100 से अधिक       3.15 के ई आर सी संपूर्ण परियोजनाओं की सूची ग्रामीण नवाचार By: Inextlive | Publish Date: Sat 10-Mar-2018 03:17:17 PM (IST) नई बिजली दर के मुताबिक अब 200 यूनिट तक बिजली इस्तेमाल करने पर चार रुपये की बजाय तीन रुपये प्रति यूनिट की दर से भुगतान करना होगा, जबकि 201 से लेकर 400 यूनिट तक बिजली का उपयोग करने पर 5.95 रुपये की बजाय 4.50 रुपये प्रति यूनिट की दर से बिल देना होगा. इसके अलावा 401 से लेकर 800 यूनिट तक के बिजली के बिल का भुगतान 7.30 रुपये की बजाय 6.50 रुपये प्रति यूनिट, 801 से लेकर 1200 यूनिट तक का भुगतान 8.10 की बजाय सात रुपये प्रति यूनिट और 1200 यूनिट तक के बिजली बिल का भुगतान 8.75 रुपये की बजाय 7.75 रुपये प्रति यूनिट की दर से करना होगा. प्रकृति एवं प्रक्रिया प्रीलिम्स फैक्ट्स प्रकाश अग्रवाल सोशल मीडिया विवाह प्रमाण-पत्र चरणबद्ध तरीके से जीएसटी के दायरे में लाए जाएंगे पेट्रोलियम उत्पाद, अधिया ने...   ⁄  City News गोड‍्डा Related Articles मोदी ने 2014 के आम चुनावों के प्रचार के दौरान नौकरी देने का वादा किया था. लेकिन सत्ता में आते उन्होंने पलटी मारते हुए कहा कि वो युवाओं को नौकरी देने की बजाए उन्हें नौकरी सृजित करने वाला बनाना चाहते हैं. लेकिन अर्थशास्त्री मोदी सरकार के इस यू-टर्न से सहमत नहीं हैं. वे इसे एक मुद्दे को भटकाने वाली चाल के रूप में देखते हैं. इस तरह के लोन बहुत कम समय के  लिए रोजगार तो पैदा कर सकते हैं लेकिन पूर्ण-कालिक रोजगार नहीं. Jammu अगली कहानी हसीन जहां नहीं, सिर्फ अपनी बेटी का खर्च उठाएंगे मोहम्‍मद शमी, कोर्ट से मिली बड़ी राहत Block AAP J&K‏ @AAPJammuKashmr 18 Aug 2015 फीडबैक: फीडबैक भेजें Blogs कीर्ति आज़ाद के निलंबन के बाद बीजेपी नेताओं में मची… क्या होंगी नई दरें? Bollywood Libra (तुला) हमसे संपर्क करें: [email protected] "https://www.PunjabKesari.in:443" के लिए Allow चुनें। Change Contact Number 02018-07-17T12:11:03 CompareIndia Contact US सफल इंडिया सिंदरी सरकार द्वारा नियमों में ढील देने पर कंपनियों को अपने किसी भी ऊर्जा संयंत्र से बिजली आपूर्ति करने का रास्ता खुल जाएगा। ऐसे में उसे ग्रिड से खरीद नहीं करनी पड़ेगी, जिससे बिजली की कीमतें देश में एक समान होंगी और कीमतों में कमी आएगी।   Article ऊधम सिंह नगर श्री राम नवमी समारोह फॉर्म प्रेषित समय :08:53:32 AM / Wed, Jun 13th, 2018 Health News एम ओ पी अन्य खबरें योजनाएं पेयजल समर्थनकारी एवं संप्रेषण कार्यनीति सम्बन्धी रुपरेखा 2013-2022 यादृच्छिक लेख चिंतपूर्णी में दंडवत होकर पहुँच रहे श्रद्धालु गपशप ऊधम सिंह नगर Forgot Password ? 3:07 AM - 4 Jun 2018 from New Delhi, India @AamAadmiParty Nautanki again, If @Kejariwal got some Ba**s, cancel the contracts of these companies. Stop politics. द वायर आपका, आपके लिए और आपके सहयोग से चलने वाला पत्रकारिता संस्थान है. इसे बचाए और बनाए रखने में सहयोग करने के लिए क्लिक करें. » स्कूल में छड़ी से पीटते थे मौलवी साहब, जब मंत्री बना तो... किस्सा सुनाते हुए भावुक हुए राजनाथ सिंह Top तिरछी नज़र सौभाग्य योजना के लिए केंद्र सरकार से 60% अनुदान राज्यों को मिलेगा, जबकि राज्य अपने कोष से 10% धन खर्च करेंगे और शेष 30% राशि बैंकों से बतौर ऋण लेनी होगी।  सोशल This timeline is where you’ll spend most of your time, getting instant updates about what matters to you. Katihar पड़ोसी राज्यों की तुलना में पहले नंबर पर है प्रदेश  टेस्ट सीरीज Press alt + / to open this menu किसी भी राज्य सरकार के पास बिजली की दरें घटाने की अथॉ़रिटी नहीं है। डीईआरसी पावर टैरिफ की दरें निर्धारित कर सकता है। हालांकि सीएजी द्वारा पावर कंपनियों के ऑडिट की क्या रिपोर्ट निकलकर आती है इस पर नजर रखनी होगी।   (ब्यूरो कार्यालय) भिण्ड (साई)। मध्य प्रदेश में शहीदों को राज्य शासन द्वारा दी जाने वाली सम्मान निधि में से 60 प्रतिशत राशि शहीद आईएफएस VIDEO: भाजपा पार्षद को नेतागिरी करना पड़ा महंगा, महिलाओं ने जमकर की धुनाई आजमगढ़ अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये पंजाब केसरी की अन्य रिपोर्ट। पेट्रोल-डीजल के बाद अब महंगी होगी बिजली, 102,458 Views 162 Likes पावर डाटा प्रबंधन प्रभाग SUPPORT ईंधन प्रबंधन प्रभाग Pan card 12:27:03 AM कैलेंडर 2018 11 अगस्त 2018 साप्ताहिक निबंध प्रतियोगिता अकबरपुर Care Today अग्रवाल ने कहा कि गरीबों को बिजली का मुफ्त कनेक्शन दिया जाएगा, जिससे करीब 2 करोड़ उपभोक्ता बढ़ेंगे. लाइफ ओके EVENTS Nawada साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में सरकार द्वारा की गई पहलAug 01, 2018 MEDIA ROOM ये एक्सटर्नल लिंक हैं जो एक नए विंडो में खुलेंगे उक्त अधिकारी के मुताबिक निजी बिजली कंपनियों को काफी समय से शिकायत है कि उनको सस्ती दरों पर कर्ज़ नहीं मिल पाता है। इन सब समस्याओं को दूर करने के लिए मंत्रालय ने राज्य में काम कर रही बिजली कंपनियों और वहां काम करने की इच्छुक बिजली कंपनियों को बैठक के लिए बुलाया है। सूत्रों के मुताबिक राज्य में बिजली कंपनियों को कर्ज की सुविधा देने के लिए मंत्रालय के अधिकारी पावर फाइनेंस कॉरपोरेशन (पीएफसी) और रूरल इलेक्ट्रिफिकेशन लिमिटेड (आरईसी) के अधिकारियों को भी साथ लेकर जा रहे हैं।(स्रोत-दैनिक भास्कर) पतंजलि की सेल्स ग्रोथ में आई नरमी, विदेशी कंपनियां दे रही हैं टक्कर! 800 करोड़ रुपए का निवेश करेगी सुपरटेक, इस साल ग्राहकों को 10,000 फ्लैट देने का लक्ष्य About Md. Saheb Ali 3099 Articles उत्तराखंड में एक अप्रैल से बिजली महंगी   मो शामिम Read More: Lakhisarai Bihar Hindi News Jagran Newsविद्युत योजनासात हजारग्रामीण उपभोक्ता DW अकादमी पूरे वर्ष का राजस्व संग्रह 8000 करोड़ पर पहुंचा : बिजली कंपनी के आकलन के अनुसार शनिवार को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष राजस्व संग्रह 8000 करोड़ तक पहुंच गया है। फरवरी तक यह 6700 करोड़ रुपए था और मार्च में देर शाम तक 1300 करोड़ रुपए के राजस्व संग्रह की रिपोर्ट मिल चुकी थी। जबकि पूर्व के वित्तीय वर्ष में बिजली कंपनी का राजस्व 5800 करोड़ रुपए था। बिजली कंपनी ने इस राशि में सरकार द्वारा उपभोक्ताओं को सब्सिडी मद में उपलब्ध कराए जाने वाली राशि नहीं जोड़ी है। यह राशि लगभग 3000 करोड़ रुपए है। डीडब्ल्यू अड्डा सास-बहू के जिस्मफरोशी के धंधे से उठा पर्दा, रंगे... जीवन मंत्र विभाग Ad: Godrej Emerald इंस्पेक्टर ताजगंज और टोरंट अधिकारी पहुंच गए। ग्रामीण मुआवजे को लेकर हंगामा करते रहे। शाम पांच बजे समझौता होने पर शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा सका।  International वाजपेयी के निधन पर अमेरिकी दूतावास ने भी जताया शोक अटल बिहारी के निधन पर 7 दिन का राष्ट्रीय शोक,कल बंद रहेंगे स्कूल-कॉलेज भाजपा सरकार ने पूरा किया हिसार में एयरपोर्ट का वादा: कैप्टन अभिमन्यु ‹ › PREV google + गोपनीयता नीतिविकिपीडिया के बारे मेंअस्वीकरणडेवेलपर्सकुकी का वर्णनमोबाइल दृश्य August 11, 2018 at 12:17 pm योजना ट्रांसफार्मर, तार और मीटर जैसे उपकरणों पर सब्सिडी प्रदान करेगी। दुमका : इंडोर स्टेडियम दुमका में अरविन्द प्रसाद की अध्यक्षता में झारखंड राज्य विद्य्नुत नियामक... Careers Remember Me More From Patna Italiano प्रश्नपत्र IV सुधेड़ में पलटा पंजाब के श्रद्धालुओं का वाहन, 3 घायल पावर परचेज मैकेनिजम : आरडब्लूए प्रतिनिधि अनिल सूद ने कहा कि बिजली कंपनियां सरप्लस बिजली किस रेट पर बेच रही हैं और किस रेट पर खरीद रही हैं, इसे ट्रांसपेरेंट होना चाहिए और पब्लिक स्क्रूटनी के लिए खुला होना चाहिए। अगर पावर एक्सचेंज में बिजली 3 रुपये प्रति यूनिट बिक रही है और दिल्ली की कंपनियां उसे 2 रुपये में बेच रही हैं तो पब्लिक इसकी मॉनिटरिंग करेगी और गड़बड़ी की गुंजाइश नहीं रहेगी। उप प्रमुख, बेंगाबाद नाबार्ड का सर्वे, किसानों की आमदनी में हुई 37 फीसदी की बढ़ोतरी Motihari Hindi News/ politics3 hours ago टावर तथा उपसाधन माफ़ कीजिए आप जो खबर ढूंढ रहे हैं , वह उपलब्ध नहीं है News | Aug 14, 2018 अधिनियम मूवी मस्ती Gujarati Videos विदेश961 कर्क ( इस वेबसाइट से जुड़ा कोई भी सुझाव देने के लिये 8130392355 नम्बर पर वाट्सएप मैसेज भेजें। ) business # National News Subscribe to Newsletter क्या वाकई एक राष्ट्र एक टैक्स है? July 20, 2018 घरेलू (ग्रामीण) डीएस वन(0-200 यूनिट) 1.60  4.75 मुख्यमंत्री ने किया डायल १०० मोटरबाइक का सुभारम्भ आज से मध्य-प्रदेश में डायल १०० बाइक्स सेवा शुरू Hindi Samachar जवाब – उजाले के लिए मिट्टी के तेल के उपयोग के स्थान पर बिजली का उपयोग होने पर वार्षिक सब्सिडी कम हो जाएगी और पेट्रोलियम उत्पादों के आयात को कम करने में भी मदद मिलेगी। प्रत्येक घर में बिजली, रेडियो, टेलीविजन, इंटरनेट, मोबाइल जैसे सभी तरह के संचारों का बेहतर उपयोग होगा, जिसके माध्यम से हर कोई इन संचार माध्यमों के माध्यम से उपलब्ध सभी तरह की महत्वपूर्ण जानकारी पा सकेंगे,किसान नई और बेहतर कृषि तकनीक, कृषि-मशीनरी, गुणवत्ता वाले बीज आदि का उपयोग करेंगे परिणामस्वरूप कृषि उत्पादन में उल्लेखनीय वृद्धि होगी और जिसके परिणामस्वरूप आय में वृद्धि होगी। किसान और युवक कृषि आधारित छोटे उद्योगों की स्थापना की संभावनाओं का भी पता लगा सकते हैं। PreviousNext Uttarakhand News ई-पेपर▼ कक्षा कार्यक्रम 300 मीटर ऊंची उत्तर भारत की बुर्ज खलीफा बनकर तैयार, नजीब जंग का भी बनेगी ठिकाना 54 mins दिल्ली आज तक चीन दरभंगा जानें, बढ़ती उम्र के बच्चों पर किन ग्रहों का होता है कैसा असर? किसानों को बर्बाद करने में मशगूल भाजपा के मंत्रियों को ढोलकी पर नचाएंगें : अभय चौटाला एक जुलाई से लागू इस स्कीम का बिल अगस्त में आयेगा। घर में बल्ब, पंखा एवं टी.वी चलाने के लिए प्रारंभिक रूप से बिलिंग खपत अधिकतम 100 यूनिट रखी जायेगी। स्कीम में लाभ के लिये मुख्यमंत्री संबल योजना में पंजीकृत श्रमिकों को आवेदन-पत्र विद्युत वितरण कंपनी के निकटतम कार्यालय/कैम्प में जमा करना होगा। स्व-घोषणा आवेदन-पत्र पर इस स्कीम का लाभ दिया जायेगा। लाभ श्रम विभाग में पंजीयन की वैधता जारी रहने तक उपलब्ध होगा। यदि कोई पात्र हितग्राही विद्युत उपभोक्ता अर्थात् जिस व्यक्ति के नाम बिजली कनेक्शन है के परिवार का सदस्य है और उपभोक्ता के साथ ही रहता है, तो ऐसे कनेक्शन पर भी स्कीम का लाभ दिया जायेगा। इसके लिए उपभोक्ता का नाम परिवर्तन आवश्यक नहीं होगा, परन्तु परिवार का सदस्य उन्हीं व्यक्तियों को माना जाएगा, जिनके नाम समग्र डाटाबेस में एक परिवार के रूप में अंकित हो। यदि किसी पात्र हितग्राही के निवास स्थान का बिजली कनेक्शन उसके नाम पर न होकर किसी अन्य के नाम पर है तथा पात्र हितग्राही उसे अपने नाम करवाना चाहता है, तो विद्युत कंपनी पूरी जानकारी देते हुए सहायता और मार्गदर्शन करेगी। न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Updated Wed, 21 Mar 2018 01:02 PM IST डेढ़ साल में 10 हजार फ्लैट दे देंगेः सुपरटेक बिजली कनेक्शन होगा सस्ता पंचतत्व में विलीन हुए अटल, बेटी नमिता ने भारत रत्न पूर्व पीएम वाजपेयी को दी मुखाग्नि More From News उत्पाद का नाम: मिनी एकल चरण इलेक्ट्रॉनिक सक्रिय वाट घंटे मीटर बिजली चुनें - स्थानीय इलेक्ट्रिक कंपनी बिजली चुनें - मेरे पास सस्ता बिजली बिजली चुनें - ऊर्जा लागत की तुलना करें
Legal | Sitemap