बिहार में बिजली कंपनी जरूरत के मुताबिक साल दर साल बहाली निकाल रही है. कंपनी ने 2015 में भी 1066 पदों पर बहाली निकाली थी. हालांकि इस बार 1200 गैर तकनीकि पदों पर बहाली निकाली जाएगी. जिसका टेंडर अभी किया जाना बांकी है. बिजली विभाग में जॉब सृजन से युवाओं में जोश बरकरार है. हर साल निकल रही वैकेंसी से युवाओं की उम्मीद बढ़ी है. Copyright © NABARD. Site by: Spenta Digital #Mulk technology1 day ago शेयर करें Subject अमेरिकी अखबारों ने की ट्रंप के मीडिया विरोधी बयानों की निंदा अगला पेज → बिजली कंपनी के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक प्रत्यय अमृत व एनटीपीसी के सीएमडी गुरदीप सिंह ने संयुक्त प्रेस वार्ता में कहा कि 17 अप्रैल को कैबिनेट ने इन बिजली घरों को एनटीपीसी को देने पर सहमति दी थी। एमओयू पर हस्ताक्षर एनटीपीसी के डायरेक्टर कॉमर्शियल एके गुप्ता व कंपनी के प्रबंध निदेशक आर लक्ष्मणन ने किया। करार होने के बाद बरौनी से 684 करोड़ , कांटी से 54.69 करोड़ और नवीनगर से 136 करोड़ कुल 865 करोड़ सालाना बचत होगी। करार के समय मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, सीएम के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव अतीश चंद्रा व मनीष कुमार वर्मा, विशेष सचिव अनुपम कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। June, 2016 मान्यता प्राप्त मीडियाकर्मी बैतूल |  भोपाल |  इन्दौर |  जबलपुर |  ग्वालियर |  विदिशा |  भिण्ड |  मुरैना |  शिवपुरी |  टीकमगढ |  अनुपपुर |  श्योपुर |  दतिया |  छतरपुर |  पन्ना |  सागर |  दमोह |  सतना |  रीवा |  उमरिया |  नीमच |  मंदसौर |  रतलाम |  उज्जैन |  शाजापुर |  देवास |  धार |  खरगोन |  बडवानी |  राजगढ |  सीहोर |  रायसेन |  हरदा |  होशंगाबाद |  कटनी |  नरसिंहपुर |  डिंडौरी |  मण्डला |  छिन्दवाडा |  सिवनी |  बालाघाट |  गुना |  अशोक नगर |  शहडोल |  सीधी |  सिंगरौली |  झाबुआ |  अलीराजपुर |  खण्डवा |  बुरहानपुर |  आगर मालवा  |  8. CES 2018 : पहले दिन लॉन्च किए गए ये शानदार प्रोडक्ट्स इकबाल खान कसौटी जिंदगी की रिमेक में मिस्टर बजाज का रोल प्ले करेंगे? 13 mins जानिए किसने दी बाजपेयी को मुखाग्नि posted on August 18, 2018 इन दरों में नहीं हुआ बदलाव अन्य खबरों के लिए कृप्या नीचे दिए गए बैक होम बटन पर क्लिक करें एकल चरण किलोवाट मीटर, निवेश का पहला कदम प्रिंट निवेदित पृष्ठ का शीर्षक अवैध कैरेक्टर: "%E0" रखता है। ऊर्जा भवन, लिंक रोड न.-2, शिवाजी नगर, भोपाल, मध्य प्रदेश, भारत, 462016 लोक​प्रिय​ पीसीबी यों का नियंत्रण विनियम Storyboard Creator - कंपनी को 3.46 रुपए प्रति यूनिट की दर से 25 साल तक विंड एनर्जी प्रोजेक्ट से पैदा बिजली मिलेगी। यह बिजली दिल्लीवालों को 18 नवंबर 2018 से मिलनी शुरू होगी। कंपनी ने आरपीओ (रिन्युएबल पावर ऑब्लिगेशन) के लक्ष्य को पूरा करने के लिए विंड एनर्जी से पैदा बिजली खरीदने की तैयारी की है। केंद्रीय महासचिव बड़कागांव विधानसभा प्रत्याशी, निवेदक संदीप कुशवाहा केंद्रीय सदस्य एवं आजसू पार्टी क aamaadmiparty.org नोएडा का डॉली: तीन महिलाओं से शादी कर की बड़ी ठगी, गर्लफ्रेंड समेत अरेस्ट टेक्नोलॉजी मनोरंजन स्पोर्ट्स संस्कृति ख़ास बिजनेस भारत में विधिक सेवाएँ वार्षिक रिपोर्ट पुरालेख 简体中文 संतकबीर नगर सांकेतिक फोटो। हकीकत या कहानी : दुनिया के अनसुलझे रहस्य, जो अाज भी बने हुए है अबूझ पह... अटल जी की अंतिम यात्रा ! Your name प्रदेश में बिजली उपभोक्ताओं की अनुदानित श्रेणी कृषि व घरेलू है और इनका हिस्सा क्रमश: 42 व 21 फीसदी है, वहीं देश में यह 23 व 24 फीसदी है जिसके चलते विद्युत लागत और राजस्व में अंतर ज्यादा रहा है। वहीं वर्ष 2005 में पड़ोसी राज्यों से? बिजली खरीद जहां 2.09 रुपए प्रति यूनिट रही, वहीं बिजली कंपनियों ने वर्ष 2008 में 8.83 रुपए प्रति यूनिट से बिजली खरीद कर कम दरों पर बिजली सप्लाई कर घाटे को बढ़ाया है।  Copyright 2016 Molitics All Rights Reserved हेल्पलाइन बगहा nakul devarshi | Jaipur, Rajasthan, India राज्य से और फीफा विश्व कप स्वतंत्रता दिवस: वायलट लाइन पर सुबह साढ़े चार बजे शुरू हो जा... विशेषज्ञों का कहना है कि निर्धारित लक्ष्य को पाने के लिए इन दोनों ही योजनाओं की रफ्तार उल्लेखनीय गति से बढ़ानी पड़ेगी. 1 लाख करोड़ रुपये से अधिक के बकाये वाली 12 कंपनियों को एसएमए-1 या एसएमए-2 कैटेगरी में रखा गया है। एक बड़े बैंक के सीनियर अधिकारी ने बताया कि इसका मतलब यह है कि ड्यू डेट के 30 से 60 दिनों के अंदर इन कंपनियों ने मंथली किस्त नहीं चुकाई है। एसएमए का मतलब यहां स्पेशल मेंशन एकाउंट है। दून में पहाड़ी शैली में बनेंगे पुलिस बूथ, चौराहों पर दिखेगा ब्रह्मकमल Share: Published 08-Aug-2018 23:56 IST | Updated 23:59 IST Croatian Hrvatski प्रोफाइल * उपरोक्त योजना उस समय तक मान्य होगी जब तक कि विभाग या कोई अन्य सक्षम प्राधिकारी उन्हें वापस रोल नहीं करेगा। इसके अलावा, उपरोक्त योजना / दस्तावेज / विभाग को विभाग के अधिकारियों द्वारा मैन्युअल रूप से संग्रह अनुभाग में ले जाया जाएगा। Gujarati News Travel Refrigerators दिल्लीवालों को राहत देते हुए दिल्ली इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमीशन (डीईआरसी) ने बिजली के बिल में राहत दे दी है. बिजली बोर्ड ने बिजली बिल में रीस्ट्रक्चरिंग की है. इसका फायदा सभी कैटेगरी के ग्राहकों को होगा. इस संशोधन में बिजली बिल का फिक्स्ड चार्ज कम बढ़ा दिया गया है और प्रति यूनिट बिजली का बिल घटा दिया गया है. इसका फायदा उन लोगों को मिलेगा जो हर महीने 400 यूनिट से कम इस्तेमाल करते हैं. बॉलीवुड एक्ट्रेस काजोल ने इंटरव्यू में महिला प्रधान फिल्मों पर कही यह बात विभागीय ई-फॉर्म्स By admin July 22, 2016 कुछ ही देर में शुरू होगी प्रियंका-निक की पार्टी, शामिल हो सकते हैं ये सितारे इसरो नैनो उपग्रह बनाने के लिए क्षमता विकास कार्यक्रम शुरू करेगा admin Uttar Pradesh News 101-200             5.02 शिवपुरी हादसाः झरने में आई बाढ़ में फंसे सभी 45 लोगों को सुरक्षित निकाला गया बिज़नेस की अन्य ख़बरें हिंदीதமிழ்বাংলাമലയാളം मराठीENGLISH हिन्दुस्तान टीम 15-05-2018 वीडियो: वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने आए सीकर सांसद स्वामी अग्निवेश के… NDTV India Live संश्लिष्‍ट परीक्षण सुविधा ३. जिनके यहां मीटर नहीं है वहां मीटर लगेंगे और रीडिंग करते हुए बिल की गणना की जाएगी। VIDEO: पर्वतीय किसानों को हाईकोर्ट से तोहफ़ा, नॉन ज़ेड-ए ज़मीन पर मिलेगा हक संत कबीर दास के दोहों में छुपा है जीवन को सफल बनाने का सूत्र 42 mins बिजली बदलें - इलेक्ट्रिक प्रदाता खोजें बिजली बदलें - इलेक्ट्रिक चॉइस बिजली बदलें - इलेक्ट्रिक पावर सप्लाई
Legal | Sitemap