क्या विदेशी निवेश बढ़ेगा प्रवासी भारतीय (फोटो: Prashanth Vishwanathan/BloombergQuint) श्री राम नवमी समारोह फॉर्म उद्देश्य धार्मिक स्थान 108 एंबुलेंस ने ऑटो को मारी टक्कर, महिला की मौत, चालक काबू केरल में बाढ़ की स्थिति गंभीर, पीएम का दौरा कौन क्या है Sports News आईसीआरए के वित्तीय प्रमुख विभोर मित्तल ने कहा है, ‘परंपरागत हाउसिंग क्षेत्र में स्थायित्व बने रहने की संभावना है जबकि किफायती हाउसिंग क्षेत्र में 2018 में अनियमितता और बढ़ सकती है.’ केजरीवाल ने बाढ़ प्रभावित केरल के लिए 10 करोड़ रुपए की सहायता का ऐलान... # SBI Q1 Results 2018# IKEA Jobs# Air India# Bank Holidays 2018# Sensex Today# Jet Airways# ITR Filing Status# How to File ITR# HRA Exemption# ITR Filing Online TWEET अंकीय नियंत्रक सहित एकल अक्ष प्रवर्धक ऐसे सभी चार करोड़ निर्धन परिवारों को बिजली कनेक्शन दिये जाएंगे, जिनके पास अभी कनेक्शन नहीं हैं।  जनन चीन भी लखीमपुर खीरी Input your search keywords and press Enter. अरुण पांडेय Messenger शेन्ज़ेन Calinmeter सह, लि इब्ने सफी: खटक रहा था जिसके दिल में एक गुलाब का जख्म BOX OFFICE COLLECTION: दूसरे दिन 'सत्यमेव जयते' से आगे निकली 'गोल्ड', कमाए इतने करोड़ गोड‍्डा योर मनीः छात्रों के लिए बचत और निवेश के टिप्स बेगूसराय में फांसी पर झूला युवक, वीडियो फेसबुक पर लाइव हो रहा था प्रदेश में बिजली उपभोक्ताओं की अनुदानित श्रेणी कृषि व घरेलू है और इनका हिस्सा क्रमश: 42 व 21 फीसदी है, वहीं देश में यह 23 व 24 फीसदी है जिसके चलते विद्युत लागत और राजस्व में अंतर ज्यादा रहा है। वहीं वर्ष 2005 में पड़ोसी राज्यों से? बिजली खरीद जहां 2.09 रुपए प्रति यूनिट रही, वहीं बिजली कंपनियों ने वर्ष 2008 में 8.83 रुपए प्रति यूनिट से बिजली खरीद कर कम दरों पर बिजली सप्लाई कर घाटे को बढ़ाया है।  चुनाव बुंदेलखण्ड Mon, 20 Aug 2018 08:30 PM IST Atalji Last Rites दिल्ली कांग्रेस की बैठक 2019 तक प्रदेश के हर घर तक बिजली :  मध्य प्रदेश 07/02/2016 - 12:25 Life Style राजनीतिक नेताओं ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी आन्ध्र प्रदेश Advertisement Rate श्वेता बच्चन ने अपनी बेटी नव्या नवेली के साथ करवाया हॉट फोटो शूट कानपुर में बस की टक्कर से पलटा लोडर, होमगार्ड समेत 3 की मौत पाकुड कंप्रेस्ड एयर प्लांट बनाने से इलाके के लैंडस्केप में कोई बदलाव नहीं दिखता. पहाड़ के अंदर होने वाला बदलाव भी ज्यादा नहीं होता. गिव जंगानेह के मुताबिक, "यहां पांच मीटर मोटा कंक्रीट का गेट है जो गुफा में जमा हवा के दबाव को नियंत्रण में रखता है. पहाड़ एयरटाइट है. पहाड़ में पानी का निरंतर प्रवाह रहता है जिससे अंदर की हवा बाहर नहीं निकलती." Group 2:04 Tweet गंगापार रिमेक भी अच्छा 650 मीटर से ज्यादा दूरी वालों को कनेक्शन दूसरे फेज में : मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफी स्कीम AllPhoto गैलरीVideo गैलरी     वित्त मंत्री ने कहा कि नारनौंद क्षेत्र में 24 घंटे बिजली आपूर्ति होने से शिक्षा, स्वास्थ्य व आम आदमी के जीवन स्तर में बेहतर सुधार आएगा। 24 घंटे बिजली आपूर्ति से इस क्षेत्र में आर्थिक  संभावनाएं बढ़ेंगी। जिस क्षेत्र में 24 घंटे बिजली रहती है वहां लघु व कुटीर उद्योग के साथ-साथ बड़े उद्योग भी आकर्षित होते हैं और औद्योगिक क्षेत्र रोजगार के अवसर पैदा करते हैं। इस तरह दुरूस्त बिजली आपूर्ति क्षेत्र के आर्थिक विकास का आधार है। उन्होंने कहा कि विभाग को यह कोशिश करनी है कि क्षेत्र का हर गांव जगमग योजना से कैसे जुड़े। उन्होंने कहा कि सरकार के स्तर पर भी इस योजना को सफल बनाने के लिए विचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि लोगों में यह भ्रांतियां है कि यदि वे इस योजना में शामिल हो जाएंगे तो उनके बिजली बिल ज्यादा आएंगे जबकि वास्तविकता यह है कि इस योजना के सफल होने पर बिजली बिलों में अपेक्षाकृत कमी आएगी। यहीं धारणा बदलने के लिए विभाग के साथ-साथ सरकार भी प्रयासरत् है। 14 जुलाई 2018 (अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर सात दिन का राष्‍ट्रीय शोक वैभव कुमार सिंह Tags:Bihar Electricity Regulatory Commission (BERC)Parmanand SinghPower Tariff Search विज्ञापन र॓ट VIDEO: भाजपा पार्षद को नेतागिरी करना पड़ा महंगा, महिलाओं ने जमकर की धुनाई खराब शीर्षक सिंह © 1998-2018 Zee Media Corporation Ltd (An Essel Group Company), All rights reserved. किसान समाचार मौसम विभाग की चेतावनी, छह राज्यों में मूसलाधार बारिश की आशंका सिवान Seriously a educated person I only become a good leader बिजली कंपनी जुलाई महीने से २०० रुपए प्रतिमाह में मिलने वाली बिजली योजना (सस्ती बिजली बिल स्कीम) योजना भी लागू कर रही है। इसमें उपभोक्ता १०० यूनिट तक पंखा, टीवी व ट्यूबलाइट जला सकेंगे। बिल की गणना टैरिफ आधार पर होगी। उपभोक्ताओं की शेष राशि राशि राज्य सरकार सब्सिडी के रूप में विद्युत कंपनी को देगी। NEWS FLASH: इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में पाकिस्तान के आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा से मिले नवजोत सिंह सिद्धू 14 जुलाई 2018 पूर्व केंद्रीय मंत्री सांवरलाल जाट की मूर्ति का हुआ अनावरण नयन सागर प्रकरणः मुनि के कमरे से निकलती युवती का एक और वीडियो वायरल अजय साहू Facebook Lite Copyright 2016 Molitics All Rights Reserved अन्य खेल खबरें www.bhaskar.com 25 दिसम्बर 2016, 01:39 AM इस पोस्ट को शेयर करें Twitter Powered by: बिजली ठेकेदार रवींद्र सिंह जादौन ने बिजली कंपनी के लिए कार्य किया था. यह कार्य बिना वर्क ऑर्डर के किया था जिसका भुगतान नहीं किया गया. इसमें बिजली कंपनी के संबंधित अधिकारियों की जिम्मेदारी थी. वर्क ऑर्डर की प्रत्याशा में ठेकेदार ने काम कर दिया था. इसमें संबंधित अधिकारियों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जानी चाहिए. यह जांच रिपोर्ट आरके पांडेय ने दी है. भजन गाए जा रहै है कीर्तन भी हो रहा है पानी में दर्जनों लोग मौजूद हैं. शहर में विरोध बिजली कंपनी के खिलाफ हो रहा है. शहर में बिजली व्यवस्था की कमान जब से निजी कंपनी केईडीएल को सौंपी गई थी. जिसके बाद बिजली कंपनी ने स्मार्ट मीटर लगाए और लोगों के बिजली के बिल दो से तीन गुना बढ़ गए. शहर के हर शख्स की मांग यही है की बिजली कंपनी के खिलाफ कार्रवाई हो बिजली कंपनी को वापस भेजा जाए इसी को लेकर KEDL भगाओ कोटा बचाओ संघर्ष समिति बनाई गई है. बिजली चुनें - इलेक्ट्रिक ऊर्जा आपूर्तिकर्ता बिजली चुनें - अधिक युक्तियों के लिए यहां क्लिक करें बिजली चुनें - विद्युत ऊर्जा
Legal | Sitemap