June 14, 2018 पशुपालन 15 अगस्त से पहले दिल्ली में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम पर ग्राउंड रिपोर्ट आठवां सवाल –  राज्यों को धन के आवंटन के लिए क्या मानदंड है? प्रियंका के घर जश्न का माहौल, रोका सेरेमनी के लिए पहुंचे पंडित जी स्वस्थ रहने के लिए बहुत जरूरी हैं ये विटामिन सी से भरपूर खाद्य पदार्थ Asian Games 2018: नई इबारत लिखने की कोशिश करेंगे भारतीय दल के खिलाड़ी इन्फोपैक पड़ताल: बिना अध्यापकों के कैसे पढ़ रहे हैं बच्चे? VIDEO: अटल जी का पुश्तैनी घर बना खंडहर, परिजनों ने बताया ऐसा है हाल पत्रकारों को 'बच्चा' कहते थे अटल जी, मैनेजिंग एडिटर अजय कुमार के साथ खास बातचीत 404 नहीं मिला, असुविधा के लिए क्षमा करें नागरिक चार्टर भागलपुर के पीरपैंती व लखीसराय के कजरा में 1320-1320 मेगावाट का थर्मल पावर प्लांट लगना था लेकिन अब राज्य सरकार ने दोनों जगहों पर सोलर पावर प्लांट लगाने का निर्णय लिया है.राज्य कैबिनेट ने इसे मंजूरी भी दे दी है. दोनों जगहों पर ढाई-ढाई सौ मेगावाट का सोलर पावर प्लांट लगना है.  Hariom nagar एडवांस्ड सर्च राज्य सरकार ग्रामीण क्षेत्र के उपभोक्ताओं को 3.10 रुपये प्रति यूनिट, तो शहरी क्षेत्र के घरेलू उपभोक्ताओं को 1.48 रुपये प्रति यूनिट सब्सिडी देगी. मालूम हो कि राज्य विद्युत विनियामक आयोग ने 24 मार्च को बिना सब्सिडी के बिजली दरों का एलान किया था, जिसमें औसतन 55% का इजाफा किया गया था. इसके बाद उसी दिन देर शाम मुख्यमंत्री की ओर से सब्सिडी जारी रखने का एलान किया गया था. अब सब्सिडी के एलान के बाद बिजली दरों में मात्र 20 फीसदी वृद्धि होगी. सदन में मुख्यमंत्री ने कहा कि अब बिजली बिल में प्रति यूनिट बिजली आपूर्ति लागत और सरकार द्वारा दी गयी सब्सिडी का अलग-अलग ब्योरा दिया जायेगा. यांत्रिक परीक्षण प्रयोगशाला हिमाचली लाल सोने पर अमरीका के सेब का आज भी बना खतरा फैन्स का इंतजार खत्म, शुरू हुई ऋतिक-टाइगर की फिल्म की शूटिंग, कुछ ऐसा होगा इनका रोल Contact Us Save Electricity Show — उपयोगी कड़ियाँ Hide — उपयोगी कड़ियाँ प्रपत्र 3 months ago power bill इमारान खान ने पाकिस्तान के 22वें पीएम के रूप में ली शपथ 2 mins निबंध मंडी अजमेर में मंगलवार को कांग्रेस ने बिजली के बिलों में बेतहाशा वृद्धि को लेकर टाटा पावर के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया. सैकड़ों कांग्रेसी कार्यकर्ता रैली के रूप में सिटी पावर हाउस पहुंचे जहां उन्होंने पहले तो जमकर नारेबाजी की और बाद में विरोध जताते हुए रास्ता जाम कर दिया. प्रदर्शन कर रहे कांग्रेसियों और पुलिस के बीच टकराव की स्थिति भी पैदा हुई. लेकिन बाद में माहौल को शांत किया गया. प्रदर्शकारियों ने कहा कि जब से टाटा पावर ने शहर की बिजली व्यवस्था को संभाला है तब से लगातार बिजली के बिलों में बढ़ोतरी की जा रही है जिससे आम आदमी परेशान हो चुका है. (अजमेर से अभिजीत दवे की रिपोर्ट) मीटर वजन Follow @thewirehindi Jet Airways की बोर्ड बैठक 27 अगस्त को, जून तिमाही के नतीजों पर होगा... Trending Now लुधियाना अभी सिंचाई कार्यों के लिए 70 पैसे से 1.20 रुपये प्रति किलोवाट की दर  निर्धारित है. आयोग ने इसके लिए बिजली दर बढ़ा कर पांच रुपये प्रति यूनिट  निर्धारित कर दिया  Updated: संध्या पूजा करते समय बरतें ये सावधानियां, होंगे कई लाभ कृत्यों के निर्वाहन हेतु नियम आवृत्ति नोट: बिहार राज्य का टैरिफ वर्ष 2017-18 के लिए है, जबकि अन्य राज्यों का टैरिफ वर्ष 2016-17 पर आधारित है.  केंद्र सरकार ने सभी गांवों के विद्युतीकरण के लिए प्रधान मंत्री सहज बिजली हर घर योजना शुरू की है, यह उन लोगो के लिए है जो अभी भी बिना बिजली के रह रहे हैं। सौभाग्य योजना के कार्यान्वयन के लिए अगले दो वर्षों में सरकार 17,000 करोड़ रु की राशि का उपयोग करेगी इस योजना का उद्देश्य देश के सभी ग्रामीण और शहरी परिवारों को फ्री बिजली कनेक्टिविटी प्रदान करना है। मंथन मुख्य परीक्षा का फॉर्म कैसे भरें? आरा   1 2 3 4 5 Publish Date:Sat, 03 Jun 2017 01:00 AM (IST) Promoted by 48 supporters बिजली कंपनी के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक प्रत्यय अमृत व एनटीपीसी के सीएमडी गुरदीप सिंह ने संयुक्त प्रेस वार्ता में कहा कि 17 अप्रैल को कैबिनेट ने इन बिजली घरों को एनटीपीसी को देने पर सहमति दी थी। एमओयू पर हस्ताक्षर एनटीपीसी के डायरेक्टर कॉमर्शियल एके गुप्ता व कंपनी के प्रबंध निदेशक आर लक्ष्मणन ने किया। करार होने के बाद बरौनी से 684 करोड़ , कांटी से 54.69 करोड़ और नवीनगर से 136 करोड़ कुल 865 करोड़ सालाना बचत होगी। करार के समय मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, सीएम के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव अतीश चंद्रा व मनीष कुमार वर्मा, विशेष सचिव अनुपम कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। संत कबीर नगर मनमोहन सिंह के कार्यकाल में हासिल हुई सर्वाधिक 10.08 % वृद्धि दर: रिपोर्ट समाचार की सदस्यता लें (c)    Better health services पाकिस्तान के अंतरिम कानून मंत्री ने सुषमा स्वराज से मुलाकात की नागरिक अधिकार ऐसे बनाएं इंस्टेंट जलेबी कंप्रेस्ड एयर प्लांट बनाने से इलाके के लैंडस्केप में कोई बदलाव नहीं दिखता. पहाड़ के अंदर होने वाला बदलाव भी ज्यादा नहीं होता. गिव जंगानेह के मुताबिक, "यहां पांच मीटर मोटा कंक्रीट का गेट है जो गुफा में जमा हवा के दबाव को नियंत्रण में रखता है. पहाड़ एयरटाइट है. पहाड़ में पानी का निरंतर प्रवाह रहता है जिससे अंदर की हवा बाहर नहीं निकलती." अन्य स्पोर्ट्स अंटार्टिका में बर्फ से आता है खून! लाइव हिन्दुस्तान टीम BILASPUR DENGUE परशुराम महादेव का दो दिवसीय मेला शुरू सुरक्षा के लिए लगाए 400 से अधिक जवान प्रबंधन / निपटान कार्यवाही करियर / सिरोही DW के बारे में बोलीविया की माली हालत खस्ता, लेकिन राष्ट्रपति ने अपने लिए 238 करोड़ रु. में बनवाया 29 मंजिला घर 20 mins फेक वेबसाइट, फेक रिजल्ट! रेलवे जॉब के नाम पर ऐसे लूटे लाखों रुपये अमरीका Inhalt 1:37 विशेष दिवस कर्नाटक: CM कुमारस्वामी करेंगे बाढ़ पीड़ित क्षेत्रों का दौरा Topic/ वैकल्पिक विषय प्रश्नोत्तर पहला पन्‍ना English लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप Previous Next बेसिक चालू कैथल Tennis FOLLOW US ON अन्य स्पोर्ट्स Lucknow News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए NBT के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें # Dehradun News Live आपकी बेटियों के लिए हैं ये सरकारी योजनाएं MURFREESBORO RESIDENTS FOR BLACKMAN PARK दुनिया August 18,2018 10:29:18 AM Have an account? राकेश पाल सिंह को Justice For Noura | Don't execute Noura for self defense against the man who raped her! वेबसाइट नीतियां Radio City प्रायोगिक लाइन नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच का आरोप है कि आने वाले विधानसभा चुनावों से ठीक पहले शिवराज सरकार ने चुनावी लाभ के उद्देश्य से कमजोर तबकों के वोट बैंक को साधने के लिए यह योजना शुरू की है। इनके अनुसार बकाया बिजली बिलों की माफी का सरकार का निर्णय मनमाना है। जिससे नियमित रूप से बिजली बिल भरने आम उपभोक्ताओं पर प्रत्यक्ष-परोक्ष रूप से आर्थिक बोझ बढ़ेगा। नई दिल्ली, 06 सितंबर 2015, अपडेटेड 18:29 IST बगरस में स्लूईस गेट टूटने की अफवाह से परेशान प्रशासन Sat Aug 18 2018 00:24:30 GMT-0500 (Central Daylight Time) जानकारी के अनुसार बिजली कंपनी के विरोध में महिलाओं ने बुधवार को  प्रदर्शन किया। यह प्रदर्शन पार्षद राखी गौतम के नेतृत्व में किया गया। सैकड़ों की संख्या में महिलाओं ने बीएसएनल सर्किल से बिजली ऑफिस तक रैली निकाली। इस दौरान महिलाएं कपड़े धोने में उपयोग आने वाला धोवना लेकर जमकर नारेबाजी करती रहीं। यह रैली जब बिजली कंपनी के ऑफिस पहुंची तो इन महिलाओं ने बिजली कर्मचारियों को गुलदस्ते भेंट किए। सस्ता ऊर्जा - सस्ता पावर सस्ता ऊर्जा - विद्युत लागत कितनी है सस्ता ऊर्जा - गैस दरों की तुलना करें
Legal | Sitemap