Madhepura Hockey ट्विंकल बोलीं- सैनिटरी पैड पर GST नहीं, एक अलार्म दे दीजिए हरियाणा के घरों की इन तस्वीरों को देखकर दिल हो जाएगा खुश प्रदेश उपाध्यक्ष , झारखण्ड युवा कॉग्रेस हैदराबाद की चार कंपनियां पश्चिम बंगाल UP News in Hindi बिहार विद्युत नियामक आयोग (बीईआरसी) ने 2016-17 में बिजली दर में किसी प्रकार का बदलाव नहीं किए जाने का निर्णय लिया है जो कि प्रदेश के विद्युत उपभोक्ता के लिए राहत की बात है। नार्थ एंड साउथ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी ने आयोग के समक्ष गत वर्ष दिसंबर महीने में याचिका दायर की थी जिसमें वित्तीय वर्ष 2016-17 में बिजली दर में करीब 7 प्रतिशत की वृद्धि किए जाने का प्रस्ताव रखा था। दो दिवसीय बैठक में 1,850 करोड़ रुपये के सालाना बजट आैर 18 नई परियोजनाओं को मंजूरी दी गई। बजट में बड़े पावर प्रोजेक्ट बीएचईपी-2, परनई, लोवर कलनई, नया गांदरबल, किरथई 1, किरथई 2, पहलगाम, हानू, दाह और साझा उपक्रम के तहत कीरु, कावर व पाकलडल प्रोजेक्ट में इक्विटी निवेश शामिल है। प्रत्यय पत्र अन्य सेवा  4.60  4.60 हालांकि कोई सरकार के दावें पर कैसे सवाल खड़ा सकता है, अगर इन दावों को सही भी मान लिया जाए तो गांव के विद्युतीकरण से गांववालों को कोई फायदा तो हुआ नहीं है क्योंकि विद्युत आपूर्ति को लेकर अनिश्चितता की हालत बनी हुई है. अगर इन्हें 24 घंटे बिजली दी भी जाती है तो इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि गांव वाले इस बिजली का उपभोग करने में सक्षम होंगे. सुधेड़ में पलटा पंजाब के श्रद्धालुओं का वाहन, 3 घायल जानकारों का दावा है कि बिजली कंपनियों का मुनाफा बढ़ा है. जबकि दिल्ली की तीनों बिजली कंपनियों का कहना है कि उन्हें 21000 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है जिसकी भरपाई बिजली की दरों में करीब बीस से तीस फीसदी वृद्धि करके की जा सकती है. बिग ब्रेकिंग न्यूज़ In.com Trending Tags स्क्रीन रीडर मोदी सरकार द्वारा बीते चार सालों में बदलाव के बड़े दावों के साथ शुरू की गईं विभिन्न योजनाएं कोई बड़ी उपलब्धि हासिल कर पाने में नाकाम रही हैं. रद्द कराए गए आपके टिकटों से रेलवे की 'चांदी' बाज़ार भाव 2019 के आम चुनाव से पहले मोदी सरकार गुरुवार को अपना आखिरी आम बजट पेश करने वाली है। इस बजट में फाइनैंस मिनिस्टर अरुण जेटली कुछ नई योजनाओं का ऐलान भी कर सकते हैं। हालांकि ऐसी भी कई योजनाएं हैं, जो यूपीए सरकार के दौर की हैं और अब भी जारी हैं। जानें, ऐसी ही स्कीम्स के बारे में... जॉब न्‍यूज दुनिया की पसंद Tweet with a location इकोनॉमी आईएफएस डेबिट और क्रेडिट कार्ड से शॉपिंग करने वाले को नए साल पर मिलेगा तोहफा May 20, 2018 XI 2007-12 योजना के अंतर्गत सीपीआरआई की पूँजी परियोजनाएँ एलसीडी डिस्प्ले एकल चरण इलेक्ट्रिक मीटर, छेड़छाड़ प्रूफ प्रीपेड पावर मीटर फतेहपुर अब पाइए अपने शहर ( Noida News in Hindi) सबसे पहले पत्रिका वेबसाइट पर | Hindi News अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Patrika Hindi News App, Hindi Samachar की ताज़ा खबरें हिदी में अपडेट पाने के लिए लाइक करें Patrika फेसबुक पेज Jara Hatke GST से क्या हुआ सस्ता और क्या महंगा केरियर Home > News TERMS OF USE कंपन प्रयोगशाला (40 मी विस्तृति) खोजें जालौन के बागी गांव में मां-बेटे की गला रेतकर हत्या कंपनी पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने भी यह बात मानी है कि उज्ज्वला योजना के तहत कनेक्शन लेने वालों में प्रति व्यक्ति सालाना खपत औसतन 4.32 सिलेंडरों की ही है. वाणिज्यिक एकल चरण पावर मीटर बहु ​​- समारोह स्मार्ट इलेक्ट्रिक मीटर 09:42 स्मृति पटल पर रहेंगे अटल, अपूरणीय क्षति भारत के बारे में Naya Haryana पाकिस्तान के नए ‘कप्तान’ इमरान खान, शपथ ग्रहण में पहुंचे सिद्धू भजन गाए जा रहै है कीर्तन भी हो रहा है पानी में दर्जनों लोग मौजूद हैं. शहर में विरोध बिजली कंपनी के खिलाफ हो रहा है. शहर में बिजली व्यवस्था की कमान जब से निजी कंपनी केईडीएल को सौंपी गई थी. जिसके बाद बिजली कंपनी ने स्मार्ट मीटर लगाए और लोगों के बिजली के बिल दो से तीन गुना बढ़ गए. शहर के हर शख्स की मांग यही है की बिजली कंपनी के खिलाफ कार्रवाई हो बिजली कंपनी को वापस भेजा जाए इसी को लेकर KEDL भगाओ कोटा बचाओ संघर्ष समिति बनाई गई है. केजरीवाल सरकार का दावा है कि दिल्ली में पिछले 4 सालों से बिजली की कीमतें नहीं बढ़ी हैं. जानकार कहते हैं कि दिल्ली सरकार के इस दावे में दम नहीं है क्योंकि बिजली के रेट पिछले सालों में सीधे तौर पर भले न बढ़े हों लेकिन 3.70 फीसदी पेंशन फंड के नाम पर सरचार्ज लगाया गया था. यानि 100 रुपये पर तीन रुपये सत्तर पैसे. भारत में ई-शासन IOS कोटा: पहले भजन-हवन और अब जलस्तयग्रह का लिया सहारा, बिजली कंपनी के खिलाफ प्रदर्शन जारी 300 से अधिक    6.52        8.60     BOOKS विज्ञापन एसके अग्रवाल ने कहा कि यूपी में बिजली दरों में 12 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। यूपी में करोड़ों नए उपभोक्ता जुड़ने जा रहे हैं इसके लिए बिजली की दरों में वृद्धि किया गया है। ग्रामीण इलाकों में हमे ज्यादा नुकसार हो रहा था। इसकी भरपाई के लिए हमने यहां भी बिजली की दरों में बढ़ोतरी की है। मूवी मस्ती देश में 25 करोड़ घर हैं और इनमें से 4 करोड़ घरों यानी लगभग 25 प्रतिशत घरों में बिजली नहीं है। विद्युत् मंत्रालय के अनुसार सरकार ने बिजली से वंचित 18,452 गाँवों को बिजली पहुँचाने का लक्ष्य रखा था। इसमें से 14,483 गाँवों को बिजली पहुँचा दी गई है जबकि 2981 में अभी बिजली पहुँचाई जानी है, वहीं 988 गाँव ऐसे हैं जहाँ कोई नहीं रहता। दान अद्भुत है यह प्राचीन महादेव का मंदिर, 84 फीट ऊंची प्रतिमा के दर्शन... रिपोर्ट औद्योगिक क्षेत्र के लिए मात्र सात फीसदी बढ़ायी गयी दर   लाइफस्टाइल Jammu जवाब –  राज्यों द्वारा प्रस्तुत की जाने वाली विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) के आधार पर इस योजना के तहत परियोजनाओं को मंजूरी दी जाएगी। इस योजना के तहत फंड का कोई अग्रिम आवंटन नहीं किया जा रहा है। समाचारपत्रिकाएँ Jump to देहरादून (भाषा)। उत्तराखंड में बिजली की दरों में औसतन 5.72 प्रतिशत की वृद्धि की गई है जो आगामी एक अप्रैल से प्रभावी होगी। उत्तराखंड विद्युत नियामक आयोग के अध्यक्ष सुभाष कुमार ने यहां बताया कि अगले वित्त वर्ष 2017-18 के लिए की गई इस वृद्धि के बावजूद उत्तराखंड में बिजली पूरे देश में अब भी सबसे सस्ती है। प्रमुख कमोडिटी Wed, 08 Aug 2018 02:30 PM IST संबंधित भाषाएँ खबर इंडिया टीवी तीन योजनाओं में 50 प्रतिशत कार्य भी अबतक नहीं कर पाया है अमला utall बीते दिनों संसद में पेश एक आंकड़े के अनुसार जन धन योजना के तहत खुले 59 लाख खाते बंद हो चुके हैं. (फोटो: पीटीआई) क्रमांक 2067                                                                                                                 एचएस शर्मा/जोशी विभाग This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed. August 18,2018 10:27:11 AM मनसा वाचा कर्मणा लघु सिचाई योजनाएं.. India Today Diaries त्रिपुरा ख़ास रामपुर की दूरदराज पंचायत में फटा बादल, आधा दर्जन पुल बहे तारीख 26.01.2018 Caricature of the Day Hindi Newsराज्यकेजरीवाल सरकार पर बिजली कंपनियों से मिली भगत का आरोप अजब गजब : जिंदा चूहे की गर्दन पर उग आया सोयाबीन का पौधा, हर कोई हैरान 2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश Most Related Stories मंत्रालय के संगठनात्मक सेटअप Cafeteria Surendra Kumar Jain‏ @skjain402 18 Aug 2015 RECOMMENDED 428 Views Best Refrigerators (Fridge) in India कॉलेज विद्यार्थियों के लिये टिप्स Online Courses योग्यता: बीई/बीटेक/डिप्लोमा ऊर्जा मंत्रालय के सर्कुलर अनुसार यदि किसी परिवार में पांच सदस्य है और मुखिया के नाम से बिल कनेक्शन है। यदि वह मुखिया असंगठित श्रमिक योजना के तहत पंजीकृत नहीं है और उसके परिवार का अन्य कोई एक भी सदस्य पंजीकृत है तथा इन दोनों के नाम समग्र आईडी परिवार की प्रोफाइल में एक साथ सम्मिलित है तो योजना का लाभ मिलेगा। Follow Us On : टोंक Sitamau news @कहर बनकर गिरी आकाशीय बिजली से एक वृद्ध व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि दो महिलाओं सहित तीन घायल हो गए ट्रांसमिशन वर्क्स के कार्यकारी सारांश Partnership केरल में बाढ़ से बुरा हाल, अब तक 324 की मौत, दौरे पर पीएम मोदी आपके शहर की खबरें AQI गिव जंगानेह बताते हैं, "हमारी तकनीक पंप स्टोरेज प्लांट की तुलना में 20 से 30 फीसदी सस्ती है. इसके अलावा हमें बड़े बांध और बड़े जलाशय बनाने की भी जरूरत नहीं है जो प्रकृति के साथ छेड़छाड़ करता है. ये पूरे का पूरा स्टोरेज पहाड़ के अंदर बना है. इसका फायदा न सिर्फ आर्थिक तौर पर है बल्कि पर्यावरण संरक्षण के लिहाज से भी. " इलेक्ट्रिक चॉइस - ऊर्जा की कीमतों की तुलना करें इलेक्ट्रिक चॉइस - सस्ता ऊर्जा इलेक्ट्रिक चॉइस - गैस बिजली
Legal | Sitemap