्रीय एवं राज्य योजनाओं की विवरणी लेकिन इस योजना पर बहुत ही धीमी गति से काम बढ़ रहा है. शहरी आबादी के लिए दो करोड़ मकान बनाने के लक्ष्य में से दिसंबर 2017 के आखिरी तक सिर्फ 4.13 लाख मकान ही तैयार हो पाए थे और 15.65 लाख मकान निर्माणाधीन थे. रेडियो सोलर पावर कंपनियों के बीच छिड़ेगी प्राइस वार नई दिल्ली: बिजली मंत्री आर के सिंह ने सोमवार (25 सितंबर) को कहा कि भारत अगले साल दिसंबर तक सभी घरों को बिजली पहुंचाने का लक्ष्य हासिल कर लेगा. साथ ही सभी गांवों का विद्युतीकरण समय से पहले इस साल दिसंबर तक हो जाएगा. सरकार ने बिजली से वंचित सभी गांवों में एक मई 2018 तक विद्युत पहुंचाने का लक्ष्य रखा है. इसी प्रकार सरकार का मार्च 2019 तक सातों दिन 24 घंटे बिजली पहुंचाने का लक्ष्य है. सभी घरों को बिजली पहुंचाने की ‘सौभाग्य’ योजना शुरू किये जाने के जाने के मौके पर सिंह ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने दिसंबर 2018 का लक्ष्य दिया है. हम इसे करेंगे. यह एक कड़ा लक्ष्य है, लेकिन हम इसे हासिल करेंगे. सभी परिवारों को दिसंबर 2018 तक बिजली मिलेगी.’’ प्रदेश सोशल मिडिया प्रभारी भाजयुमो नॉएडा से गोरखपुर सिर्फ 10 घंटे में पहुंचाएगा देश का सबसे लम्बा एक्सप्रेसवे उत्पादन KEEP IN TOUCH WITH US रणनीति आपके डाटा से किसी और का मुनाफा क्यों? Use the search bar at the top to find what your looking for. बीजेपी मुख्यालय के बाहर अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर लोग नारे लगा रहे है More From NBT Gadgets Updates Hindi Latest Gadgets Updates Hindi News, Latest Gadgets POPULAR CATEGORY LATEST VIDEO ×Close परीक्षण प्रभार में छूट नरेश दिवाकर को लंबे समय तक हेल्दी जीवन जीना है तो अपनाएं 6 मंत्र 26 अगस्त को है रक्षाबंधन, जानिए शुभ मुहूर्त अधीक्षण अभियंता ने कहा संयंत्र में एक हीट स्टोरेज टैंक भी है. यह इस प्रोजेक्ट का असली आविष्कार है जो इस प्रोजेक्ट के असर को 50 से 70 प्रतिशत बढ़ा देता है. साइकिल में हवा भरने वाले पंप की तरह हवा को कंप्रेस करने के दौरान गर्मी पैदा होती है जिसे ये हीट स्टोरेज टैंक जमा कर लेता है. जब हवा को जेनरेटर के जरिए छोड़ा जाता है तो तापमान गिर जाता है. उस समय हीट स्टोरेज टैंक की गर्मी जेनरेटर को ठंडा होने से बचाती है. State Govt Schemes स्नाताकोत्तर छात्रों के लिए छात्रवृत्ति योजना मुख्य खबरें 404 Error सारण बिजली की लागत - ऊर्जा प्रदाता बिजली की लागत - इलेक्ट्रिक कंपनी प्रदाता बिजली की लागत - ह्यूस्टन बिजली
Legal | Sitemap