राज्य सरकार ग्रामीण क्षेत्र के उपभोक्ताओं को 3.10 रुपये प्रति यूनिट, तो शहरी क्षेत्र के घरेलू उपभोक्ताओं को 1.48 रुपये प्रति यूनिट सब्सिडी देगी. मालूम हो कि राज्य विद्युत विनियामक आयोग ने 24 मार्च को बिना सब्सिडी के बिजली दरों का एलान किया था, जिसमें औसतन 55% का इजाफा किया गया था. इसके बाद उसी दिन देर शाम मुख्यमंत्री की ओर से सब्सिडी जारी रखने का एलान किया गया था. अब सब्सिडी के एलान के बाद बिजली दरों में मात्र 20 फीसदी वृद्धि होगी. सदन में मुख्यमंत्री ने कहा कि अब बिजली बिल में प्रति यूनिट बिजली आपूर्ति लागत और सरकार द्वारा दी गयी सब्सिडी का अलग-अलग ब्योरा दिया जायेगा. जिला सचिव आजसू पार्टी रांची पूर्व उप- प्रमुख बुंडू 24 Views SAT, AUG 18, 2018 फी स्ट्रक्चर Google plus बाबू धन मुर्मू VIDEO: जब मूसलाधार बारिश ने कांवड़ियों की सांसें रोक दी स्वशिक्षा रिपोर्टः फ्रित्ज मूरी कबड्डी दिल्ली में बिजली कंपनियों का ऑडिट लगातार और हर तीसरी तिमाही में होता है। कंपनी कुल बिजली का 90-95 फीसदी हिस्सा सरकारी कंपनियों से खरीदती है। 2002-03 में 53 फीसदी की मुकाबले फिलहाल कंपनी को केवल 11 फीसदी का टीएंडडी घाटा हो रहा है। जागरण संवाददाता, फतेहाबाद: गोरखपुर हरियाणा अणु विद्युत परियोजना द्वारा गोरखपुर गोशाला का विकास के... बच्चे खूब मन लगाकर पढ़ाई करें, बाकी चिन्ता शासन पर छोड़ दें –मंत्री श्री जैन, ऊर्जा मंत्री ने स्वतंत्रता दिवस पर स्कूली विद्यार्थियों के साथ मध्याह्न भोजन किया भाजपा मुख्यालय पहुंचा अटल बिहारी वाजपेयी का पार्थिव शरीर प्राकृतिक गैस (NATURAL GAS) कासगंज ख‍गडिया रहने के लिए गुड़गांव से बेहतर है फरीदाबाद यूपी के 100 स्कूलों को मिला हिंदी कीबोर्ड, शुरू हुआ उज्जवल विकास अभियान Groups गुड़गांव कार्यशालाऍं तथा संगोष्ठियॉं LATEST NEWS Page not found Englishmate.com चाईबासा। नाबालिग से यौन शोषण का आरोपी कथित समाजसेवी एवं आदिवासी अस्तित्व बचाओ आंदोलन के अध्यक्ष लालजीराम तियु की गिरफ्तारी को लेकर डीएसपी हेड क्वार्टर प्रकाश सोय के नेतृत्व में पुलिस टीम ने मंझारी प्रखंड अंतर्गत हो बालकांड स्थित उसके ससुराल में छापेमारी की। भनक लगते ही वह फरार हो चुका था। किसान समाचार संकल्प भारत सचिव डिप्टी मेयर, चास नगर निगम जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन! सीमा विवाद सुलझाने के लिए वाजपेयी ने तैयार की थी प्रणाली: चीन जिस्मफरोशी की सूचना पर पुलिस ने मारा छापा, अंदर का… Breaking News   /  छत्तीसगढ़ आयाम: 165x90x33mm 1:56 CAREER NOTICES मोबाइल शासन प्रोफ़ेसर दिवाकर ने कहा कि सरकार टैक्स एडमिनिस्ट्रेशन की भी कमर तोड़ने में लगी है. 15-16 में टैक्स एडमिनिस्ट्रेशन का बजट 26 हज़ार 11 करोड़ था जो 16-17 में 22 हज़ार 91 करोड़ हो गया. जीएसटी के बाद इसे 12 हज़ार 699 करोड़ कर दिया गया है. इस कटौती से साफ़ है कि सरकर की नियत में खोट है. उन्होंने कहा कि बिना टैक्स एडमिनिस्ट्रेशन को मजबूत किए जीएसटी को मज़बूत कैसे किया जा सकता है?'' जनता मजदूर संघ सिंदरी अध्यक्ष 7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में अटल बिहारी वाजपेयी: किसी को श्रद्धांजलि देते वक़्त हम पाखंड क्यों करने लगते हैं बड़ी खबर Close Sidebar जींद सोना (GOLD) PSL में स्पॉट फिक्सिंगः पाकिस्तानी बल्लेबाज पर लगा 10 साल का बैन महंगी बिजली का हल निकालने की दिशा में ऊर्जा मंत्रालय ने 17 जुलाई को जारी किए गए मेरिट ऑर्डर पर एक अगस्त तक सीईआरसी, सीईए व राज्यों के ऊर्जा सचिवों से राय मांगी थी . इसमें थर्मल ऊर्जा उत्पादन तथा शेड्यूलिंग के नियमों में ढील देने को लेकर ज्यादातर ने सकारात्मक पक्ष पेश किया . जवाब सकारात्मक होने की वजह बिजली कंपनियों की लागत में कमी व एकरूपता बताई जा रही है . गवर्नमेंट इस व्यवस्था को ट्रायल के आधार पर एक वर्ष के लिए लागू कर सकती है, उसके बाद पुनर्विचार कर आगे कदम बढ़ाएगी . जबलपुर। फीडर सेपरेशन, सिस्टम स्टेबलिंग सहित अरबों रुपए का काम लेने वाली नौ और कंपनियां बिजली कंपनी का काम छोड़कर भाग गई हैं। इससे पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी को तगड़ा झटका लगा है। बिजली कंपनी ने सभी कंपनियों को टर्मिनेट कर दिया है। इससे पहले जबलपुर सिटी सर्किल में डेढ़ अरब से भी ज्यादा का काम लेने वाली नई दिल्ली की यूबी कंपनी (जिसके कर्ताधर्ता विजय माल्या थे) ने अपना बोरिया बिस्तर समेटकर बिजली कंपनी को चूना लगाया था। दृष्टि vikash khalkho भाजपा नेता, चंदनकियारी सूचना का अधिकार रूसी उप प्रधान मंत्री ने कहा है कि वह एक राज्य समर्थित क्रिप्टोक्यूरेंसी का समर्थन करता है For Digital Marketing enquiries contact: 9000180611, 040-23318181 E-Mail: [email protected] | Powered by Vishwak विदेश Top News पुरुषों का उत्पीड़न रोकने के लिए पिंडदान #electricity एच ई आर सी एक तरफ घरेलू उपभोक्ताओं के लिए बिजली के दाम बढ़ाए गए हैं, वहीं पीथमपुर सेज के उद्योगों को इससे राहत दी गई है। सेज के उद्योगों को लगातार तीन साल से केवल 3 रुपए 35 पैसे प्रति यूनिट की दर से बिजली मिल रही है जो जारी रहेगी। कांग्रेस बिजली की दरें बढ़ाने का लगातार विरोध कर रही है। अटल जी के निधन पर यूपी में सात दिनों के राजकीय शोक की घोषणा, आज अवकाश वर्षाजल संचय Starry Talks समाचारपत्रिकाएँ प्रदेश उपाध्यक्ष अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ सह कांग्रेस चतरा विधानसभा प्रभारी Anil Tirkey|   | 2018-02-28 03:33:31.0 Coconut Grove’s single-family neighborhoods are under assault. Tree canopy is shrinking, architectural variety is disappearing, lot sizes are being diminished, homes are being demolished and the… Read more गुणवत्ता नियंत्रण www.bhaskar.com Aug 11, 2018, 05:30 IST ब्‍यूटी पार्लर खोलने के ल‍िए जिसने द‍िए 4 लाख रुपये, मह‍िला ने कर दी उसी की हत्‍.. संरक्षण एवं क्षेत्र सेवा विंग ग्रामीण क्षेत्रों में 2 से 5 किलोवाट तक कनेक्शन लेने वालों को 60 रुपये प्रति किलोवाट जमा करना पड़ता था, जबकि शहरी क्षेत्रों में 2 किलोवाट से ऊपर और 5 किलोवाट से कम के कनेक्शन के लिए 150 रुपये प्रति किलोवाट जमा कराया जाता था।  अधिमान्यता विशेष विवरण: ईमेल पर फ्री जानकारी के लिए सब्सक्राइब करे प्रकृति एवं प्रक्रिया क्राइम Follow Us On b a Jagran.com अधिसूचना परिपत्र भाजपा सरकार ने पूरा किया हिसार में एयरपोर्ट का वादा: कैप्टन अभिमन्यु ह्यूस्टन में ऊर्जा कंपनियों - उपयोगिता कंपनी ह्यूस्टन में ऊर्जा कंपनियों - इलेक्ट्रिक प्रदाता खोजें ह्यूस्टन में ऊर्जा कंपनियों - इलेक्ट्रिक चॉइस
Legal | Sitemap