स्वतंत्रता दिवस पर जिले के समस्त पदाधिकारी एवं आम जनता को हार्दिक शुभकामनाएं Settings Uttar Pradesh उप प्रमुख, बेंगाबाद धनु AAP Samastipur अगली ख़बर माकअप टावर अन्य स्पोर्ट्स Vivo ने लांच किया एक और धांसू फोन, कम दाम में मिलेंगी जबरदस्त खूबियां आस्था Apps शहरी आवास मंत्रालय ने 2018-19 में 26 लाख, 2019-20 में 26 लाख, 2020-21 में 30 लाख और 2021-22 में 29.8 लाख मकान बनाने की योजना बनाई हुई है. हालांकि निर्माण की धीमी गति को देखते हुए यह लक्ष्य एक चुनौती की तरह लग रहा है. उदाहरण के लिए 2016-17 में सिर्फ 1.49 लाख ही मकान तैयार हो पाए थे जबकि 32.6 लाख का लक्ष्य रखा गया था. गांव में मकान बनाने की योजना के तहत सिर्फ 16 लाख मकान ही बने हैं. 43 Comments 2017, PM Free Bijli ConnectionYojana, PM Saubhagya Scheme Free Electricity Connection, Pradhan Mantri Sahaj Bijli Har Ghar Yojana पूजन विधि और आरतियां इस योजना के लिए कुल 43 हजार 33 करोड़ के निवेश की आवश्यकता है। जिसमें से भारत सरकार (योजना की पूरी अवधि में) 33 हजार 4 सौ 53 करोड़ की सहायता देगी। निजी डिस्कॉम एवं राज्य बिजली विभागों समेत सभी डिस्कॉम इस योजना के तहत वित्तीय सहायता के लिए पात्र होंगी। डिस्कॉम विशिष्ट नेटवर्क जरूरत को ध्‍यान में रखते हुए ग्रामीण ढांचागत कार्यों को मजबूत बनाने को वरीयता देंगी और इस योजना के तहत आने वाली परियोजनाओं के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार करेंगी। इस योजना को क्रियान्वित करने के लिए नोडल एजेंसी ग्रामीण विद्युतीकरण निगम (आरईसी) होगी। आरईसी,  योजना के लागू किए जाने की मासिक प्रगति रिपोर्ट को ऊर्जा मंत्रालय तथा केन्द्रीय विद्युत प्राधिकरण के समक्ष प्रस्तुत करेगी। इस रिपोर्ट में वित्तीय तथा वास्तविक प्रगति का ब्यौरा दिया जाएगा। NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 10:34 AM JarnailSinghAAP's profile टॉप स्पीड 80 किलोमीटर प्रतिघंटा. बिजली बिजली कंपनी के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक प्रत्यय अमृत व एनटीपीसी के सीएमडी गुरदीप सिंह ने संयुक्त प्रेस वार्ता में कहा कि 17 अप्रैल को कैबिनेट ने इन बिजली घरों को एनटीपीसी को देने पर सहमति दी थी। एमओयू पर हस्ताक्षर एनटीपीसी के डायरेक्टर कॉमर्शियल एके गुप्ता व कंपनी के प्रबंध निदेशक आर लक्ष्मणन ने किया। करार होने के बाद बरौनी से 684 करोड़ , कांटी से 54.69 करोड़ और नवीनगर से 136 करोड़ कुल 865 करोड़ सालाना बचत होगी। करार के समय मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, सीएम के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव अतीश चंद्रा व मनीष कुमार वर्मा, विशेष सचिव अनुपम कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। प्रदीप कुमार उर्फ रोशन महतो मो जहांगीर करियर / देश अभी-अभी दुनिया राजनीति फ़ेकिंग न्यूज़ विश्लेषण अजब गजब Gujarat News in Hindi आईसीआईसीआई बैंक: केरल के ग्राहकों से इस महीने ईएमआई चुकाने में देरी पर पेनल्टी नहीं लेगा 9 mins स्वशिक्षा पावर प्लांट लगाने के लिए सरकार निविदा निकालेगी. बताया जाता है कि तीन-चार कंपनियां ने इस सिलसिले में ऊर्जा विभाग और राज्य पावर जेनरेशन बिजली कंपनी से संपर्क भी किया है. कंपनी सूत्रों के अनुसार जो कंपनी राज्य को सस्ती बिजली देगी उसे सोलर पावर प्लांट लगाने में प्राथमिकता मिलेगी. पीरपैंती व कजरा में जमीन उपलब्ध है.  पौड़ी मैसेजबोर्ड लेटेस्ट न्यूज़ Storyboard Copyright and Usage Water Heaters जब पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने मंच पर छू ल‍िए थे इस मह‍िला के पैर बिज़नेस a week ago पूरक परीक्षण सुविधा अस्वच्छ सर्वेक्षण रेगुलेशन्स एम पी ई आर सी सरायकेला दरसअल करीब 72 घण्टे से गायघाट में बिजली नही रहने के कारण लोगो ने किया सड़क जाम, मुज़फ़्फ़रपुर-दरभंगा मार्ग पर करीब 2-3 घण्टे रहा आवागमन ठप. लोगो का कहना है कि एस्सेल बिजली की कटौती करता है, एस्सेल अपनी मनमानी करता है, एस्सेल के कर्मचारी को जब बिजली नही रहने पर सूचना दी जाती है तो वो लोग बात को इधर उधर कर घुमा देते है और कोई जवाब नही देते बिजली का कोई समय नही है कि कब कँहा कैसे बिजली कट जाए और अगर कँही बिजली की तार आँधी तूफान में गिर जाए तो उसके लिए 2-3 दिन बिजली को बाधित कर के रखते है. मध्य प्रदेश पी.सी.एस. Create a new list CONSUMER FORUM पर्सनल फाइनेंस खबरें BILASPUR DENGUE UPPSC का आवेदन हुआ शुरू, इच्छुक उम्मीदवार कर सकते है 2 अगस्त तक आवेदन संस्कृति महाभारत 2019: 7 में से 5 सांसदों से दिल्ली की जनता नाराज, सीलिंग सबसे बड़ा फैक्टर 25 mins CIN: U74140DL2015NPL285224 भारतीय रिजर्व बैंक ने बड़ा झटका देते हुए रेपो रेट में 0.25 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी कर दी है। केंद्रीय बैंक ने रिवर्स रेपो रेट में भी बदलाव कर दिया है। अब नया रेपो रेट 6.5 फीसदी और रिवर्स रेपो रेट 6.25 फीसदी हो गया है। UP Bhulekh भूलेख, खसरा खतौनी भु नक्शा ऑनलाइन नक़ल upbhulekh.gov.in राज्य विशेष पाठ्य-सामग्री पारेशण उत्तम प्रथा अचानक घटने लगे वजन तो इन 10 वजहों पर दें ध्यान विदेश यात्राः खर्च में मोदी से कम नहीं मनमोहन अपडेट आवेग धारा प्रयोगशाला हिमाचल की पहाड़ियों में सबसे ऊंची चोटी पर स्थित है काली मां का मंदिर,... दुमका : इंडोर स्टेडियम दुमका में अरविन्द प्रसाद की अध्यक्षता में झारखंड राज्य विद्य्नुत नियामक आयोग के द्वारा झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड का वर्ष 2011- 12 से वर्ष 2015 -16 तक वर्ष 2016-17 का 2017-18 एवं वर्ष 2018-19 एवं वर्ष 2017-18 तथा 2018-19 का विद्य्नुत वितरण दर निर्धारण हेतु जन-सुनवाई कार्यक्रम आयोजित की गई। उन्होंने कहा कि उपभोक्ता को ध्यान में रखते हुए बिजली दर उतना ही निर्धारित की जायेगी जिससे की उन पर भार ना पड़े और बिजली कम्पनी को भी घटा ना हो। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए चेयर मेन अरविन्द प्रसाद ने कहा कि कम्पनी को बिजली खरीदने के लिए पैसे की जरुरत पड़ती है। बिजली के खरीद एवं उपभोक्ताओं के बिजली विपत्र के विरुद प्राप्त राशि में समन्ता होना आवश्यक है। अप्रैल माह से सरकार अब कम्पनी रिसोर्स गेप (सबसीडी) नही देगी। इसी कारण से बिजली दर में कुछ ना कुछ बढ़ौतरी होनी आवश्यक है। घरेलू -1 ग्रामीण ( बिना मीटर) 267.5 रुपये प्रति माह हरिद्वार 09:41 देवघर के व्यवसायियों ने पूर्व पीएम को दी अश्रुपूर्ण विदाई ‘रेस 3’ के गाने में साथ नजर आएंगे सलमान-सोनाक्षी … Pin बिजली सस्ती करने की तैयारी में सरकार, उपभोक्ताओं को सीधा लाभ मिलेगा! गाँवों केवल 6 से 8 घंटे बिजली मिलने की बात भी श्री यादव ने उठाई है। कांग्रेस ने 8 अप्रैल को अशोकनगर में बिजली दरें बढ़ाने के प्रस्ताव के विरोध में बड़ा प्रदर्शन भी किया था। इसके बाद भी सरकार ने बिजली की दरें बढ़ा दी हैं। कांग्रेस का कहना है कि वह इस बारे में जल्द ही तेज और प्रदेशव्यापी आंदोलन छेड़ेगी। शिमला Other Story प्रीपेड विद्युत मीटर एसटीएस प्रीपेड मीटर वायरलेस विद्युत मीटर एकल चरण इलेक्ट्रिक मीटर 3 चरण इलेक्ट्रिक मीटर दीन रेल केडब्लूएच मीटर स्मार्ट इलेक्ट्रिक मीटर वाणिज्यिक इलेक्ट्रिक मीटर 2 चरण इलेक्ट्रिक मीटर प्रीपेड जल ​​मीटर इलेक्ट्रिक मीटर बॉक्स बिजली वेंडिंग सिस्टम एएमआई सॉल्यूशंस प्रीपेड गैस मीटर राज्य में अप्रैल से लागू होंगी बिजली की नई दरें, जानें- आपकी जेब पर क्या होगा असर? Bhaskar News Network | Jun 24,2018 3:00 AM IST Home मध्यप्रदेश सुप्रीम कोर्ट पहुंची चुनाव से पहले सस्ती बिजली देने और बिल माफ... Viral Stories यह भी पढ़ें: ‘सबके लिए बिजली’ योजना में मुफ्त बिजली नहीं सौभाग्य-प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना India News in Hindi राजीव कुमार सिंह उत्तर-प्रदेश Rohini, Delhi Ad Choices Specials | Aug 13, 2018 जीजा करता था साली से दरिंदगी, साली ने प्रेमी के साथ मिलकर कर दी हत्या पल्स दर: 1600 बोर व्यास: 8 मिमी ब्रेकिंग व्यूज 200 से अधिक  6.60 आसाम Updated: 03 Jul, 2018 11:26 PM For Businesses Delhipower rateDelhi Electricity RateDERCदिल्ली रहने के लिए गुड़गांव से बेहतर है फरीदाबाद बवाना का बोझ : बवाना पावर प्लांट गैस न मिलने की वजह से बंद है। तब भी इसकी फिक्स कॉस्ट काफी आती है और यह खर्चे में जुड़कर कंज्यूमर तक ही पहुंचती है। या तो इस प्लांट के लिए गैस का इंतजाम कर इसे पूरी क्षमता से इस्तेमाल किया जाए या फिर फिक्स कॉस्ट सरकार वहन करे। सौभाग्य-प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना शहीदों के माता-पिता को मिलेगी सम्मान निधि की 40 फीसदी रकम posted on August 18, 2018 बिज़नेस न्यूज़ Urdu اردو पंजाब Menu सरकार द्वारा नियमों में ढील देने पर कंपनियों को अपने किसी भी ऊर्जा संयंत्र से बिजली आपूर्ति करने का रास्ता खुल जाएगा। ऐसे में उसे ग्रिड से खरीद नहीं करनी पड़ेगी, जिससे बिजली की कीमतें देश में एक समान होंगी और कीमतों में कमी आएगी।   चर्चित विडियो बिहार में महंगी हुई बिजली, नई दर एक अप्रैल से (बिजली दर रुपए प्रति यूनिट) अस्त हुआ अटल सितारा अक्षम यूनिट : बदरपुर पावर प्लांट में यूनिट नंबर 1, 2 और 3 अक्षम हैं। इसमें खर्च ज्यादा आता है और बिजली कम। लेकिन टोटल खर्च डिस्कॉम के खाते में आता है और यही कंज्यूमर की जेब पर भी भारी पड़ता है। नई यूनिट शुरू होनी चाहिए और अक्षम यूनिट बंद होनी चाहिए। दिल्ली सरकार ने इंस्टीट्यूट ऑफ लीवर एंड बायलरी साइंसेस (आईएलबीएस) के बेड में भारी वृद्धि करने का निर्णय लिया है। 155 बेड वाला यह अस्पताल 549 बेड का होगा। मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई दिल्ली कैबिनेट की बैठक में इस आशय के निर्णय लिए गए। इस पर करीब 497 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान लगाया गया है।  आईएलबीएस में मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या को देखते हुए बिस्तरों की संख्या में इजाफा करने का फैसला किया गया है। सैनिकों के त्याग, तपस्या और बलिदान से ही सुरक्षित है देश : शिवराज सिंह इस रिपोर्ट को अंग्रेज़ी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें. सांसद राजमहल लोकसभा उत्तरप्रदेश Replying to @JarnailSinghAAP @AamAadmiParty @ArvindKejriwal Copyright © 2018 Living Media India Limited. For reprint rights: Syndications Today. अटल की अंतिम यात्रा पर उमड़ा जनसैलाब, देखें तस्वीरें... इसलिए, शहरी इलाकों में और ग्रामीण क्षेत्रों में सभी बिना बिजली वाले परिवारों के लिए अंतराल अवरोध,अंतिम छोर तक बिजली और बिजली कनेक्शन जारी करने के मुद्दों को सुलझाने के लिए सौभाग्य योजना को शुरू किया गया है। व्यावसायिक (ग्रामीण) (0-100 यूनिट)  2.20  5.25 उन्होंने बताया कि आवेदक इस योजना की अधिसूचना की तिथि से 15 अगस्त, 2015 तक की अवधि की प्रतिपूर्ति के लिए इस योजना की अधिसूचना जारी होने की तिथि से छ: महीनों के भीतर दावा आवेदन जमा करा सकते हैं। हालांकि, आवेदक को वित्तीय वर्ष की तिमाही समाप्त होने के बाद छ: महीनों केभीतर प्रत्येक तिमाही के लिए दावे प्रस्तुत करने होंगे। अन्यथा आवेदक की पावर टैरिफ सब्सिडी की पात्रता समाप्त हो जाएगी। किस वजह से गोलवलकर ने थपथपाई थी युवा अटल की पीठ यूएस-चीन ट्रेड वॉर की वजह से भारत जारी रख सकता है ईरान से तेल आयात आगरा में फतेहाबाद रोड स्थित गांव कुआंखेड़ा में बुधवार सुबह टोरंट के वाहन की चपेट में आने से साइकिल सवार 10 वर्षीय के अमन की मौत हो गई।  (d)   Enhanced connectivity through radio, television, mobiles, etc. उत्तम कुमार महतो 02018-07-17T12:10:12 चक्रधरपुर (पश्चिमी सिंहभूम) । श्रावण महीना के अवसर पर कराईकेला पंचायत स्थित आहारबाबा शिवालय में उरके कावरिया संघ 64 मौजा कराईकेला द्वारा बालक भोजन आयोजित किया गया। जिसमें सेकड़ों बच्चों तथा शिव भक्तों ने भगवान का प्रसाद ग्रहण किया। इस कार्यक्रम का उद्घाटन कराईकेला के मुखिया राजेन्द्र मेलगांडी  तथा हुडंगदा मुखिया विजय नाग ने की। छात्रसंघ चुनाव: कैंपस का कुरुक्षेत्र तैयार… प्रत्याशियों का इंतजार ऊधम सिंह नगर अनुमान है कि हर घरेलू उपभोक्ता के बिल में करीब 100 से 200 रुपए प्रति माह की बढ़ोतरी होनी है। यहाँ तक कि सबसे कम खपत करने वाले उपभोक्ताओं के वर्ग में भी 20 पैसे प्रति यूनिट की बढ़ोतरी कर दी गई है। दूसरे वर्ग यानी 51 से 100 यूनिट हर माह खर्च करने वालों को 35 पैसे प्रति यूनिट ज्यादा देने होंगे। 101 से 300 यूनिट तक खर्च करने वालों को बिजली 40 पैसे प्रति यूनिट महंगी पड़ेगी। 300 यूनिट से ज्यादा खपत वाले घरेलू श्रेणी में भी 20 पैसे प्रति यूनिट के दाम बढ़ाए हैं। इलेक्ट्रिक चॉइस - डलास में सस्ता बिजली इलेक्ट्रिक चॉइस - विद्युत प्रदाता चुनें इलेक्ट्रिक चॉइस - बिजली का बिल
Legal | Sitemap