To Top मो शामिम राज्य के कई जिले पांचवी अनुसूचि के दायरे में आते हैं जहां ग्राम सभा का गठन कर विकास करने का प्रावधान है, लेकिन आखिर इस कानून का पालन क्यों नहीं किया जा रहा है। राज्य के लिए यह एक बड़ा सवाल है। सदस्‍यता देसीमार्टीनी The Prime Minister Shri Narendra Modi has launched a new scheme Pradhan Mantri Sahaj Bijli Har Ghar Yojana –“Saubhagya” to ensure electrification of all willing households in the country in rural as well as urban area. दिल्ली और एनसीआर ePaper Ideas for your classroom पवन और सौर ऊर्जा क्षेत्र में उत्पादन क्षमता की नीलामी योजना की रूपरेखा पेश किये जाने के मौके पर उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम हर घर को सातों दिन 24 घंटे बिजली देने के लिये काम कर रहे हैं और इसका पूरा दायित्व बिजली वितरण कंपनियों पर होगा. इसे लागू करने के लिये जो भी सहायता की जरूरत होगी, हम देंगे.’’ मंत्री ने कहा, ‘‘देश में बिजली वितरण को लेकर पहले से सेवा बाध्यता है, इसे और स्पष्ट बनाया जाएगा. देश में बिजली की कोई कमी नहीं है, हमारी पारेषण प्रणाली मजबूत है. राज्य के अंदर पारेषण की जरूर समस्या है, जिसे दूर करने के लिये राज्यों के साथ काम किया जा रहा है.’’ उन्होंने कहा, ''अगर इन चारों वस्तुओं को इस जीएसटी के दायरे में रखा जाता तो अच्छा रहता. इन चारों वस्तुओं का मार्केट में बड़ा असर होता है.'' माकअप टावर Videos Gallery हिंदीதமிழ்বাংলাമലയാളം मराठीENGLISH सिद्धू इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में लाहौर पहुंचे। विशेष दिवस यह रहेंगे नियम SavePreview Petitions promoted by other Change.org users नवंबर 2015 में रोशनी घर जोन के 10 फीडरों पर 33 लाख 24 हजार यूनिट बिजली की आपूर्ति की, लेकिन 29 लाख 92 हजार यूनिट बिजली उपभोक्ताओं तक पहुंच पाई। 3.32 लाख यूनिट बिजली लाइन लॉस हो गई। अत: कुल 29 लाख 92 हजार यूनिट का बिजली का बिल जारी होना था, लेकिन जोन ने ऐसा नहीं किया। 45 लाख 82 हजार यूनिट का बिल जारी कर दिया। श्रेयांश कुमार बारां © 2018 सी-डैक. सर्वाधिकार सुरक्षित This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions. न्यूज़ अंकीय नियंत्रक सहित एकल अक्ष प्रवर्धक Sitemap ऊर्जा विभाग Tumblr Jitender sharma Jul 03, 2018 04:20 AM ArchiveNews सहचारी स्थायिक युक्त 1000 केएन सार्वत्रिक परीक्षण मशीन संभागायुक्त एवं कलेक्टर द्वारा कोठी पर झंडा वन्दन किया गया अलविदा अटल: बेटी नमिता ने दी मुखाग्नि, राजकीय सम्मान के साथ हुआ वाजपेयी का अंतिम संस्कार Design & Developed by Information & Computer Section @2014 R.S.L.D.B. Ltd सड़कों पर शोर का अध्यात्म ईडीएफ के सामने भी हैं सवाल 6kV CNN name, logo and all associated elements ® and © 2017 Cable News Network LP, LLLP. A Time Warner Company. All rights reserved. CNN and the CNN logo are registered marks of Cable News Network, LP LLLP, displayed with permission. Use of the CNN name and/or logo on or as part of NEWS18.com does not derogate from the intellectual property rights of Cable News Network in respect of them. © Copyright Network18 Media and Investments Ltd 2016. All rights reserved. वेट लॉस अटल जी के यह 9 निर्णय जिन्होंने देश की किस्मत बदल दी अपलोड आरटीआई ऑनलाईन सोलर रुफटाप को सरकार दे रही है बढ़ावा     इसके लिए उन्होंने विद्युत विभाग के अधिकारियों को गांव-गांव जाकर जागरूकता कैंप लगाकर लोगों को इस योजना के बारे में बताने को कहा ताकि वे इसका लाभ उठा सकें। इसके साथ-साथ इन शिविरों में ढाणियों में बिजली उपलब्ध करवाने के लिए सौभाग्य योजना की भी जानकारी लोगों को देने के संबंध में उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि आवेदक इस योजना की अधिसूचना की तिथि से 15 अगस्त, 2015 तक की अवधि की प्रतिपूर्ति के लिए इस योजना की अधिसूचना जारी होने की तिथि से छ: महीनों के भीतर दावा आवेदन जमा करा सकते हैं। हालांकि, आवेदक को वित्तीय वर्ष की तिमाही समाप्त होने के बाद छ: महीनों केभीतर प्रत्येक तिमाही के लिए दावे प्रस्तुत करने होंगे। अन्यथा आवेदक की पावर टैरिफ सब्सिडी की पात्रता समाप्त हो जाएगी। विस्तृत उत्पाद विवरण वास्‍तविक काल अंकीय अनुकारक प्रोजेक्ट रिव्‍यू -ग्रामीण क्षेत्रों में निम्न दाब की लघु उद्योग की इकाईयों को ऊर्जा प्रभार में 5 फीसद छूट। बिजली कंपनी के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक प्रत्यय अमृत व एनटीपीसी के सीएमडी गुरदीप सिंह ने संयुक्त प्रेस वार्ता में कहा कि 17 अप्रैल को कैबिनेट ने इन बिजली घरों को एनटीपीसी को देने पर सहमति दी थी। एमओयू पर हस्ताक्षर एनटीपीसी के डायरेक्टर कॉमर्शियल एके गुप्ता व कंपनी के प्रबंध निदेशक आर लक्ष्मणन ने किया। करार होने के बाद बरौनी से 684 करोड़ , कांटी से 54.69 करोड़ और नवीनगर से 136 करोड़ कुल 865 करोड़ सालाना बचत होगी। करार के समय मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, सीएम के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव अतीश चंद्रा व मनीष कुमार वर्मा, विशेष सचिव अनुपम कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। राजस्‍थान Arvind Kejriwal युगलकिशोर मुखी फीडबैक: फीडबैक भेजें NewsCode Jharkhand | 28 April, 2018 5:04 PM देखें बीते सालों में बिजली उत्पादन में हुई वृद्धि (स्रोत: CEA) Ent Hastakshep United Kingdom 86444 Vodafone, Orange, 3, O2 अस्वीकरण और नीतियां इमेज कॉपीरइट PTI अब बिजली कंपनी में अनुकंपा नियुक्ति शुरू पर्यटक स्थल शिक्षा विभाग को पता नहीं: 17 अगस्त अवकाश है | MP NEWS Air Conditioner vs Air Purifier: Which is better for Air Purification? कंधार हो या कारगिल, कभी विचलित नहीं हुए अटल जी : यशवंत सिन्हा छपरा अभी फैशन में है Indo-Western लुक की जूलरी, नया कलेक्शन लाए हैं चांद बिहारी ज्वैलर्स सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी लेख के अनुसार, बिजली कंपनियों के बयान से खनिकों की सामान्य भावना को प्रतिबिंबित नहीं होता है। खनिकों का मानना ​​है कि बिटकॉइन के संचालन 'त्याग किए गए पानी' का उपयोग कर रहे हैं - पानी जो बिना बिजली के उत्पादन के चलते जाते हैं, यही वजह है कि मूल्य काफी कम है। सिंचाई : 70 पैसे की जगह देने होंगे पांच रुपये प्रति यूनिट Read More: Lakhisarai Bihar Hindi News Jagran Newsविद्युत योजनासात हजारग्रामीण उपभोक्ता 1.3 किलो मिलते-जुलते मुद्दे रू-ब-रू / अतिथि कॉलम बक्‍सर पैसा About Us English summary Fit News18 States Similar Posts साझा कीजिए 0-50        2.65        6.15     Blogs विभागीय ई-फॉर्म्स उपभोक्ताओं को छूट Updated: 5- बून्द-बून्द सिंचाई योजना.. बेगूसराय में ठनका गिरने से 3 बच्चों की दर्दनाक मौत, परिवार में मचा कोहराम आपका ज़िला अयोध्या विवाद : सुप्रीम कोर्ट से ही तय होगा राम मंदिर का भविष्य यह रहेगी बिल माफी की शर्तें 650 मीटर से ज्यादा दूरी वालों को कनेक्शन दूसरे फेज में : Promoted by 24 supporters राज्य शासन की ओर से पिछले दिनों गरीब लोगों को २०० रुपए प्रतिमाह में बिजली देने तथा बीपीएल उपभोक्ताओं के बिल माफ करने की घोषणा की गई थी। अब इस घोषणा को लेकर बिजली कंपनी को निमयों के तहत आदेश जारी कर दिए हैं। इसमें जुलाई माह से ही दोनों योजनाओं का फायदा उपभोक्ताओं को दिया जाना है। योजना के तहत बीपीएल उपभोक्ताओं के अब तक मूल व सरचार्ज दोनों राशि माफ हो जाएगी। कंपनी के अधिकारी बता रहे हैं कि शहर में ८० हजार घरेलू कनेक्शन हैं। इसमें करीब ३५ हजार बीपीएल उपभोक्ता हैं, जिन्हें योजना का फायदा मिलेगा। फिलहाल बीपीएल के बकायादार उपभोक्ताओं की विस्तृत जानकारी कंपनी के पास नहीं है। अमूमन बीपीएल श्रेणी में ९० फीसदी उपभोक्ता पर बकाया होना बताया जा रहा है। वहीं बिल माफी में उन बीपीएल उपभोक्ताओं की चांदी भी हो जाएगी, जिन पर बिजली चोरी के प्रकरण दर्ज हैं। ऐसे उपभोक्ताओं के सारे बिल माफ हो जाएंगे। अनुसूचित जाति/ जनजाति अधिकार मंच ने किया अजमेर कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन 2016-17 2704 करोड़  This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions. आयात अनुरोध अटलजी को श्रद्धांजलि देने जा रहे अग्निवेश की भाजपा मुख्यालय के बाहर पिटाई 10 mins पटना | बिजली कंपनी में 2000 पदों पर बहाली होगी। इसमें 800 पदों पर सामान्य विषय से स्नातक करने वाले आवेदन कर सकेंगे। इनके लिए सहायक, सहायक भंडार पाल और पत्राचार लिपिक के पद होंगे। अर्थशास्त्र व गणित से स्नातक करने वाले जूनियर अकाउंट क्लर्क के 250 पदों के लिए और इंजीनियरिंग करने वाले जेई इलेक्ट्रिक व सिविल के 400 पदों के लिए आवेदन कर सकेंगे। आईटीआई पास बटन पट चालक व जूनियर लाइन मैन के 600 पदों के लिए आवेदन कर सकेंगे। अकाउंट ऑफिसर के 20 और असिस्टेंट प्रोफेशनल ऑफिसर के 20 पदों पर भी भर्ती होगी। विज्ञापन अगले माह आएगा। आवेदन व परीक्षा ऑनलाइन होगी। साक्षात्कार नहीं होगा। POPULAR POSTS National Party BJP रुद्र प्रयाग कार्ड प्रीपेमेंट एकल चरण इलेक्ट्रिक मीटर, सर्ज संरक्षण वायरलेस पावर मीटर ऊर्जा लागत की तुलना करें - बिजली दरों की तुलना करें ऊर्जा लागत की तुलना करें - मेरे पास बिजली प्रदाता ऊर्जा लागत की तुलना करें - बिजली सप्लायर की तुलना करें
Legal | Sitemap