सूखे से निपटने के लिये वर्षाजल सहेजें - बिजली की नई दरें मेडिकल फील्ड से जुड़े लोगों के लिए भी राहत देने वाली हैं। इस बार तय किया गया है कि सरकारी अस्पतालों को छोड़कर निजी अस्पताल व क्लीनिक के बिजली बिलों में पांच % की छूट दी जाएगी। यानी किसी अस्पताल का बिल यदि एक लाख रुपए है तो उसका पांच % यानी पांच हजार रुपए कम हो जाएंगे। प्रोजेक्ट रिव्‍यू 'तुला', 18 अगस्त: जानिए अपना आज का राशिफल New to Twitter? CARSFACTOR आसमान में झूलते हुए खाने का लुत्फ उठाइए Site Map | Legal Disclaimer | Privacy Policy | CSR Policy | Distribution प्रिंट मीडिया विज्ञापन नीति THE PROBLEM:Mickler's Landing Beach is the largest public beach in St. Johns County (SJC), Florida*, and it is in desperate need of restoration after being devastated by hurricanes and nor' easters. This… Read more 51-100        2.90        6.40     क्रिप्टोसमाचार जिले में नगर निगम बिजली विभाग का सबसे बड़ा डिफॉल्टर है। नगर निगम पर करीब 200 करोड़ रुपये का बिजली बिल बकाया है। इसमें लगभग 16 करोड़ रुपये का सरचार्ज भी शामिल है। पूरे सर्कल में सरकारी डिफॉल्टरों पर करीब 250 करोड़ रुपये बकाया हैं। इन पर करीब 25 करोड़ रुपये का सरचार्ज बनता है। इस रकम की वसूली के लिए निगम की तरफ से लगातार सरकारी विभागों को रिमाइंडर भेजे जा रहे हैं। बिजली निगम के अधिकारियों का कहना है कि अगर सभी सरकारी विभाग अपना बकाया दे देते हैं, तो इनका लगभग 25 करोड़ रुपये का सरचार्ज माफ हो जाएगा। Information Resources प्रकाशित Tue, 31, 2013 पर 19:07  |  स्रोत : CNBC-Awaaz स्त्री September 14,2017 05:01:02 PM BloombergQuint Quintype Lakhisarai Slovenčina मंत्र भजन आरती © Copyright 2017 NewsCode - All Rights Reserved. अधिक भारत की खबरें रीजनल शो 71 साल पहले ऐसे मना था देश का पहला स्‍वतंत्रता... SLING INTERNATIONAL Top colleges ranked by the prettiest girl students मैच से पहले बोले कप्तान कोहली, जीत के अलावा कोई दूसरा ऑप्शन नहीं विधानसभा में विपक्ष के नेता सुखपाल खैहरा ने बिजली दरों में लगभग 10 प्रतिशत वृद्धि की ङ्क्षनदा करते हुए इसे तुरंत वापस लेने की मांग की है। इस संबंध में अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने भी बिजली दरों में वृद्धि को तुरंत वापस लेने की मांग करते हुए कहा है कि ‘‘कांग्रेस सरकार औद्योगिक क्षेत्र को 5 रुपए प्रति यूनिट बिजली देने सहित सभी वर्गों को सस्ती बिजली देने के वायदे कर रही थी परंतु इसने उलटा बिजली दरों में वृद्धि करके लोगों से एक बार फिर धोखा किया है।’’  ग्राम Quick Rubric – Easily Make and Share Great-Looking Rubrics Best Ceiling Fans in India भारतखेलदिल्लीमूवी-मस्तीNBT ब्लॉगमुंबईजोक्सअपना ब्लॉगलखनऊटेकघर-परिवारअन्य शहरऑटोफोटो धमालदुनियाबिज़नस ETसंडे NBTराशिफलविचारNBT मोबाइलNBT ऐप [email protected] पहले               अब लोकप्रिय ख़बर पश्चिमी सिंहभूम में भाजपा को मजबूत करने के संकल्प के साथ स्वंतत्रता दिवस की बधाई Yum in: समाचार Ceiling Fans Advertise with us स्‍नेहक तेल प्रयोगशाला फोटो मज़ा मनोरंजन स्पोर्ट्स लाइफस्टाइल ट्रैवल बिज़नस एजुकेशन देश और टैक्स/निवेश समाचार इन्ट्रानेट जन समूह Moneycontrol पोल करें विदेश विंडोज एक 'अटल' प्रेम कथा: इश्क, इश्क ही रहा उसे रिश्तों का इल्जाम ना मिला... म.प्र नाबालिग से दुष्‍कर्म पर फांसी का प्रावधान करने वाला प्रथम राज्‍य -राज्यपाल, राष्‍ट्रपति पदक प्राप्‍त पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों से भेंट 16/08/2018 20 किलो सोने के आभूषण पहन गोल्डन बाबा ने की कांवड़ यात्रा, सुरक्षा में लगे... Updated: August 17, 2018 07:08 PM IST गैलरी DW.COM इस पोस्ट को शेयर करें Google+ #raipur August 2018 ईवीआरसी में गतिक प्रयोगशाला संचार First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! helo ब्यू भागलपुर अजमेर फेसबुक मसाला राज्य शासन की ओर से पिछले दिनों गरीब लोगों को २०० रुपए प्रतिमाह में बिजली देने तथा बीपीएल उपभोक्ताओं के बिल माफ करने की घोषणा की गई थी। अब इस घोषणा को लेकर बिजली कंपनी को निमयों के तहत आदेश जारी कर दिए हैं। इसमें जुलाई माह से ही दोनों योजनाओं का फायदा उपभोक्ताओं को दिया जाना है। योजना के तहत बीपीएल उपभोक्ताओं के अब तक मूल व सरचार्ज दोनों राशि माफ हो जाएगी। कंपनी के अधिकारी बता रहे हैं कि शहर में ८० हजार घरेलू कनेक्शन हैं। इसमें करीब ३५ हजार बीपीएल उपभोक्ता हैं, जिन्हें योजना का फायदा मिलेगा। फिलहाल बीपीएल के बकायादार उपभोक्ताओं की विस्तृत जानकारी कंपनी के पास नहीं है। अमूमन बीपीएल श्रेणी में ९० फीसदी उपभोक्ता पर बकाया होना बताया जा रहा है। वहीं बिल माफी में उन बीपीएल उपभोक्ताओं की चांदी भी हो जाएगी, जिन पर बिजली चोरी के प्रकरण दर्ज हैं। ऐसे उपभोक्ताओं के सारे बिल माफ हो जाएंगे। संभाग के 16 शहरों में आईपीडीएस योजना के तहत सुधार कार्य हो रहे हैं। शहडोल जिले मे धनपुरी, बुढ़ार, जयसिंह नगर, ब्यौहारी, बाणसागर टाऊन में 146.54 लाख से विद्युत सुदृढि़करण के कार्य प्रारंभ हो चुके हैं। इन सभी टाऊनों में 33/11 केवी के उपकेंद्रों की मरमम्त, क्षमता वृद्धि। 33 और 11 केवी की नई लाइनें, नई निम्न दाब की लाइने डालने के अलावा मीटर लगाने का कार्य भी चल रहा है। इसके अलावा उमरिया और अनूपपुर जिले के शहरों में भी यही कार्य शुरु हो चुके हैं। पर एक साल बीत जाने के बाद भी कार्य में उतनी गति नहीं दिख रही है। इस योजना में भी सभी शहरों में 26 करोड़ के विद्युत कार्य हो रहे हैं। Viral Suggestions सहरसा 24×7 बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए सभी घरों में कनेक्टिविटी प्रदान करना एक शर्त है। ऊर्जा प्रदान करने के मुद्दे को सुलझाने के लिए सौभाग्य योजना के एक योजनाबद्ध समर्थन है। ************************************************************************************ प्रियंका के घर जश्न का माहौल, रोका सेरेमनी के लिए पहुंचे पंडित जी # Saubhayga Yojan Of Central Government जवाब –  भारत सरकार रेडियो, प्रिंट मीडिया, टेलीविज़न, साइन बोर्ड आदि के माध्यम से प्रचार अभियान कर रही है। कनेक्शन की लागत, बिजली का उपयोग, मिट्टी के तेल के उपयोग की लागत, लाभ सहित बिजली कनेक्शन प्राप्त करने की प्रक्रिया के बारे में जागरूकता का अभाव बिजली (प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष) आदि का उपयोग विभिन्न शोध अध्ययनों में घरेलू विद्युतीकरण पर धीमी प्रगति के प्रमुख कारणों पर प्रकाश डाला जाएगा। Error establishing a database connection किसी मित्र को बताएं October 2017 यूएचवीआरएल, हैदराबाद भारत में खुला आइकिया का पहला स्टोर विद्युत संधारित्र पुस्‍तकालय एवं सूचना केंद्र सौभाग्य By Prabhat Khabar | Updated Date: Apr 1 2017 9:07AM टेस्ला के शेयर में 9% गिरावट, शॉर्ट-सेलर्स ने कमाए 7000 करोड़ रुपए; इलोन मस्क के इंटरव्यू के बाद टूटा शेयर 56 mins August, 2016 मुखिया, निचितपुर 2 पंचायत फिर भी, दोनों पक्षों से आपूर्ति काटना बंद हो रहा है, क्योंकि प्रांत ने 'कोई नई बिजली संयंत्र' नीति दोनों घोषित नहीं की है, साथ ही साथ सभी विद्यमान विद्युत संयंत्रों को प्राप्त कर लिया है। लेख के अनुसार: पशुपालन ‘आम राय’ बनाने के लिए मशहूर वाजपेयी के कार्यकाल में बगैर परेशानी के बने थे तीन नए राज्य अख्तर हाशमी एडमिशन बुलंदशहर रुद्रप्रयाग Copyright © 2018 Naidunia. ​ प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) नीतीश कुमार ने कहा कि एक सोची समझी रणनीति के तहत वर्ष 2017-18 में टैरिफ याचिका को शून्य अनुदान पर तैयार कराया गया है. इस नीतिगत निर्णय के आधार पर आयोग ने बिना अनुदान के  टैरिफ लागत का निर्धारण किया. इससे राज्य सरकार को उपभोक्तावार  अनुदान की राशि तय करने में पारदर्शिता लाने में मदद मिलेगी. साथ ही वितरण कंपनियों की टेक्निकल व कॉमर्शियल लॉस में निरंतर कमी लाने के लिए गहन माॅनीटरिंग की जा सकेगी. नये वर्ष के लिए आयोग ने टैरिफ निर्धारित करते समय पड़ोसी राज्य पश्चिम बंगाल अौर उत्तर प्रदेश के 2016-17 के टैरिफ से तुलना करते हुए राज्य के उपभोक्ताओं को दी जानेवाली सब्सिडी का निर्धारण किया है.  INFORMATION CENTRE निफ्टी 11470 के पार बंद, सेंसेक्स 284 अंक उछला Updated: Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 06, 2018, 04:45 AM IST Sitemap| अंबेडकरनगर : खड़े ट्रक से भिड़ी महाराष्ट्र के तीर्थ यात्रियों की बस, 11 घायल, तीन ट्रॉमा रेफर Gujarat News मंत्रिमंडल ने राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की चार अतिरिक्त बटालियन बनाने को मंज़ूरी दीAug 10, 2018 सरकार अगले दो सालों में देश भर में सभी घरों को रोशन करने की योजना के लिए तैयार है। सरकार देश में बिजली के बिना जीने वाले परिवारों की संख्या की पहचान करने के लिए जीपीएस जैसी तकनीक के कई मॉडल का उपयोग कर रही है। Latest News in English -घरेलू एवं गैर घरेलू उपभोक्ताओं की टेलीस्कोपिक दरें लागू रहेंगी। वॉट्सऐप, फेसबुक ग्रुप में पोस्ट हुआ भड़काऊ पोस्ट, तो ऐडमिन के खिलाफ होगी कार्रवा.. सिंह ने कहा कि जलाशयों में सौर परियोजनाएं लगाने के लिये अधिकारियों की एक टीम भाखड़ा नांगल गयी ताकि यह पता लगाया जा सके कि वहां कितनी क्षमता की परियोजनाएं लगायी जा सकती है. अपतटीय क्षेत्र में सर्वे का काम जारी है. ‘‘ इन सब उपायों से हम 2022 तक अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में लक्ष्य से अधिक 2,00,000 मेगावाट क्षमता सृजित करने की उम्मीद कर रहे हैं.’’ उल्लेखनीय है कि सरकार ने 2022 तक अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में 1,75,000 मेगावाट बिजली उत्पादन का लक्ष्य रखा है. तेलंगाना कांती वेल्गु कार्यक्रम मुफ्त आई चेक-अप योजना होरोस्कोप संरचनात्मक सामग्री परीक्षण प्रयोगशाला अपनी प्रतिक्रिया दें HOME CASH BACK ABOUT US CONTACT US परिवहन और भंडारण के लिए तापमान रेंज सीमा थानाध्यक्ष से ही अपराधियों ने मांगी पांच लाख की रंगदारी,… About Us|Investor|Contact Us|Advertise with Us|Terms of Use|Feedback|Sitemap|RSS|RSS|Cookie Policy|Privacy Policy पंजाब केसरी स्पेशल बिजली कंपनी का काम छोड़कर भागीं नौ और कंपनियां 8- एलटेल पावर प्राइवेट लिमिटेड, सतना CSC-UIDAI India Today Education आशुतोष कुमार 2011 के दौरान लेने के लिए अनुमोदित एनपीपी आंध्र प्रदेश विराट कोहली कल जहां चले बुलडोजर, आज फिर सज गया बाजार टैक्स भरने वालों की संख्या बढ़ेगी अभिलेख #रायपुर Search for: -800-1200 यूनिट मेरे पास सस्ता बिजली - शीर्ष ऊर्जा कंपनियां मेरे पास सस्ता बिजली - ऊर्जा प्रदाता मेरे पास सस्ता बिजली - इलेक्ट्रिक कंपनी प्रदाता
Legal | Sitemap